Powered by Blogger.

ताऊ और रामप्यारी की संगीता स्वरूप "(गीत)" से दो और दो पांच !

रामप्यारी ने आजकल ताऊ टीवी का काम संभालना शुरू कर दिया है. उसी की पहल पर ब्लाग सेलेब्रीटीज से "दो और दो पांच" खेलने का यह प्रोग्राम शुरू किया गया है. दो और दो पांच में, ब्लॉग सेलिब्रिटी से निवेदन है कि वे सवाल के जवाब कुछ चटपटे रखें ताकि ब्लोगर साथियों का मनोरंजन भी हो , इस प्रोग्राम का मकसद  हंसना हंसाना सीखना है. इस मनोरंजक पोस्ट का अधिक अर्थ निकालने की कोशिश न करे यह काम रामप्यारे को ही करने दें.

ब्लाग सेलेब्रीटीज को रूबरू पकडना बहुत ही मुश्किल होता है, नेट पर तो जब चाहे तब पकड लिजीये.....पर रामप्यारी भी कोई कम नही है.  रामप्यारी ने सबसे पहले 2 + 2 = 5 का खेल शुरू किया  सतीश सक्सेना के साथ, इसके बाद सवाल जवाब किये हरकीरत ’हीर’ और काजल कुमार के  साथ. और आज तो  सुबह सुबह ही रामप्यारी ताऊ स्टूडियो पहूंची संगीता स्वरूप  (गीत) के साथ. अब  रामप्यारी ने उनको कैसे इस खेल के लिये राजी किया? यह तो रामप्यारी जाने पर फ़िलहाल आप  बिना ब्रेक  देखिये अटपटे सवालों के चटपटे जवाब... सीधे...ताऊ और रामप्यारी की संगीता स्वरूप (गीत)  से  दो और दो पांच.....


ताऊ और रामप्यारी के साथ "दो और दो पांच" करते हुये संगीता स्वरूप (गीत)
(कैमरामैन : रामप्यारे)

सवाल ताऊ के जवाब संगीता स्वरूप (गीत) के यानि 2 + 2 = 5

सवाल : आपसे सबसे ज्यादा दुखी कौन है?
जवाब : जिसको दुखी करने का हक है वही दुखी है ।

सवाल : आपने आखिरी बार किसे रूलाया था?
जवाब : आँखों की नमी सूखती ही नहीं तो आखिरी बार का तो पता नहीं ।

सवाल : दिन में आप कितनी बार हंस लेती हैं?
जवाब : ताऊ के व्यंग्य से आ जाती है,  कभी व्यवस्था पर हँसी,  वरना तो अब हंसने का दिल नहीं करता ।

सवाल : कल रात को आपने कौन सी सब्जी खायी थी?
जवाब : मेरी पोल मुझसे ही खुलवा रहे हो ... रात गयी बात गयी.

सवाल : आपकी किस आदत से आपके पति ज्यादा परेशान रहते है?
जवाब : ज़रूरी कागज़ ज्यादा संभाल कर रख देने से ॥ वक़्त पर मिलता नहीं.

सवाल. : कौन सा ट्रेफ़िक रुल आप सबसे ज्यादा तोडती हैं?
जवाब : बिना ज़ेबरा क्रॉसिंग के सड़क पार कर लेती हूँ ... पैदल चलने वाले और क्या रूल तोड़ेंगे?

सवाल : अगले जन्म मे आप क्या बनना चाहेंगी?
जवाब : ऐसा नेता जिसके हाथ में देश की बागडोर हो ...तब देखते हैं कैसे होता है कोई घोटाला ।

सवाल : एक चुटकला सुनाइये.
जवाब : सुनिये...
ताऊ – मुझे और मेरी बीवी को कोई अलग नहीं कर सकता । 
सतीश सक्सेना – यह तो बहुत अच्छी बात है। ताऊ और ताई में कितना प्यार है । 
ताऊ – न , जब हम लड़ते हैं तो कोई अलग नहीं कर सकता । 

सवाल : साढे अढाई और साढे एक कितने होते हैं?
जवाब : पौने पाँच

सवाल : सासू मां से आखिरी बार डांट कब खायी थी?
जवाब :सासू माँ की छत्र – छाया हटे 25 साल हो गए , याद ही नहीं कि कभी उन्होने डांटा हो ।

सवाल : कौन से कलर के सैंडिल फ़ोकट मे भी नही पहनना चाहेंगी?
जवाब : हरे रंग के ।

सवाल : कौन सा परफ़्य़ुम आपको ज्यादा अच्छा लगता है?
जवाब : अरमानी और शैनल– 5

सवाल : खुद अपने आप की एक खराब आदत कौन सी है?
जवाब :बहुत सी हैं ..... गुस्सा बहुत जल्दी आता है ।

सवाल : अपने मुंह मियामिठ्ठू बनिये
जवाब : मुश्किल काम है ॥

सवाल : .ऐसा कोई  ब्लागर जिससे आपको जलन होती हो और क्यों?
जवाब : जलन किसी ब्लॉगर से नहीं हुई ।

सवाल : ऐसा गाना, जिसकी हीरोईन आप अपने आपको समझने लगती हों?
जवाब :ऐसा कभी सोचा नहीं ।

सवाल : वे हसरतें जो अधूरी रह गयीं?
जवाब – जितना मिला बहुत मिला ....

सवाल : आपको एक दिन के लिये छोटी बच्ची बना दें तो क्या करना चाहेंगी?
जवाब -किसी नदी किनारे रेत के घरोंदे बनाना चाहुंगी.

सवाल : सबसे बढ़िया बीता समय कौन सा था?
जवाब – कॉलेज का समय जब चार साल छात्रावास में रही ।

सवाल : सबसे घटिया समय?
जवाब – जब केंद्रीय विद्यालय में मेरा स्थानांतरण सूरतगढ़ ( राजस्थान) कर दिया गया ।

सवाल : दुश्मन को कोई संदेश देना चाहेंगी?
जवाब – यूं तो मेरा कोई दुश्मन है नहीं .... यही कहना चाहूंगी कि वक़्त के साथ दोस्तों को आजमाते रहिए ... दुश्मनों से प्यार हो जाएगा ।

सवाल – दोस्त के लिये कोई संदेश?
जवाब – दोस्त के लिए संदेश नहीं ..... बस मैं हाजिर हूँ ।

सवाल : अपने जीवन साथी से कुछ कहना चाहेंगी जो आप कभी रूबरू ना कह सकी हों?
जवाब : जो जीवन साथी से न कह सकी वो यहाँ कैसे कह दूँ ?

सवाल : ऐसा एक शब्द जिससे आपको चिढ आती हो?
जवाब : औकात

सवाल : पसंदीदा अभिनेत्री?
जवाब : स्मिता पाटिल

सवाल : पसंदीदा ब्लागर?
जवाब : एक का नाम लूँगी तो नाइंसाफी होगी ।

सवाल : फ़ेवरिट गायक
जवाब : हेमंत कुमार

सवाल : पसंदीदा लेखक
जवाब : प्रेमचंद , शिवानी

सवाल : ब्लागर ताऊ की इमेज आपके दिमाग में क्या है?
जवाब : खुले मन से जो स्वस्थ्य मनोरंजन कर सकता है वो साधारण होते हुये भी असाधारण है ।वैसे कुछ दबंग सी इमेज है आपकी ।

सवाल : ब्लागर्स के लिये कोई मेसेज देना चाहेंगी?
जवाब – ब्लॉग अभिव्यक्ति का माध्यम है जो सहजता से उपलब्द्ध है ...इस पर व्यक्तिगत बैर नहीं दिखाना चाहिए । और टिप्पणियों की संख्या को लेखन का माप दंड नहीं मानना चाहिए .... बहुत से ब्लॉगर बहुत अच्छा लिखते हैं पर शायद लोगों की पहुँच उन ब्लॉग तक नहीं है ...

सवाल : आपकी पसंद के 10 टाप ब्लाग्स बिना किसी वरीयता क्रम के?
जवाब : स्पंदन मेरी भावनाएं , ताऊ डॉट इन न दैन्यं न पलायनम् , मेरे गीत , हरकीरत हीर , शिप्रा की लहरें , लालित्यम , स्वप्न मेरे , अंतर्मंथन ,

सवाल : बच्चे परेशान करें तो उन्हें मारेंगी या समझायेंगी?
जवाब – समझाउंगी ..... या उनका ध्यान कहीं और किसी काम में लगा दूँगी ...

ताऊ : तो धन्यवाद संगीता जी ..अब फ़टाफ़ट राऊंड के लिये तैयार हो जाईये. रामप्यारी तैयार है अपने सवालों का पिटारा लिये......... ठीक है?

संगीता स्वरूप  : ठीक है ताऊ . मैं तैयार हूं.....

अब रामप्यारी का फ़टाफ़ट राऊंड शुरु होता है. 


रामप्यारी : हां तो संगीता आंटी...आप तैयार हैं फ़टाफ़ट खेलने के लिये?
संगीता स्वरूप - अरे रामप्यारी एक मिनट...जरा एक घूंट पानी तो पी लेने दे.......हां अब बोल...

रामप्यारी का फ़टाफ़ट राऊंड संगीता स्वरूप के साथ 

सवाल -  बताईये कि आपको क्या पसंद है? – मूंछ वाला या क्लीन शेव्ड?
जवाब : मूंछ वाला

सवाल - हिल स्टेशन या समुद्र तट?
जवाब : समुद्र तट

सवाल - ट्रेन का सफ़र, बस का सफ़र या हवाईजहाज का?
जवाब : ट्रेन का सफर

सवाल - पुस्तक पढना या फ़िल्म देखना?
जवाब : पुस्तक पढ़ना

सवाल - सलमान खान या आमिर खान?
जवाब : आमिर खान

सवाल - कैटरीना कैफ़ या करीना कपूर?
जवाब : कैटरीना कैफ

सवाल - कारों में हैचबैक या सेडोन?
जवाब : नाम ही नहीं सुने

सवाल – साडी या आधुनिक लिबास?
जवाब : साड़ी

सवाल - मिरिंडा, पेप्सी या रूहफ़्जा?
जवाब : रूहफ़्ज़ा

सवाल - गांव या शहर
जवाब : गाँव कभी देखे नहीं .... तो कैसे बताऊँ ?

सवाल - लैंड लाईन या मोबाईल
जवाब : मेरा तो मोबाइल भी लैंडलाइन की तरह ही पड़ा रहता है ।

सवाल - स्प्लिट एसी या विंडो एसी
जवाब : विंडो ए सी

सवाल - लेप टोप या डेस्कटोप
जवाब : डेस्कटॉप

सवाल - ब्लेक व्हाईट फ़ोटो या कलर फ़ोटो
जवाब : ब्लैक व्हाइट

सवाल - ज्वाईंट फ़मिली या न्यूक्लियर फैमिली ?
जवाब : न्यूक्लियर फैमिली

सवाल - कांच की चूडियां या मेटल की?
जवाब : काँच की

सवाल - शिफ़ोन की साडी या काटन की?
जवाब : दोनों तरह की

सवाल - चश्मा या कांटेक्ट लैंस?
जवाब : चश्मा

सवाल - नौकरी या बिजनैस?
जवाब : नौकरी

सवाल - प्यार शादी के पहले या बाद?
जवाब : जब भी हो बस होना चाहिए

सवाल - ताऊ की बकबक या रामप्यारी की चकचक?
जवाब : दोनों

तो दोस्तों यह थी ताऊ और रामप्यारी के साथ संगीता स्वरूप (गीत)  की "दो और दो पांच"....

अगली बार हम किस  ब्लाग सेलेब्रीटी के साथ खेलेंगे "दो और दो पांच"....? क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं? हिंट के रूप में समझ लिजीये कि इस सेलेब्रीटी ने ज्यादातर सवालों के जवाब में प्रति प्रश्न किये हैं....बेबाक जवाब तो दिये ही हैं......जो भी सबसे  सही अंदाजा लगायेगा उसे ताऊ के परिचयनामा के लिये निमंत्रण भेजा जायेगा......तो फ़टाफ़ट जवाब दिजीये....!

60 comments:

  1. संगीता जी नें अच्छे जबाब दिए !!
    सुन्दर ताऊ !!

    ReplyDelete
  2. संगीता जी के साथ' दो और दो पांच' का यह कार्यक्रम भी अच्छा लगा.
    सवाल -जवाबों का यह सिलसिला यूँ ही जारी रहे.

    ReplyDelete
  3. @ वरना तो अब हंसने का दिल नहीं करता ।

    आपके हसबैंड का फोन नंबर चाहिए मैम !!!!

    ReplyDelete
    Replies
    1. सतीश जी ,

      37 सालों के साथ के बाद अब तो हर बात की आदत पड़ गयी है ... रोना हँसना भी चलता रहता है पर हंसने का दिल तो देश की व्यवस्था को देख कर नहीं करता ... आज कल देख रहे होंगे न दुर्गा शक्ति .... :( :(

      Delete
    2. जी हाँ ..
      उदाहरण है बेशर्मी का !!

      Delete
  4. @ बिना ज़ेबरा क्रॉसिंग के सड़क पार कर लेती हूँ ... पैदल चलने वाले और क्या रूल तोड़ेंगे?

    काजल भाई को इस पर एक कार्टून बनाना चाहिए , संगीता मैडम जेब्रा क्रोसिंग में रेड लाइट में सड़क पार कर रही हैं और गाड़ियाँ आपस में टकरा रहीं हैं..

    पकड़ी जाने पर कह रहीं हैं कि हम भला क्या रूल तोड़ेंगे ? यह गलतियाँ तो गाड़ियों वाले करते हैं !

    ReplyDelete
    Replies
    1. इस रुल के टूटने से तो हम भी परेशां हैं.

      Delete
    2. यह आम समस्या है .... सबसे ज्यादा लोग इसी ट्रेफिक रूल को तोड़ते हैं :):)

      Delete
    3. आप दिल्ली में नहीं रहतीं?

      Delete
    4. अनुराग जी ,
      दिल्ली में ही हूँ ... बहुत लोगों को देखा है यह रूल तोड़ते हुये ... स्वयं को तो एक उदाहरण के रूप में प्रस्तुत कर दिया ।

      Delete
  5. संगीता जी के जवाब उनके परिपक्व मानसिकता
    को दर्शाते है बहुत ही बेहतरीन जवाब दिये है !

    ReplyDelete
  6. ताई की क्यों याद दिला दी , ताऊ अगली पोस्ट ही भूल जाएगा लिखना ! आजकल ताई , ताऊ को मना रही है कि चार धाम तीरथ यात्रा करके आ और वह भी बरसात ख़तम होने से पहले ...

    लगता है ताई की नज़र भी वहीँ है जहां मेरी !

    ReplyDelete
  7. @ अगली बार हम किस ब्लाग सेलेब्रीटी के साथ खेलेंगे "दो और दो पांच"....? क्या आप अंदाजा लगा सकते हैं? हिंट के रूप में समझ लिजीये कि इस सेलेब्रीटी ने ज्यादातर सवालों के जवाब में प्रति प्रश्न किये हैं....बेबाक जवाब तो दिये ही हैं......जो भी सबसे सही अंदाजा लगायेगा उसे ताऊ के परिचयनामा के लिये निमंत्रण भेजा जायेगा......तो फ़टाफ़ट जवाब दिजीये....!
    ताऊ कही यह सुमन पाटिल तो नहीं है :)? अंदाजा ही तो है लगाने में क्या जाता है ? सही है तो ताऊ के परिचय नामा का निमंत्रण तो मिलेगा ही !

    ReplyDelete
    Replies
    1. सुमन पाटिल ही हैं ...
      अब निमंत्रण भेजो !

      Delete
  8. बहुत उपयुक्त उत्तर दिये संगीता जी !

    ReplyDelete
  9. ताऊ – मुझे और मेरी बीवी को कोई अलग नहीं कर सकता ।
    सतीश सक्सेना – यह तो बहुत अच्छी बात है। ताऊ और ताई में कितना प्यार है ।
    ताऊ – न , जब हम लड़ते हैं तो कोई अलग नहीं कर सकता ।

    सतीश भाई फेविकोल वालों को एड का ये नया आइडिया भेजिए...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
    Replies
    1. सही है वे फ़टाफ़ट इसे एक्सेप्ट करेंगे :)

      Delete
    2. जब हम लड़ते हैं तो कोई अलग नहीं कर सकता ---
      खासकर जब ताई ने ताऊ की ब्लडी मेरी चढ़ा ली हो. :)

      Delete
  10. आपकी यह रचना आज शनिवार (03-08-2013) को ब्लॉग प्रसारण पर लिंक की गई है कृपया पधारें.

    ReplyDelete
  11. बहुत बढ़िया, लम्बे अनुभवों से परिपूर्ण सदे जबाब ! चुटकिला भी सही था, दो जाट अगर गुथ्थम-गुत्था हो जाएँ तो उन्हें अलग करने की हिम्मत किसी के बाप की भी नहीं होती :)

    ReplyDelete
  12. कमाल .... इतना सरल भी नहीं है ये साक्षात्कार देना | संगीताजी की बातें मन भायीं .

    ReplyDelete
  13. बहुत अच्छा ताऊ जी, बहुत अच्छा लगा……….
    लगता है ये प्रसनावली चलते ही रहे... आनंद आता है धन्यवाद !!

    ReplyDelete
  14. वाह.
    संगीता जी की संजीदगी उनकी कवि‍ताओं में ही नहीं उनकी बातों में भी साफ दि‍खाई देती है.

    ReplyDelete
    Replies
    1. काजल जी , कार्टूनिस्ट हो , पैनी नज़र रखते हो

      Delete
    2. एकदम सहमत। एक आदर्श शिक्षक जैसा साक्षात्कार!

      Delete
  15. बहुत मज़ेदार आयोजन चल रहा है ताऊ और संगीता जी ने बडी बेबाकी से जवाब भी दिये मज़ा आ गया आज के माहौल में एक स्वस्थ और हास्य से भरपूर कार्यक्रम सिर्फ़ ताऊ ही कर सकते हैं ये सारे ब्लोगर्स जानते हैं ।

    ReplyDelete
  16. संगीता जी के संग ये साक्षात्कार बहुत ही रोचक रहे..आभार आप का..आप ने तो मुफ्त में हँसाने का सबब ढ़ूढ़ लिया..

    ReplyDelete
  17. मैं यही सोच रही हूँ की जीवन का असली आनंद देने वाला ब्लॉग मेरी नजरों में अभी तक आई क्यूँ नही थी... ...हर शनिवार उदासी का जामा लिए आता है पर आज का शनिवार तो हँसते हंसाते लोट पोट कर दिया...
    ताऊ जी और संगीता जी की वार्ता .....अभी न जाने कितनी बार पढूंगी....

    ReplyDelete
  18. संगीता जी के नारी सुलभ ज़वाब पढ़कर आनंद आ गया.

    जो जीवन साथी से न कह सकी वो यहाँ कैसे कह दूँ ? -- बहुत बढ़िया ज़वाब।

    ReplyDelete
  19. संगीता जी ने भी अच्छे जवाब दिए :)
    पर अभी भी महिलाओ को हास्य में थोड़ी और मेहनत करनी होगी :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. ऐसा क्यों है शायद आप बेहतर बता सकें ..

      Delete
    2. हमें तो निम्न वाक्य पसंद आया:
      वक़्त के साथ दोस्तों को आजमाते रहिए ... दुश्मनों से प्यार हो जाएगा ।

      Delete
    3. आज की स्थिति में सार्वभौमिक सच है .. :)

      Delete
    4. उनको बताया नहीं होगा कि जवाब हास्य में देना है !

      Delete

    5. सबसे पहले ताऊ स्पष्ट करे की सवालो के जवाब सही सही देना है एक आम साक्षात्कार की तरह या ये एक मात्र मनोरंजक कार्यक्रम है , जहा तक मेरा ख्याल है की ये एक हास्य कार्यक्रम ज्यादा है एक साक्षात्कार कम ताऊ की इन बातो से मुझे तो यही लगता है
      रामप्यारी ने आजकल ताऊ टीवी का काम संभालना शुरू कर दिया है. उसी की पहल पर ब्लाग सेलेब्रीटीज से "दो और दो पांच" खेलने का यह प्रोग्राम शुरू किया गया है. दो और दो पांच में, ब्लॉग सेलिब्रिटी से निवेदन है कि वे सवाल के जवाब कुछ चटपटे रखें ताकि ब्लोगर साथियों का मनोरंजन भी हो , इस प्रोग्राम का मकसद हंसना हंसाना सीखना है. इस मनोरंजक पोस्ट का अधिक अर्थ निकालने की कोशिश न करे यह काम रामप्यारे को ही करने दें.

      इसलिए मैंने कहा की सही सही जवाब देने की जगह हास्य पैदा करने वाली जवाब देना चाहिए , जैसा की काजल जी ने कई जगह किया है किन्तु कुछ लोग अभी की थोड़े कन्फ्यूज है तभी देखा की टिप्पणियों में लोगो ने कहा की सवालो से बचा जा रहा है , जबकि सवालो से बचा नहीं जा रहा था बल्कि जवाब मजेदार बनाये जा रहे थे |

      Delete
    6. सतीश जी
      समस्या ये है की महिलाओ को बचपन से सलीके , तमीज लज्जा शर्म से रहना और बोलना सिखाया जाता है, जिनके जोरदार हंसी पर ही पाबन्दी हो वो भला हास्य में वो स्थान कहा पा सकती है, जो खुल कर हँसने वाले पा सकते है | कोई भी जवाब देने से पहले महिलाए हजार बार सोचती है की उनके कोई और मतलब न निकल जाये , जबकि हास्य के लिए जरुरी है की थोडा बेढंगा हुआ जाये थोड़ी लाज शर्म छोड़ी जाये और तमीज का लबादा छोड़ कर किसी की टांग खीचने में भी परहेज न किया जाये | कोई मुझसे सवाल करे की अपने मिया मिठ्ठू बनो तो मै जवाब दूंगी की मुर्गा बनना तो आता है ये मिठ्ठू कैसे बनते है जी हमें तो चोच नहीं है , ये जवाब देते ये न सोचूंगी की लोग कहेंगे की वहा अंशु जी मुर्गा बन चुकी है , जब ताऊ के साथ पैसे पैसा करती हूँ तब भी नहीं सोचती की लोग मेरे बारे में क्या सोचेंगे :)

      Delete
  20. आनंद प्रदान करने के लिए आभार..

    ReplyDelete
  21. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (04-08-2013) के चर्चा मंच 1327 पर लिंक की गई है कृपया पधारें. सूचनार्थ

    ReplyDelete
  22. जय हो, धडाधड महाराज की ……. संगीता जी ने बढ़िया जवाब दिए.

    ReplyDelete
  23. जवाब – यूं तो मेरा कोई दुश्मन है नहीं .... यही कहना चाहूंगी कि वक़्त के साथ दोस्तों को आजमाते रहिए ... दुश्मनों से प्यार हो जाएगा ।



    दिल अभी पूरी तरह टूटा नहीं दोस्तों की मेहरबानी चाहिए। खा गया है जिसके दोस्त आप जैसे हों उन्हें दुश्मनों की कहाँ ज़रुरत है। बढ़िया चुटीले सवाल ज़वाब। ॐ शान्ति।

    ReplyDelete
  24. सब कुछ बढिया जा रहा है ....:)

    ReplyDelete
  25. वाह , बहुत सुंदर





    यहाँ भी पधारे

    गजल
    http://shoryamalik.blogspot.in/2013/08/blog-post_4.html

    ReplyDelete
  26. भई वाह यह इंटरव्यू तो बहुत रोचक रहा ! संगीता जी की ही तरह उनके जवाब भी लाजवाब करने वाले हैं ! बहुत सुंदर !

    ReplyDelete
  27. भई वाह ! यह इंटरव्यू तो बहुत रोचक रहा ! संगीता जी की ही तरह उनके जवाब भी लाजवाब करने वाले हैं ! आनंद आ गया ! अगले इंटरव्यू का इंतज़ार रहेगा !

    ReplyDelete
  28. सनीता जी के जवाब बहुत अच्छे लगे. ताऊ की मेहनत को सलाम .

    निसंदेह ताऊ ने ब्लॉग्गिंग में प्राण फूंके है .

    बधाई

    ReplyDelete
  29. कितना कुछ जानने को मिल रहा है सबके बार में..

    ReplyDelete
  30. वाह ... मज़ा आ गया जी इस दो और दो पांच का ... सवाल जवाब का मज़ा कुछ और ही है ... बहुत खूब ...

    ReplyDelete
  31. वाह ताऊ,अच्छा इंटरव्यू लिया संगीताजी का.

    ReplyDelete
  32. बहुत अच्छा लगा ,,,संगीता जी को "औकात" पसंद नही .और हमारी तो कोई "ओकात"नही !
    संगीता जी ..स्वस्थ रहें :-)))

    ReplyDelete
  33. परिहास में भी भद्रता का स्वरूप संगीता दी!!

    ReplyDelete
  34. किसी महिला ब्‍लागर का भी पढ़ लिया साक्षात्‍कार। संजीदा ज्‍यादा था।

    ReplyDelete