अंतर्राष्ट्रीय हिंदी ब्लाग दिवस पर विशेष छूट - भाग-1

ताऊ सद साहित्य प्रकाशन  की तरफ़ से  "अंतर्राष्ट्रीय हिंदी ब्लाग दिवस" पर आपका हार्दिक स्वागत है. इस विशेष शुभ अवसर पर TSSP द्वारा प्रकाशित पुस्तकों का द्वितीय संस्करण हम आपके लिये प्रस्तुत कर रहे हैं. आप लोगों में से अधिकतर को पिछली बार यह पुस्तके नहीं मिल पायी थी क्योंकि ये हाथोंहाथ ही बिक गयी थी. आपकी विशेष रूचि और मांग को देखते हुये ही हमने अधिक से अधिक पुस्तकों का रिप्रिंट उपलब्ध करवाने का प्रयत्न किया है फ़िर भी समयाभाव और धनाभाव में अभी सिर्फ़ 30 पुस्तके ही उपलब्ध करवा पा रहे हैं. TSSP प्रबंधन आप सबसे अनुरोध करता है कि पुस्तके खरीदने के अलावा आप अपनी जेब की हैसियत के अनुसार हमारी आर्थिक सहायता हेतु चंदा भी देना चाहें तो हमें बडी खुशी होगी. आपके चंदे से हम आगे अपनी हैसियत और बढा सकेंगे जिससे हम लगातार उन्नति करते रहेंगे. दान दाताओं को सुचित किया जाता है कि चंदा हम सिर्फ़ बिट-काईन में ही ग्रहण करते हैं इसका ख्याल रखें. 

कृपया पुस्तके हाथों हाथ खरीद लेवें  वर्ना दुबारा इनका प्रिंट जल्दी से उपलब्ध नहीं हो पायेगा.

इसके अलावा अन्य स्वनाम धन्य ब्लाग लेखकों द्वारा लिखी गई नूतन पुस्तकों की छपाई भी दिन रात चालू है और तैयार होते ही हम समीक्षा सहित उन्हें आपके लिये उपलब्ध करवायेंगे.  

हिंदी ब्लागिंग को नयी ऊर्जा देने के लिये सिर्फ़ आज के दिन हमने इन पुस्तकों पर आपको 18.99  प्रतिशत की विशेष छूट देने का निर्णय लिया है. साथ ही डाक खर्च भी हम ही वहन करेंगे. 

एक खुशी की बात और है कि हमारे विद्वान लेखक गण भी  ब्लागिंग को पुनर्जीवित करने के लिये अपनी जेब से कुर्बानी करने को तैयार हो गये हैं यानि लेखकों ने अपनी मर्जी से, बिना किसी राजनैतिक या सामाजिक दबाव के यह निर्णय लिया है कि सिर्फ़ आज के दिन बिक्री हुई किताबों पर वो आपको 9.99 प्रतिशत का विशेष डिस्काऊंट अपनी जेब से देंगे. 

तो आज के दिन खरीदी गई पुस्तकों पर आपको कुल मिलाकर 28.98 प्रतिशत का डिस्काऊंट मिल रहा है तो इसका लाभ उठाईये और शीघ्रता से अपने आर्डर दीजिये.

आज 30 में से सिर्फ़ 18 पुस्तके ही  प्रिंटिंग प्रेस से आ पाई हैं. आज शाम को या कल बाकी की 12 पुस्तके भी जल्द ही आ जायेंगी, जिन्हें आपके सामने हम आने के साथ ही प्रस्तुत करेंगे. 

निष्णांत ब्लागर्स  द्वारा लिखित पुस्तकों का मूल्य और उनका संक्षिप्त विवरण यहां दिया जा रहा है :-

01. ब्लागर भविष्य चिंतामणी : अपने आपमें अदभुत और परम  मनोहारी ग्रंथ का नाम है "ब्लागर भविष्य चिंतामणी". ब्लाग संसार की आने वाली तमाम परेशानियों का हल मय उपाय के बताया गया है. आपको इस क्षेत्र की ऐसी अनोखी पुस्तक कहीं नही मिलेगी. सभी को भविष्य जानने की जिज्ञासा होती है. इस ग्रंथ में ब्लागिंग के पतन की भविष्यवाणी पहले ही कर दी गई थी जो बिल्कुल सच निकली. अब आगे  ब्लाग का भविष्य क्या रहेगा? इसकी भी सटीक भविष्यवाणियां इसमें की गई हैं. आप इस ग्रंथ का अध्ययन मनन करके एक सफ़ल भविष्य वक्ता भी बन सकते हैं. यह भूत, भविष्य और वर्तमान यानि तीनों कालों की जिज्ञासा शांत करने वाला अदभुत ग्रंथ है. इस पुस्तक की एक और विशेषता है कि यह सिर्फ़ तीनों कालों की भविष्यवाणी ही नही करती बल्कि उनके सफ़ल  उपाय इलाज टोने टोटके सहित बताती है. विद्वान लेखिका ने   पुस्तक में समस्त ब्लाग पूजा मंत्रों का सार व उपाय बताते हुये इसे बहुत ही सरल सुगम्य बना दिया है. आज ही तुरंत आर्डर करें, एक बार चूके कि फ़िर मौका नहीं मिलेगा.

कीमत : 4,755/- मात्र
*****

  02. जूतम-पैजारियता पुराण : इस पुराण का पाठ करने से आप स्वयं सद्गति को प्राप्त कर सकते हैं और दूसरों को घर बैठे ही  जूते मारने  में माहिर हो सकेंगे. इस पुराण ग्रंथ का इतना बडा महात्यम है कि कोई भी ब्लागर  बिना मोडरेशन के अपने ब्लाग को नही छोड सकता और सपने में  भी उसे जूते दिखाई देने लगते हैं.  सटीक व्यंग और  इस परम मोक्षदायक पुराण को अवश्य मंगवाये इसके पठन पाठन से आपके भय ताप दूर होकर मन चाही मुराद मिलेगी. महाराज बाबाश्री की आप पर कृपा बनी रहने की गारंटी दी जाती है. लेखक ताऊ डाट इन द्वारा आयोजित  विशेष   "ब्लेक बूट एवार्ड ट्राफ़ी" आफ़ ब्लागर जूतमपैजारियता - 2011 के भी  विजेता रहे हैं. लेखक ने स्वयं इस पुराण के समस्त मंत्रों की अभीष्ट सिद्धियां प्राप्त की हुई हैं.   सीमित प्रतियां ही स्टाक में उपलब्ध हैं.





कीमत : 3299/- मात्र
                                                                                *****



03. ब्लाग पोस्टोपनिषद :  महान ब्लागर शिरोमणी खुरपेंचिया द्वारा 420 BC रचित इस ग्रंथ को विद्वान लेखिका ने अपने सुक्ष्म ज्ञान से, इस ग्रंथ के सारे भेद जन सामान्य के लिये खोल कर रख दिये है. इस उपनिषद के नित्य पाठ किये बगैर कोई भी ब्लागर यदि ब्लागिंग करता है तो पाप का भागी होकर अपना जीवन खराब करता है और फ़ेसबुक जैसे अन्य मिडिया पर अपना समय खराब करता है. अत: तुरंत यह परम पवित्र पुस्तक खरीद कर नित्य पाठ करें और अपने ब्लागिंग जीवन को धन्य कर एडसेंस लगाकर धन प्राप्ति का मार्ग सुनिश्चित करें. इस पुस्तक को  पास रखने मात्र से  समस्त ब्लाग पाप दूर होकर आप परम मोक्ष के अधिकारी बनेंगे, इस बात की ग्यारंटी दी जाती है. इस पुस्तक का प्रकाशन सीमित मात्रा में ही हुआ है, तुरंत खरीदें.


कीमत :  3,455/- मात्र
*****

04. त्वं किं करोति ब्लागर: - महाराज खुरपेचिया विरचित यह ग्रंथ पहली बार इस रूप में आपके सामने है. विद्वान लेखिका ने अथक खोज बीन के बाद खुरपेचिया महाराज के ग्रंथ की बारीकियां समझायी है. खुरपेचियां महाराज ने भूतकाल में ही यह भविष्यवाणी कर दी थी कि ब्लागिंग का पतन होकर एक जुकरू बाबा आयेंगे जो सभी ब्लागरों को बहका कर टाईम खोटी करवाने वाले रास्ते पर धकेल देंगे. महाराज शिरोमणी ने इसी स्थिति के लिये इस ग्रंथ की रचना की थी कि ब्लागर के क्या कर्तव्य हैं? ब्लागिंग कैसे करनी चाहिये? और पतन काल में जपने वाले मंत्रों  इत्यादि समस्त बातों सहित और उनके उपाय इस अनुपम ग्रंथ में लिखे थे किंतु खुरपेचियां महाराज की वैदिक काल की भाषा को समझना आम जन के बाहर है. विद्वान लेखिका ने काफ़ी शोध के उपरांत अपनी दिव्य दृष्टि से इस अनुपम ग्रंथ को सहज भाषा में लिखा है.  इस पुस्तक की कुछेक प्रतियां ही शेष हैं. यदि आप इसे खरीदने से चूक गये तो आपका यह ब्लागर जन्म तो व्यर्थ ही समझिये. अत: तुरंत आर्डर करके अपने जन्म को सार्थक किजिये. इस पुस्तक के नित्य पाठ करने से समस्त  ब्लाग दोषों की शांति होने की ग्यारंटी दी जाती है.

कीमत :  3,655/- मात्र
*****

05. ब्लागर सम्मोहन गुटिका एवम टोटके : कोई आपको परेशान करता हो, आपकी बात ना मानता हों उससे छुटकारे का उपाय आपको इस पुस्तक में मिलेगा. वर्तमान काल में जबकि ब्लाग जगत में सन्नाटा छाया हुआ है, ऐसे समय में अपने ब्लाग पर चहल पहल बनाये रखने और टिप्पणियों की फ़सल उगाने में यह अनुपम ग्रंथ अत्यंत सहायक सिद्ध होगा. इस विषय की शानदार पुस्तक है. स्ट्रिंग आपरेशन के एक से एक नायाब मंत्र और टोटके उपाय सहित  बताये गये हैं. साथ ही उन स्थानों के नाम पते भी दिये गये हैं जहां से आप स्टिंग आपरेशन में काम आने वाले स्पाई कैमरे आदि सामान खरीद सकें. अनामी, बेनामी और सुनामी लाने या उनसे बचने के अचूक मंत्र टोटकों सहित इस अद्वितीय पुस्तक का कोई तोड नहीं है.   अति उपयोगी पुस्तक. आज ही आर्डर करें. और निराश होने से बचें.


कीमत 2999/- मात्र
*****


06. ब्लाग भैरव टिप्पणी पूर्ति गुटिका:  एक ऐसी पुस्तक, जिसका हर ब्लागर को बेसब्री से इंतजार रहा है. इस पुस्तक की जितनी तारीफ़ की जाये वह कम पडेगी. इस पावन ग्रंथ के पठन पाठन से आपकी सभी तरह की टिप्पणी समस्या दूर होती है, जिनका की आजकल अकाल पडा हुआ है. आपकी ब्लाग पोस्ट पाठकों और  टिप्पणियों से महक उठेगी. इस पुस्तक में दिये गये अति प्राचीन मंत्रों को सिद्ध कर लेने के बाद आप बिना लेपटोप, बिना  नेट कनेक्शन के भी सिर्फ़ अपने मनोबल द्वारा किसी भी ब्लाग पर अपनी मनचाही  टिप्पणी कर सकते हैं. यह पुरातन मंत्रों की अनुपम गुटिका है जिसे आप तुरंत प्राप्त करना चाहेंगे.  सभी टिप्पणी मंत्रों को सिद्ध करने की सरल विधी इसी ग्रंथ मे दी गई है. इस पुस्तक के अंदर ही आपको ब्लाग भैरव देवता का चित्र भी मिलेगा, जिसके सामने बैठकर आपको मंत्र सिद्ध करने हैं.  मंत्रो को सिद्ध करने के लिये  पूजा पाठ एवम अन्य सामग्री आप निर्धारित मूल्य पर ताऊ प्रकाशन के आफ़िस से प्राप्त कर सकते हैं. अत्यंत ही सीमित स्टाक उपलब्ध है. इस अवसर को हाथ से जाने मत दिजिये. ऐसे मौके बार बार नही आते. तुरंत आर्डर करें.   

लेखिका :  डा. अनिता ललित
कीमत :  3,350/- मात्र
*****



07. ब्लाग बकरे बक बक रे :  मौज लेने वाली विधा का यह एक  अदभुत और अनुपम  ग्रंथ हैं जो सिद्ध तंत्र मंत्र की कलाओं से भरा पडा है, आसान विधी से सिद्ध होने वाले मंत्रों और विधियों सहित अन्यत्र अप्राप्य दुर्लभ ग्रंथ, जो सिर्फ़ हमारे यहीं पर उपलब्ध है.  ब्लाग बकरे कैसे मौज लेते हैं?  कैसे आप बकरे को बकरा बनाकर खुद का भला करना चाहते हैं पर विधि गलत हुई तो आप स्वयं बकरा बन सकते हैं. स्वयं बकरा बनने से बचने के लिये ही यह अनुपम ग्रंथ लिखा गया है.  यह आप इस अनुपम ग्रंथ को पढकर ही जान पायेंगे. बिना मौज लिये ब्लागर का जीवन बेकार बकरे जैसा है,  जिसे कोई भी हलाल कर सकता है.  अपना समय और जीवन व्यर्थ मत जाने दिजीये.  इस पुस्तक की रचना विशेष  रूप से आपको बकरा बनने से बचने को  ध्यान में रख कर ही की गई है. यह ग्रंथ अपने आपमें एक नायाब खजाना है जो आपकी जबान को बक बक करने की आदत से निजात दिलाकर आपको मौज लेने  में प्रवीण बनाती है. यदि आप मौज का मतलब  समझना चाहते है, मौज मौज में लिखना चाहते  है  या फ़िर किसी की मौज लेना चाहते  है तो यह अनुपम ग्रंथ आपके लिये ही है. शीघ्रता किजीये, सीमित मात्रा में ही स्टाक बचा है. तुरंत आर्डर करें. 

कीमत :  3,955/- मात्रं के सात
*****



08. चिठ्ठा रोगों का शर्तिया खानदानी इलाज : विद्वान लेखक ने अपने दिव्य नेत्रों से ब्लाग रोगों को बहुत समय पहले ही भांप लिया था. अपने दयालु स्वभाव के कारण लेखक नें महाभारत कालीन अनुपम और क्लिष्ट ग्रंथों का अध्ययन करके यह अनुपम ग्रंथ लिखा है.  अपने विषय की सर्वोत्तम पुस्तक है. बिल्कुल सहज और सरल भाषा में लिखी गई है. ब्लाग रोगो के साथ ही साथ आप अपनी शारीरिक दुर्बलता को भी दूर कर सकते हैं. लेखक स्वयं इस समय 60 साल की उम्र पार कर चुके हैं पर इन्हीं दुर्लभ फ़ार्मुलों के सेवन से वो अभी सिर्फ़ 25 साल के दिखाई देते हैं. चिठ्ठा रोगों के अलावा भी हर बीमारी का  अचूक इलाज आपको इस ग्रंथ में मिलेगा. ग्रंथ में बताये गये सभी नुस्खे लेखक के स्वयं के आजमाये हुये हैं. यहां लेखक के बारे में कुछ भी कहना गधे के सर पर सींग रखना है. लेखक एक सफ़ल ब्लाग चिकित्सक  और अनंत काल के अनुभवी हैं. तुरंत इस ग्रंथ को खरीद कर अपना जीवन सुखमय बनायें.



कीमत : 3899/- मात्र
*****
      
09. ब्लाग हितकारी पुराण : यह नितांत परम मनोहर परम पुनीत पुराण है जो कि विषय के ज्ञाता विद्वान द्वारा लिखा गया है. लेखक का संबंध भी सतयुग से है और बातों को गोल गोल घुमाने के बजाये बहुत ही नपे तुले शब्दों में समझाया गया है. आप इस पुराण में दिये गये तंत्र मंत्रों से सभी तरह की इच्छाएं पूर्ण करने में सफ़ल रहेंगे. इस पुराण के नियमित पठन से आपको मठाधीष बनने से स्वयं लेखक भी नहीं रोक पायेगा. साथ ही  इस पुराण के पठन पाठन से समस्त अनामी, बेनामी, सुनामी और झांसी की रानी के कहर से आपकी सुरक्षा होगी और आप सुखपूर्वक ब्लागिंग करके अपना जीवन धन्य करते रहेंगे. साथ ही  कुमारी सुर्पणखां की आप पर अनंत कृपा हो सकती है जो कि सब जगह आपकी रक्षार्थ तैयार खडी मिलेगी. तुरंत खरीद कर  ट्राई करें. बहुत ही सीमित मात्रा में उपलब्ध है. ज्यादातर स्टाक लाईब्रेरीज के लिये बुक हो चुका है, आखिरी कुछ प्रतियां ही शेष बची हैं.



कीमत : 3799/- मात्र
                                                                               *****

10.  ब्लागिंग मे खोई ताकत  वापस प्राप्त करें : यह पुस्तक सभी ब्लागर्स के लिये रामबाण सिद्ध होगी जो रीत कर रीतिकालीन हो चुके हैं. और चारों तरफ़ से अपनी गल्तियों की वजह से निराश हो चुके हैं. जिनकी जोशे जवानी लुट चुकी है और निराश होकर हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं या फ़ेसबुक पर चटर पटर करते रहते हैं. लेखक  अपने क्षेत्र के विशिष्ट और  ख्याति प्राप्त   माडल है और लोगों में नया जोश और जवानी भरने में माहिर है. इस पुस्तक के फ़ार्मुले  शौकीन और  तंदुरुस्त लोग भी ट्राई कर सकते हैं, उनमें भी नया जोश नई जवानी भर जायेगी. लेखक के   नुस्खे आपको भी सारे खुरपेंच दांव सिखा कर   ब्लागिंग में आसमान दिखा देंगे. दिन में तारे दिखने की गारंटी ली जाती है. विश्व की सभी लाईब्रेरीज से इस ग्रंथ के लिये बहुत ही बडी मात्रा में आर्डर आये हैं. आज जबकि आन लाईन धन कमाने के कई रास्ते खुल चुके हैं तब आप इस ग्रंथ के फ़ार्मुले आजमाकर अपने आपको चुस्त दुरूस्त करके इस रास्ते पर चल पडिये.   आप भी तुरंत आर्डर कर इस ग्रंथ को झपट लें वर्ना बाद में पछतायेंगे और ये कहेंगे कि ताऊ ने अपने अपनों को रेवडियां बांट दी. अत्यंत ही सीमित स्टाक उपलब्ध है.
लेखक द्वारा नवीनतम ग्रंथ "पढिये मेरी किताब" लगभग छपकर तैयार है जो एक दो दिन में समीक्षा सहित आपको उपलब्ध करवाई जायेगी.



कीमत : 3299/- मात्र
                                                                              *****

11. ब्लाग मठ प्रदीपिका : खुरपेचिया रचित यह ग्रंथ ब्लाग संसार में अनोखा है.ब्लागर शिरोमणी खुरपेचिया द्वारा इस पुस्तक की रचना 420 BC में मूलत: ब्राह्मी भाषा में की गई थी. इस ग्रंथ के कुछ पन्ने फ़टी हालत में इधर उधर बिखरे पडे थे. इसके कुछ पन्ने तो भानगढ में गब्बरसिंह को मिले थे. लेखक ने गब्बर सिंह से यह पन्ने कैसे हासिल किये थे? इसका खुलासा भी लेखक ने इस पुस्तक में किया है. अत्यंत क्लिष्ट भाषा होने के बावजूद भी लेखक ने अपनी दिव्य दॄष्टि और भाषा ज्ञान के बल पर हूबहू इसे मूल ग्रंथ से अनुवाद किया है, यह कोई सरल बात नही है कि कोई विलुप्त हो चुके भाषा ग्रंथ को  ब्लागरी भाषा में समझा सके.  वर्तमान में विद्वान लेखक ही एक मात्र ब्राह्मी भाषा के जानकार है इस विश्व में. उनके अथक परिश्रम से  ही इस महान ब्लाग ग्रंथ का प्रकाशन हो पाया है. प्रकाशक लेखक के इस महान कृत्य के लिये उन्हें धन्यवाद देते हैं.  इस पुस्तक में ब्लाग मारण, ब्लाग तारण, ब्लाग उच्चाटन व ब्लाग सम्मोहन जैसी उच्च क्वालिटी की बाते साधारण भाषा में समझायी गई हैं.  यदि किसी ब्लागर ने इस ग्रंथ को नही पढा तो ब्लागिंग के असली तत्व से महरूम ही रहेगा. तुरंत आर्डर भेंजे. कुछ प्रतियां ही शेष बची हैं.


                                             खुरपेचिया विरचित  मूल ग्रंथ  "भाषा टीका सहित"
                                                               लेखक : अनुराग शर्मा
                                                                कीमत : 5999/- मात्र
                                                                              *****

12. ब्लाग-राग प्रदीपिका : इस पुस्तक को पढना आपके लिये अति परम मोक्ष दायक है. ब्लागिंग में किस तरह के राग यानि झगडे हैं ? उन झगडों से कैसे पार पाया जाय? शाम्ति और सकून से ब्लागिंग कैसे की जाये? ऐसे अद्भुत रहस्यों को विद्वान लेखिका ने अत्यंत सरल भाषा में आपके समक्ष प्रस्तुत किया है. इन सभी रहस्यों को आप इस पुस्तक को पढकर ही जान पायेंगे. इस पुस्तक को कंठस्थ करके आप नित्य पाठ करेंगे तो आप किसी भी ब्लाग झगडे, ऊपरी हवा या बाधा  में नही फ़ंसेंगे. सभी संभावित स्थितियों की तथ्यात्मक व्याख्या और उनके उपाय सरल टोटकों के रूप में दिये गये हैं. अति जरूरी और घर में संग्रहणीय पुस्तक. अति शीघ्र खरीदें, स्टाक बहुत कम है.



कीमत : 3,755/- मात्र
*****

13. राग ब्लाग भैरवी : (भाग -1)  यह एक  अति परम कल्याण कारी ग्रंथ है जिसके पठन पाठन से ब्लाग में आप भैरवी बजाना सीख सकेंगे. यह ब्लाग संगीत की विलुप्त विधा है जो विद्वान लेखिका ने वर्षों के शोध और अपने अथक प्रयत्नों से आपके लिये उपलब्ध कराया है. विद्वान लेखिका ने अति गहन शोध और ध्यान की गहराईयों में उतर कर इस अति अनुपम और कल्याणकारी ग्रंथ की रचना की है. इस ग्रंथ का इतना प्रभाव है कि यह ग्रंथ आपके पूजा घर में अवश्य होना चाहिये. इस ग्रंथ के आपके घर में विद्यमान रहते आपके यहां परम सुख शांति की अनुभुति होती रहेगी. आपके ब्लाग पर चल पहल और टिप्पणी धन में निरंतर वृद्धि होती रहने की ग्यारंटी दी जाती है. पुस्तक की लाईब्रेरीज में बहुत ही अधिक डिमांड होने से अब  सीमित प्रतियां ही शेष रह गई हैं. शीघ्र मंगवाये वर्ना पछताना पड सकता है.   

कीमत : 2,855/-
*****

14. ब्लॉग सुन्दरी कैसे बने? -ऊँटनी और गधी के दूध सहित सौ नुस्खे : यह पुस्तक ब्लागिंग के शौकीनों के लिये एक अद्भुत उपहार है. आज जब्कि ब्लागिंग मरणासन्न हो चुकी है और इसका स्पष्ट प्रभाव आपके मन मष्तिष्क और शरीर पर स्पष्ट नजर आरहा है, ऐसे समय में इस पुस्तक की सहायता से आप ब्लागिंग के पुनरोद्धार के बाद तक  यानि चिरकाल तक सुंदर और युवा बने रह सकते हैं. इसमें बताये गये फ़ार्मुलों को आजमाकर आप देह की सुंदरता के अलावा पुरूष होते हुये भी एक सुंदर कमनीय नारी के रूप में ब्लागिंग कर सकते हैं यानि पुरूश होकर भी नारी रूप में सफ़लता से ख्याति प्राप्त कर सकते हैं. आज फ़ेसबुक पर जिन सुंदर सुंदर बालाओं (वास्तव में पुरूष) के प्रोफ़ाईल पर आप हजारों कमेंट देखते हैं उन सबने इसी पुस्तक के अध्ययन के बाद यह ख्याति प्राप्त की है. लेखक इस बात की कोचिंग भी करते हैं जहां आप उनसे रूबरू ट्रेनिंग भी प्राप्त कर सकते हैं. लेखक के कार्यस्थल और संपर्क का सारा विवरण आपको इस पुस्तक में मिलेगा. लेखक के  महाभारत कालीन अनुभवों द्वारा यह अद्भुत फ़ार्मुले परीक्षित हैं और लेखक स्वयं इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है. लेखक ग्रीक और रोमन  सौंदर्य शाश्त्र के परम ज्ञाता हैं. ग्रीक और रोमन सुंदरियों को सौंदर्य निखारने और बनाये रखने की विशेष ट्रेनिंग देने का लेकहक को विशेष अनुभव है. लेखक के बारे में ज्यादा कुछ कहना गधे के सर पर सींग लगाने जैसा है. आप तो इस बात से समझ लीजिये कि लेखक क्लियोपेट्रा के विशेष सौंदर्य सलाहकार रहे हैं और उसे गधी के दुग्ध स्नान की राय लेखक द्वारा ही दी गई थी. आपकी  अनेकों पुस्तके प्रकाशित हो चुकी हैं और लेखक आजकल "प्रेम के  स्वयं परीक्षित नुस्खे" नामक कृष्ण कालीन ग्रंथ की रचना में मशगूल हैं जिसे बहुत जल्दी ही TSSP द्वारा आपकी सेवा में उपलब्ध करवाया जायेगा. ब्लाग सुंदरी कैसे बनें? ग्रंथ की सीमित प्रतियां ही शेष बची हैं. शीघ्रता किजिये कहीं पछताना ना पडे.



कीमत : 4499/- मात्र
*****



15. सफ़ेद पोश ब्लागर बनिये : इससे बेहतरीन किताब आज तक इस विषय पर लिखी ही नही गई. आप भले ही फ़टीचर हों...बल्कि कालेपोश हों और निपट गंवार हों..तब भी आपने अगर यह पुस्तक पढ ली तो समझ लिजिये कि आप ब्लाग सोसायटी के हीरों हो जायेंगे....सब आप पर जान देंगे और खासकर तो वो..जिंन्हे आप अपने ग्रूप में शामिल करना चाहते थे और आज तक सफ़ल नही हो सके थे. इस पुस्तक के अध्ययन से आप नैतिक अनैतिक शब्दों की घाल घुसेड करने में माहिर हो सकेंगे और कोई आप पर अंगुली भी नहीं उठा सकेगा... पुस्तक खरीदते ही आप काले से सफ़ेदपोश ब्लागर बन जायेंगे...अंग्रेजी और उर्दू शब्दों सहित घाल घूसेडू ब्लागर बनने के अचूक फ़ार्मुलों सहित एक संपूर्ण पुस्तक.....लेखक की यह सबसे ज्यादा बिकने वाली पुस्तक है. शीघ्रता कीजिये, सीमित प्रतियां ही शेष बची हैं. लेखक अभी अभी पंजाब के गांव में तीन चार महिने डेरा डालकर अपनी नवीन पुस्तक "तेरे पीछे ना आऊंगा सोणिये" को पूर्ण करके लौटे हैं. यह पुस्तक भी अति शीघ्र TSSP द्वारा प्रकाशित की जाने वाली है.


कीमत 3199/- मात्र
                                                                               *****

16. ब्लागर खडा बाजार में : (ब्लाग तत्व निरूपण प्रदीपिका) एक अति महत्वपूर्ण पुस्तक है जिसे पढकर ही आप जान पायेंगे कि ब्लाग में सन्नाटे के बावजूद भी  ब्लागर बीच बाजार कैसे खडा हो सकता है? क्योंकि ब्लागर ने तो घर में  कंप्य़ूटर पर ब्लागिंग के बजाये फ़ेसबुक ट्विटर पर  खिटपिट शुरू कर दी है. यदि आपने यह पुस्तक नही पढी तो आप ब्लागिंग के असली तत्व से महरूम रह सकते हैं जो कि आपके मोक्ष में बाधक बन जायेगा. जीने की कला और सफ़ल  ब्लागिंग का सामंजस्य कैसे बिठायें? यह पढिये इस पुस्तक में. इस पुस्तक के दैनिक श्रवण मनन से सारे भय ताप दूर हो जाने की ग्यारंटी दी जाती है. शीघ्रता करें...मात्र कुछ प्रतियां ही शेष बची हैं. 



कीमत : 2,755/- मात्र
*****
17. ब्लाग टिप्पणी उपनिषद : महाराज खुरपेचिया विरचित इस पुरातन ग्रंथ को बहुत ही सहज और सुगम्य भाषा में विद्वान लेखिका ने लिखा है. टिप्पणी तंत्र की प्रत्येक यानि कोई ऐसी विधा नही है जो इस अनुपम और परम पावन ग्रंथ में ना समेटी गई हो. यों तो खुरपेंचिया महाराज द्वारा विरचित अनेकों ग्रंथों पर  विभिन्न विद्वानों ने समय समय पर  अपने अपने विवेक अनुसार टीका लिखी है लेकिन यह पुस्तक विशेष सार रूप में लिखी गई है इसी वजह से इसका नाम भी "ब्लाग टिप्पणी उपनिषद" रखा गया है. टिप्पणियों के गहन  मूल्यांकन से लेकर उनके विविध प्रकार व धाराओं पर अथक खोज बीन के बाद यह ग्रंथ इस रूप में आपके सामने प्रस्तुत किया गया है. जो कोई भक्त इस परम पावन उपनिषद का सुबह शाम पठन पाठन और श्रवण मनन करेगा उसकी समस्त टिप्पणी विषयक एवम सांसारिक बाधायें दूर होने की ग्यारंटी दी जाती है. सीमित मात्रा में उपलब्ध, शीघ्रता पूर्वक अपना आर्डर बुक करें. 


लेखिका : डा. श्रीमती अजीत गुप्ता
कीमत : 4,155/- मात्र
*****


18. श्री ब्लाग - भारत पुराण : यह पुस्तक अपने आप में एक अनुपम ग्रंथ हैं. खुरपेंचिया महाराज विरचित सूत्रों को समझना जन साधारण के वश की बात नही है. खुरपेचियां महाराज के उलझे सूत्रों को सुलझाते हुये विद्वान लेखिका ने दिव्य दृष्टि पूर्वक  इस पुराण को बहुत ही सहज और जन भाषा में लिखा है जिसके लिये वो बधाई की पात्र हैं. यह पुराण पाषाणयुगीन ब्लाग यात्रा से आधुनिक सन्नाटाकालीन ब्लाग यात्रा  तक का एक अदभुत समन्वय करते हुये  आपको सीधे शिखर की ऊंचाईयों का बोध करवाता है.  अभी तक तो आपने  महाराज खुरपेचिया का सिर्फ़  नाम भर  ही सुना होगा लेकिन  इस ग्रंथ द्वारा आप उनकी आत्मा से सीधे संवाद स्थापित करने में सक्षम हो सकेंगे.  ब्लाग पुराण का एक एक अध्याय कल्याणमय है. इस पुराण के पठन पाठन और मनन श्रवण से समस्त भय बाधा विकार पीडा दूर होकर ब्लागोन्नति के वापस  शिखर पर पहुंचने की पक्की ग्यारंटी दी जाती है.  शीघ्रता करें वर्ना इस परम पावन ग्रंथ से आपको वंचित होना पड सकता है. मात्र कुछ ही प्रतियां उपलब्ध हैं.


लेखिका : डा. रश्मि रविजा
कीमत : 3,355/- मात्र
*****

आज की सभी किताबों का संपूर्ण सेट एक साथ खरीदने वाले भक्तों को बाबाश्री ताऊ महाराज  विशेष दर्शन देकर आने वाली पूर्णमासी पर  एक विशेष साधना करवायेंगे जिससे आपके समस्त कष्ट दूर भी होंगे और फ़ेसबुक एडिक्शन से मुक्ति भी मिलेगी साथ ही  धन धान्य की विशेष प्राप्ति होने की ग्यारंटी दी जाती है.
 

 ॐ हास्यम हास्यम हास्यम.


ॐ ब्लागदेवताभ्यो नम:
अनामी नम:
बेनामी नम:
मारीचाय नम:
सूर्पनखाए नम:
सर्व अलाने-फलाने देवताभ्यो नम:
ॐ........सर्वे भवन्तु  सुखिनां विनोदप्रियां

तमसोर्मां हास्यगमय

ॐ हास्यम हास्यम हास्यम.

ताऊ सद साहित्य की पुस्तकें खरीदने के पहले यह डिस्कलेमर आवश्यक रूप से पढें.

डिस्क्लेमर :  
*डिस्काऊंट सिर्फ़ और सिर्फ़ आज के लिये ही मिलेगा.
*हमारी कोई ब्रांच नही है.
*पुस्तके संपूर्ण अग्रिम पर ही भेजी जाती हैं.
*आपका आर्डर और धन आने के बाद यदि स्टाक नही बचा तो किसी भी रूप में धन वापसी नही होगी.  भविष्य में जब कभी भी पुस्तक रिप्रिंट होगी तब भेजी जायेगी.
*इन पुस्तकों को किसी भी रुप मे कापी करने की सख्त मनाही है.
*बिका हुआ माल किसी भी कीमत पर वापस नही होगा.
*इन पुस्तकों में दिये गये फ़ार्मुले अपनी रिस्क पर ट्राई करें,  प्रकाशक या लेखक इसके लिये जिम्मेदार नही होंगे.

*यह पोस्ट शुद्ध मनोरंजन के लिये लिखी गई है. कोई भी सज्जन दिल-दिमाग, कलेजे-जिगर पर ना ले  क्योंकि आजकल  बरसात का सीजन है. ताऊ प्रकाशन की पुस्तकों  को  पढने की वजह से कोई बीमार पड गया तो  हमारी किसी भी तरह की कॊई जिम्मेदारी नही होगी. 

*ह पोस्ट किसी को किसी भी रूप मे छोटा या बडा  दिखाने के लिये नही लिखी गई है सिर्फ़ मनोरंजन,  मनोरंजन और सिर्फ़ मनोरंजन के लिये लिखी गई है. फ़िर भी किसी को ऐतराज हो तो उसका नाम हटा दिया जायेगा.

#हिन्दी_ब्लॉगिंग

Comments

  1. बोलो ताऊ महाराज जी की जय,

    ReplyDelete
  2. ॐ ब्लागदेवताभ्यो नम:
    अनामी नम:
    बेनामी नम:
    मारीचाय नम:
    सूर्पनखाए नम:
    सर्व अलाने-फलाने देवताभ्यो नम:
    ॐ........सर्वे भवन्तु सुखिनां विनोदप्रियां
    तमसोर्मां हास्यगमय

    ॐ हास्यम हास्यम हास्यम.

    ReplyDelete
  3. एक एक किताब हमने भेज दियो ताऊ। किताब मिलते ही बिल का पेमेंट ऑनलाईन कर दिया जाएगा। अपना भीम है ना।

    ReplyDelete
    Replies
    1. पेमेंट की कोई बात नही है आपकी किताभ का भी रिप्रिंट हो गया है उसकी रायल्टी में एडजस्ट कर लेंगे.:)
      रामराम

      Delete
  4. वाह एक से बढकर एक! सारी किताबो को मेरे नाम से बुक कर ले सारी किताबों को खरीदने पर अतिरिक्त 25% छूट दी जाये

    ReplyDelete
  5. अपनी किताबें न देखकर हैरान हूँ , तो इस हैरानी में ये सारी पुस्तकें फ्री मिलनी चाहिए मुझे ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपकी किताब प्रिंट हो गयी है बस जिल्द होकर एक दो दिन में आ ही रही है.:)
      रामराम

      Delete
  6. ताऊ ऐसे ऐसे बेस्टसेलर्स नगीने चुन कर लाया है कि चेतन भगत जैसों का भुट्टे भुनना अब तय है...

    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
    Replies
    1. ताऊ सद साहित्य ऐरे गैरों की किताबे नही छापता सिर्फ़ जन कल्याण कारी साहित्य ही छापता है:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०५३

      Delete
  7. हिन्दी दिवस पर आपको बहुत-बहुत बधाई।
    मेरी तो पहुण्छ भी गयी1

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार जी आपका.
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०५४

      Delete
  8. आज ही GST की घंटी महामहिम ने बजाई है,
    बस इतना ही पूछना था,कीमत GST सहित है,
    या अन्यथा।

    ReplyDelete
    Replies
    1. सभी कीमतें जीएस्टी सहित हैं:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०५५

      Delete
  9. आज ही GST की घंटी महामहिम ने बजाई है,
    बस इतना ही पूछना था,कीमत GST सहित है,
    या अन्यथा।

    ReplyDelete
  10. बहुत आभार आपका ऐसा सद साहित्य प्रकाशित करने के लिए ,नामी लेखकों की पुरानी पुस्तकें हैं मेरे पास नई मिली अच्छा लगा, नई पुस्तकों का इन्तजार है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. नये लेकह्कों की नई किताबे छप चुकी सिर्फ़ जिल्द बंदी का काम बाकी है जो जल्द ही जायेगा.
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०५६

      Delete
  11. जबरदस्त मेहनत वाला प्रकाशक है भई ताऊ तो...पालने में पैर मय सोने की पैजनिया के साथ नजर आ रहे है...गज़ब...ताऊ....जिओ!!

    अंतरराष्ट्रीय हिन्दी ब्लॉग दिवस पर आपका योगदान सराहनीय है. हम आपका अभिनन्दन करते हैं. हिन्दी ब्लॉग जगत आबाद रहे. अन्नत शुभकामनायें. नियमित लिखें. साधुवाद
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार, हमारे प्रकाशन की नई किताब " पढिये मेरी किताब" भी शीघ्र ही भाषा टीका सहित आ रही है.:)

      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०५७

      Delete
  12. ताऊ हम तो सारी बुकिंग कर लेंगे फिर बलेक में बेचेंगे ... दूगने दाम मिलने वाले हैं ... सभी चोखे लिक्खड हैं ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. हां ताऊ सद साहित्य की किताबें ब्लेक में इस लिये बिक जाती है क्योंकि आने के पहले ही हाथों हाथ बिक जाती हैं.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०५८

      Delete
  13. .
    .
    .
    अट्ठारह की अट्ठारह आर्डर कर दी हैं, आगे और छपते रहिये।
    राम राम ताऊ।


    ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. आर्डर मिलते ही डिस्पेच कर दी जायेंगी सर.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०५९

      Delete
  14. चरण कमल बन्दऊ तव ताऊ

    ReplyDelete
    Replies
    1. बण्दऊ से कैसे काम चलेगा? आपकी नई पुस्तक छाप रहे हैं "प्रेम के स्वयं परीक्षित नुस्खे", इसके लिये कागज खरीदना है जरा रकम भिजवाईये.:)

      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६०

      Delete
  15. ताऊ महाराज जी की जय हो! हिंदी ब्लॉगिंग के बेताज बादशाह तो आप प्रारम्भ से ही थे। अब इन दुर्लभ पुस्तकों का प्रकाशन करके आपने सोते हुए ब्लॉगर को जो जगाया है, वह उपकार #हिंदी_ब्लॉगिंग के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में लिखा जायेगा। जय हिंद, जय हिंदी, जय ताऊ!

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार अनुज.
      ताऊ प्रकाशन तो दुर्लभ ग्रंथों का ही प्रकाशन करता आया है.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६१

      Delete
  16. ताऊजी मेरे लिए बुक कर दो इनमें से जो भी स्टॉक में उपलब्ध है।

    हैपी ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
    Replies
    1. स्टाक तो आते ही बुक होगया पर हमने आपको एक एक प्रति समीक्षा के लिये भिजवादी है कृपया जल्दी समीक्षा लिखकर भेजें.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६२

      Delete
  17. सभी एक से बढ़कर एक .... कीमत थोड़ी ज्यादा लग रही वैसे :) पर लिखने वाले भी कमाल के हैं, ब्लॉग्गिंग को इतना ज्ञान समेटने को कोशिश तो की इन्होंने | रोचक और मन भाने वाली पोस्ट

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप कीमत की फ़िक्र कर रही हैं? स्टाक आने के साथ ही बिक गया अब दुबारा छापने के लिये धन की तंगी है. डा.अरविंद मिश्राजी से धन मांगा है जो भेज ही देंगे तब नया संस्करण छापेंगे और कुछ दान दाताओं ने भी बिट काईन के रूप में चंदा देकर ताऊ प्रकाशन की मदद की है.
      यह प्रकाशन चालू रहेगा.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६३

      Delete
  18. शुक्रिया एक सार्थक आव्हान के लिए | यहाँ नियमित रहने, लिखने और ब्लॉगर साथियों को पढ़ने की पूरी कोशिश रहेगी |

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी बहुत आभार आपका, स्नेहाशीष बहुत जरूरी है.

      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६४

      Delete
  19. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा आज शनिवार (01-07-2017) को
    "विशेष चर्चा "चिट्टाकारी दिवस बनाम ब्लॉगिंग-डे"
    पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार शाश्त्री जी.

      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६५

      Delete
  20. वाह पुराने दिन आ गये। सब तैयार ही बैठे थे, अपने घर की ओर लौटने को। बस धूणी रमा लेंगे ताऊ यहीं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी आप तो ब्लागर्स की अग्रणीय प्रेरणाश्रोत हैं बस आप मार्ग दर्शन करती रहे तो यह ब्लागिंग की गाडी भी एक दिन पटरी पर आ ही जायेगी.
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६६

      Delete
  21. रोचक किताबें। एक किताब और छपनी चाहिए- ताऊ पहेली में चीटिंग कैसे करें। और यह किताब लिखने के लिए सबसे उपयुक्त हैं श्रीमान बंटी चोर जी। :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. हम तो सारी दुनियां से चीटींग करने के फ़ार्मुले वाली किताब छापने की तैयारी कर रहे हैं फ़िर ये छोटा मोटा काम क्यों?:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६७

      Delete
    2. आभार आपका भी। और देखिये यहाँ भी आप चीटिंग ही कर रहे हैं। आपने आज 100 कमेंट्स करने की बात की थी, लेकिन बड़ी चालाकी से अपने ही पोस्ट पर किये कमेन्ट को भी आपने गिनती में शामिल कर लिया। :)

      Delete
    3. हम ऐसी चीटींग नही करते. यहां की जवाबी टिप्पणियां मायनस कर भी लें तो कमेंट कहां करें? हमको कुल ७५/८० पोस्ट मिली हैं और सब टिप्पणियों पर नंबर नही डले हैं. ईमानदारी से ११५ या १२० कमेंट किये हैं. सुबह से फ़ेसबुक के दर्शन नही किये अब जायेंगे.:)
      रामराम.

      Delete
  22. एक किताब हमे भी भेज दियो ताऊ। डिस्काउंट काट के।

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको डा. अरविंद मिश्र की किताब समीक्षा के लिये भिजवादी है कृपया जल्दी लिखकर भिजवाईयेगा.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६८

      Delete
  23. जै ताऊ महाराज की, हमें इन सबका फोकट डिजिटल एडीशन दिया जाये

    ReplyDelete
    Replies
    1. डिजीटक एडिशन एमेजान पर पेड ऎडीशन उपलब्ध करवा रहे हैं शीघ्र ही.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०६९

      Delete
  24. ओह इस प्रकाशन में तो साहित्य भरा पड़ा है । ज्ञान का अनुपम भंडार रच है ताऊ ने । जय हो ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार जी, आपकी किताब भी छ्प चुकी है बस जिल्द बंधवाकर बिक्री के लिये जारी करेंगे.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७०

      Delete
  25. सबसे बड़े फेसबुकी कैसे बने. अगला नम्बर इसके प्रकाशन का.

    ReplyDelete
    Replies
    1. अवश्य इस पर भी छापेंगे.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७१

      Delete


  26. किताबो के दाम जीएसटी केर साथ है या उसे अलग से जोड़ना होगा , दुनिया ने मुहर्त ट्रेडिंग के नाम पर १२ बजे से छूट वाली लूट मचा रखी है और यहाँ कोई छूट नहीं बड़ी नाइंसाफी है |

    ReplyDelete
    Replies
    1. किताबों का मूल्य सभी करों सहित है. आपने शायद ध्यान से नही पढा आज कुल मिलाकर किताबों पर 28.98 प्रतिशत की छूट उपलब्ध है.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७२

      Delete
    2. २८% का छूट देख लिया तभी तो पूछा की इधर से जीएसटी लगा कर २८ % रेट बढ़ाया और उसी को छूट बोल दिया नहीं चलेगा | मॉल में ५०% की छूट है |

      Delete
    3. अब ये बिजनेस का राज है क्यों सारी पोल पट्टी उजागर कर रही हैं? आखिर तो माल की वार्सिह आप ही हैं.:)
      रामराम

      Delete
  27. अपनी ही तस्वीर ब्लॉग पर अपनी नहीं लग रही , ब्लॉग पर तो मेरी पहचान वो पुरानी सूरज वाली फोटो ही है | :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपकी नई पुस्तक छप चुकी है उस पर सूरज वाली ही लगवा देंगे. इस किताब पर डिजायनर ने फ़ेसबुक से फ़ोटो ले ली थी जिसके लिये क्षमा याचना.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७३

      Delete
  28. खी खी खी तुरत मंगवाए हैं। सफेदपोश ब्लॉगर।
    :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार आपका.
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७४

      Delete
  29. जय हो ताऊ महाराज की ,
    कितनी ईमानदारी से ब्लॉगर महोत्सव के पहले दिन ही ब्लॉग कल्याण हेतु ताऊ ने अपना सब कुछ न्योछावर कर ये विश्व की सर्वोत्तम पुस्तकें नाम मात्र मूल्य पर जनता को लुटाने के लिए बाज़ार में रखी हैं, इन्हें पढ़ते ही सामान्य जन का कद सौ योजन से बड़ा हो जाएगा इसमें क्या संदेह !
    बस एक बात पूंछनी है ताऊ, लेखकों ने बड़ी मेहनत की है इन्हें लिखने में उन्हें कुछ दोगे भी या सारा माल खुद डकारोगे !
    सादर आपका !

    ReplyDelete
    Replies
    1. ताऊ तो सब कार्य जन कल्याण के लिये ही करता है पर जन समझे तब तो.:)
      लेकह्कों को आज तक किसी प्रकाशक ने पैसा दिया है? बल्कि लेखक जेब से खर्च करते हैं. अभी ऊपर कमेंट में देखिये हमने डा. अरविंद मिश्र से भी धन मंगवाया है.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७५

      Delete
  30. कीमतें पुरानी हैं, अब क्या हर किताब का एक ही मूल्य होगा

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी नही सबका मूल्य अलग अहि और आज के दिन डिस्काऊंट दे दिया गया है.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७६

      Delete
  31. जय हो ताऊ.... कुछ एक के साथ एक फ्री टाइप भी रखा जाए :)))

    ReplyDelete
    Replies
    1. फ़्री में तो ताऊ कुछ नही देता वो तो आज हिंदी ब्लाग दिवस के उपलक्षय में डिस्काऊंट दे दिया है.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७७

      Delete
  32. मुझे रांझे की सम्मोहन गुटिका चाहिए .....और आपने मेरी कोई किताब नहीं लगाई ...जबकि आप एक लाख एडवांस ले चुके हैं मुझसे ...??

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपकी किताब छप चुकी है बस वाईंडिंग का काम बाकी है जो एक दो दिन में पूरा हो जायेगा तब बिक्री के लिये जारी करेंगे.
      "रांझे की सम्मोहन गुटिका" आऊट आफ़ स्टाक है और हम रांझे से संपर्क की कोशीश कर रहे हैं कि वो मूल पाठ देवें तो हम छाप दें. वैसे रांझे बातचीत आखिरी दौर में है जल्दी ही सौदा पट जायेगा तब छ्पने पर आपको खबर करेंगे.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७८

      Delete
  33. हर बात का प्रारंभ है तो अवसान भी तो है न ताऊ !
    बस यही सोच कर लगा अब ब्लॉगिंग का अवसान समय आ गया, यही बात थी ब्लॉगिंग में अनियमितता आ गई थी अन्यथा बिलकुल ही बंद नहीं हुआ है मेरा ब्लॉग हाँ पोस्ट देर से लिखने के कुछ दूसरे कारण है कभी बताऊंगी !
    आपने फिर से लिखने का उत्साह बढ़ा दिया है, आभार !
    अपनी पुस्तक (जो कभी छपवाने की सपने में भी नहीं सोची थी) यहाँ देखकर बहुत ख़ुशी हुई, आभार इस बेहतरीन पोस्ट के लिए ! :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार आपका, स्नेह बनाये रखिये और जितना समय मिले तब लिखती टिपियाते भी रहिये.
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०७९

      Delete
  34. अरे बाप रे! एक ही खेप में 18 पुस्तके प्रकाशित कर दी और अभी १२ दूसरी
    खेप में, धन्य हुए ब्लॉग्गिंग डे के अवसर पर पढ़कर हम!
    हार्दिक शुभकामनाएं प्रकाशक और लेखकों को !

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार कविता रावत जी आपका.
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०८०

      Delete
  35. अरे बाप रे! एक ही खेप में 18 पुस्तके प्रकाशित कर दी और अभी १२ दूसरी
    खेप में, धन्य हुए ब्लॉग्गिंग डे के अवसर पर पढ़कर हम!
    हार्दिक शुभकामनाएं प्रकाशक और लेखकों को !

    ReplyDelete
  36. जय जय जय ताऊ महाराजा । करबद्ध प्रणाम
    सारी किताबो को इधर भी पार्सल कीजिये महाराज ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी अभी कोरियर करवा रहे हैं:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०८२

      Delete
  37. ताऊ सद साहित्य प्रकाशन की पुस्तकों के नाम जितने शानदार होते हैं उनके लेखक भी उतने ही शानदार............
    शुक्र है पुस्तकों पर GST नहीं है :-)
    प्रणाम स्वीकार करें

    ReplyDelete
    Replies
    1. ताऊ प्रकाशन हल्के पतले काम तो करता ही नही है.:)

      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०८३

      Delete
  38. प्रणाम ताऊ को....
    आपका प्रकाश तो चल निकला..।

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी आभार आपका, सभी समृद्ध लेखकों के भरोसे ताऊ प्रकाशन चल रहा है.:)

      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०८४

      Delete
  39. वाह ताऊजी किताबें तो ग़जब ढूंढी है आपने !!!

    ReplyDelete
    Replies
    1. ताऊ प्रकाशन केवल लोक कल्याण कारी सद ग्रंथों का ही प्रकाशन करता है.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०८५

      Delete
  40. हा हा हा ताऊ का दिमाग कंप्यूटर से भी तेज है

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार नीरज जी.
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      ०८९

      Delete
  41. फिर से एक बार सभी बिखरे हुए ब्लोग्गर्स को एक मंच देने का अद्भुत प्रयास !
    यह काम सिर्फ taau जी ही कर सकते थे और कोई नहीं.
    ब्लॉग जगत को फिर से जीवित करने का यह यज्ञ अवश्य सफल होगा ऐसी कामना है.
    अपना योगदान आज से ही देना शुरु कर दिया है .
    आपके प्रकाशन की इतनी सारी पुस्तकें देखकर बहुत अच्छा लगा.
    मैंने तो सब का आर्डर दे दिया है ! अपनी खुद की किताब भी देखी...हा हा हा !
    सच में !कुछ भूलता नहीं है..सब कुछ जैसे कल ही की बात है.
    हिंदी ब्लोग्गर दिवस की बधाई!

    ReplyDelete
  42. नौसिखियों की कोई कैटेगरी न रखी आपने ,अब तो खिसक ही लें हम ...... नमः शिवाय

    ReplyDelete
    Replies
    1. जल्दी ही कोशीश करेंगे कोई राईटर मिल जाये तो.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      १००

      Delete
  43. बहुत आभार आपका.
    गुनगुनाती धूप पर आपने रंग बिरंगी फ़िल्म का अनुराधा पौडवाल और आरती मुखर्जी
    का गाया बहुत ही मधुर गाकर लगाया है पर इस पोस्ट पर कमेंट लिखने के बाद मेसेज आता है कि
    "Comments on this blog are restricted to team members.
    You're currently logged in as ताऊ रामपुरिया. You may not comment with this account."
    कृपया देखियेगा.

    #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
    रामराम
    ०८८

    ReplyDelete
    Replies
    1. हाँ ,अभी देखा ,धन्यवाद इस तरफ ध्यान दिलाया आपने!
      न जाने कब ये सेटिंग की थी मैंने ,मुझे भी याद नहीं!
      आज आपने बताया तब चेक किया ,और अब सेटिंग को ठीक कर दिया है.
      अब अपनी प्रतिक्रिया वहाँ पोस्ट की जा सकती है.असुविधा के लिए क्षमा चाहती हूँ .

      Delete
  44. गज़ब का प्रकाशन है, सभी पुस्तकें और लेखक शानदार। आगामी प्रकाशन की प्रतीक्षा में इस बार की सभी पुस्तकों का ऑर्डर बुक करते हैं। राम राम

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत जल्दी नई पुस्तके आने ही वाली हैं, आपकी भी छ्प रही है.:)
      #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
      रामराम
      १०१

      Delete
  45. ब्लॉगिंग दिवस के प्रारंभ में इन पुस्तकों की सूचना काफी उपयोगी होगी। धन्यवाद।

    ReplyDelete
  46. बधाई इतनी उपयोगी पुस्तकों के प्रकाशन के लिए...

    ReplyDelete
  47. सभी लेखक कृपया ब्लॉगिंग टैक्स GBT (ब्लॉगिंग टैक्स भरे):)

    ReplyDelete
  48. ताऊ तेरे को तो कोई काम धाम नही क्या???? जो इतनी लम्बी पोस्ट लिख दी... मै तो पढता पढता ६१ का हो गया

    ReplyDelete
  49. ताऊ जी को प्रणाम
    सार्थक कार्य कर रहें हैं
    शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  50. ताऊ रामराम

    आज तो दिन भर चक्कर पर चक्कर,
    चक्कर पर चक्कर काटते बीता

    थारै ठिकाणै पूगतां पूगतां रात हो आई

    और इब किताब देखणै का भी समय नहीं बचा

    काल फेर आणो पडैगो

    शुभरात्रि

    ReplyDelete
  51. उफ्फ़! इस एक दिवासिय छूट का लाभ उठाने से हम चूक गए। खैर अगले ब्लॉगिंग दिवस पर छूट के लिए प्रतीक्षा कर लेंगे, तब तक लागत में भी थोड़ी कमी आएगी, और क्या पता तब तक हमारी भी पुस्तक आ जाए तो रॉयल्टी में सब पुस्तकें ले लेंगे।
    राम राम

    ReplyDelete
  52. वाह!नींद न आने की अचूक दवा है आपकी यह पोस्ट। सब किताब पढ़ते-पढ़ते नींद आ गई। अभी अचकचा के जगे हैं..पड़ोसन बिल्ली भगा रही थी..म्याऊ! और मुझे रामप्यारी याद आ गई।

    ReplyDelete
  53. आगामी पुस्तक मेले में इन सारी पुस्तकों का एक सेट लूँगा!! कमाल के ग्रन्थ हैं!

    ReplyDelete
  54. वाह ! इतनी सारी किताबें एक साथ .... लेखकों और पाठकों दोनों को बधाई

    ReplyDelete
  55. पूरा सेट ही लेना पड़ेगा :) :)
    GST तो नहीं लगेगा :)

    ReplyDelete

Post a Comment