Powered by Blogger.

शेयर मार्केट में ताऊत्व का महत्व

भक्त जनों, आजकल शेयर मार्केट उछाल पर है और हमेशा से ही शेयर मार्केट को लोग शार्टकट में पैसा कमाने का जरिया समझते आये हैं। और ताऊ गवाह है , और थोड़ा बहुत इतिहास और भगवान भी गवाह है कि इस मार्केट से ताऊओ के अलावा कोई भी कमाना तो दूर, अपना पैसा भी वापस घर नहीं ले जा पाया है। 

बॉलीवुड में पहले एक कहावत प्रसिद्द थी की हर आदमी अपना भाग्य आजमाने फिल्म लाइन में आता है अपना लौटा भर कर और अपना लौटा मुम्बई के समंदर में खाली करके लौट जाता है और बॉलीवुड के समंदर में इन लौटो की वजह से ही कभी सूखने की कोई नौबत नही आती। और यही कहावत शेयर मार्केट पर भी लागू होते दिखाई देती है, ये ताऊ का अपना नजरिया है आपका कुछ और भी हो सकता है।

यहां ललचाने के तरीके आला दर्जे के हैं, कल ही  Dishman Pharma 20 % प्रतिशत बढा और आज भी 10% प्रतिशत बढा, लेकिन कमाया किसने? कमाने वाले सिर्फ वो हैं जिन्होंने लम्बे समय से निवेश कर रखा था। 

इसलिए भक्तजनों आपको सावधान करना ताऊ का फर्ज है कि आप किसी आवेश में ना आये और अपनी गाढ़ी खून पसीने की कमाई को सोच समझकर निवेश करें।

एक बात का ध्यान रखें कि किसी भी तरह के लालच में ना आये, अक्सर आपके पास भी मेसेज आते होंगे की ये शेयर 2 रूपये चल रहा है और पांच सात दिन में ही 20 रूपये हो जाएगा। और होता ये है आपके वो दो रुपये भी खत्म हो जाते हैं। आपको देखना ही हो तो kabra drugs  का उदाहरण देखले की कैसे चवन्नी छाप शेयर 180 रूपये हो गया और वापस चवन्नी छाप हो गया। जिन्होंने पैसा लगाया था उनको बेचने का मौका तक नही मिला।

और अब तो Reliace Industries पर ही 2007 के मामले में वायदा कारोबार में प्रतिबन्ध और पेनाल्टी का आदेश हुआ है। 

याद रखे, इस बाजार में अपने को ताऊ समझने वाले छोटे ताऊओ को बड़े ताऊ नाश्ता पानी समझकर डकार जाते हैं।
रामराम।

4 comments:

  1. ताऊ फार्मा, ताऊ इंडस्ट्रीज या ऐसी ही किसी कम्पनी का IPO कब आ रहा है? ताऊ जी :-)

    ReplyDelete
  2. आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन ब्लॉग बुलेटिन और देविका रानी में शामिल किया गया है।कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

    ReplyDelete
  3. हर क्षेत्र में बड़ी मछली छोटी मछली को निगलने की फ़िराक में है !
    शेयर मार्केट में तो खतरनाक शार्क मछलियां है सावधानी तो जरुरी है ताऊ !
    बहुत सार्थक पोस्ट !

    ReplyDelete
  4. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (02-04-2017) को
    "बना दिया हमें "फूल" (चर्चा अंक-2613
    पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

    ReplyDelete