Powered by Blogger.

रामप्यारी क्या अब तुम्हारा भेजा खायेगी?

प्रोड्यूसर डायरेक्टर सतीश सक्सेना फ़िल्म बना रहे थे
"हम प्यार सिखाते हैं"
पार्क में कमसिन हीरो हिरोईन पर
प्यार मुहब्बत का दृष्य फ़िल्मा रहे थे

गर्मागर्म सीन देखकर
उधर से गुजर रहा
ताऊ हवलदार आगया
और बोला "थाने चलो"
नायक नायिका बोले "हम तो शूटिंग" कर रहे थे

ताऊ हवलदार बोला
ऐसा तो नही चलेगा
तुम लोग लपड चपड करो तो शूटिंग?
वेलेंटाईन डे पर जनता करे तो "हुटिंग"?

सीधे साधे छोकरे छोकरियों को
ये सारे धंधे तुम्हीं लोग सिखाते हो
ऊपर से महानता का पाठ पढाते हो?
जरा अपने गिरेबान मे  झांककर देखो
शूटिंग के नाम पर दो चिंदे पहनते हो

सारे चूहे खाकर  तीर्थयात्रा को जाते हो?
मैने  सोचा था  चूहे खाने के पहले
तुम्हें कुछ तो शर्म आयेगी
सारे के सारे चूहे तुम खा गये
रामप्यारी क्या अब तुम्हारा भेजा खायेगी?

दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं!

35 comments:

  1. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल शनिवार (02-11-2013) "दीवाली के दीप जले" चर्चामंच : चर्चा अंक - 1417” पर होगी.
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है.
    सादर...!

    ReplyDelete
  2. धमाकेदार-
    शुभकामनायें- आदरणीय--

    ReplyDelete
  3. ताऊ तुम्हारी हा हा कार हो जायेगी ,
    नारी वादी आकर तुम्हारी वर्दी फड़वा देंगी !

    ReplyDelete
  4. सुन्दर ताऊ ।।
    राम राम ।।

    ReplyDelete
  5. वाह !!! बहुत खूब सुंदर प्रस्तुति ,,,
    दीपावली की हार्दिक बधाईयाँ एवं शुभकामनाएँ।।

    RECENT POST -: तुलसी बिन सून लगे अंगना

    ReplyDelete
  6. रामप्यारी के साथ सहानुभूति है ! :)
    दीवाली पर मस्त मलंग ताऊ की जय हो !

    ReplyDelete
  7. नारीवादी खबर लेने आते ही होंगे ताऊ :)

    दीपावली की हार्दिक बधाईयाँ एवं शुभकामनाएँ।।

    ReplyDelete
  8. सटीक व्यंग्य! लगता है पशु-अत्याचार-विरोध समिति को खबर करनी पड़ेगी

    ReplyDelete
  9. बहुत सुंदर !! दीपावली कि हार्दिक शुभकामना.......!1

    ReplyDelete
  10. प्‍यार के बीच में अडंगा मत डालना सारे ही प्रगतिशील मोर्चा लेकर आ धमकेंगे।

    ReplyDelete
  11. हाथी के दॉंत ऐसे ही होने चाहि‍ए

    ReplyDelete
  12. अच्छा व्यंग्य .. दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं ..

    ReplyDelete
  13. बहुत बढ़िया !
    दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं
    नई पोस्ट हम-तुम अकेले

    ReplyDelete
  14. ओह बेचारी रामप्यारी!

    दीपावली की शुभकामनाएँ!

    ReplyDelete
  15. मस्त मजेदार व्यंग्य है :)
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ ताऊ जी !

    ReplyDelete
  16. सुन्दर प्रस्तुति………

    काश
    जला पाती एक दीप ऐसा
    जो सबका विवेक हो जाता रौशन
    और
    सार्थकता पा जाता दीपोत्सव

    दीपपर्व सभी के लिये मंगलमय हो ……

    ReplyDelete
  17. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    --
    आपको और आपके पूरे परिवार को दीपावली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।
    स्वस्थ रहो।
    प्रसन्न रहो हमेशा।

    ReplyDelete
  18. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    --
    आपको और आपके पूरे परिवार को दीपावली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।
    स्वस्थ रहो।
    प्रसन्न रहो हमेशा।

    ReplyDelete
  19. हाय, बिचारी रामप्यारी। दीपावली शुभ हो, मंगल हो, आपको और रामप्यारी को भी।

    ReplyDelete
  20. .बहुत सुन्दर.. . आप को दीपावली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  21. उत्सव त्रयी मुबारक।बहुत खूब अपने परिवेश से मुखातिब विडंबनाओं पर कटाक्ष।

    ReplyDelete
  22. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज रविवार (03-11-2013) "बरस रहा है नूर" : चर्चामंच : चर्चा अंक : 1418 पर भी है!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का उपयोग किसी पत्रिका में किया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    प्रकाशोत्सव दीपावली की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  23. ताऊ चुटीले अंदाज़ में ....सुंदर ! दिवाली की शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  24. बेचारी रामप्यारी ... इब के खावेगी ...
    दीपावली के पावन पर्व की बधाई ओर शुभकामनायें ताऊ श्री ...

    ReplyDelete
  25. दीपावली की हार्दिक बधाईयाँ एवं शुभकामनाएँ ....

    ReplyDelete
  26. ज़बरदस्त .....शुभकामनायें आपको भी

    ReplyDelete
  27. दमदार फिल्म है, बहुत चलेगी।

    ReplyDelete
  28. बहुत सटीक.....दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  29. वाह!!! बहुत सुंदर !!!!!
    उत्कृष्ट प्रस्तुति
    बधाई--

    उजाले पर्व की उजली शुभकामनाएं-----
    आंगन में सुखों के अनन्त दीपक जगमगाते रहें------

    ReplyDelete
  30. बहुत बढिया ...
    शुभकामनाएं ....

    ReplyDelete
  31. बहुत खूब सर जी व्यंग्य धार (बाण )खूब चलाते हो

    ReplyDelete
  32. शुक्रिया ताऊ सा आपकी टिप्पणियों का।

    ReplyDelete

  33. सारे चूहे खाकर तीर्थयात्रा को जाते हो?
    मैने सोचा था चूहे खाने के पहले
    तुम्हें कुछ तो शर्म आयेगी
    सारे के सारे चूहे तुम खा गये
    रामप्यारी क्या अब तुम्हारा भेजा खायेगी?

    अरे खाने ताईं कुछ तो मिले रामप्यारी कु क्या भूखो मारोगे ?

    ReplyDelete