Powered by Blogger.

दो और दो पांच में वसुंधरा पाण्डेय

रामप्यारी ने आजकल ताऊ टीवी का काम संभालना शुरू कर दिया है. उसी की पहल पर ब्लाग सेलेब्रीटीज से "दो और दो पांच" खेलने का यह प्रोग्राम शुरू किया गया है. दो और दो पांच में, ब्लॉग सेलिब्रिटीज से निवेदन है कि वे सवाल के जवाब कुछ चटपटे रखें ताकि ब्लोगर साथियों का मनोरंजन भी हो , इस प्रोग्राम का मकसद सिर्फ़ हंसना हंसाना सीखना है. प्रतिभागियों द्वारा दिये गये जवाबों का गंभीर या वास्तविक अर्थ निकालने की कोशिश न करे और हलके फुल्के मजाक का आनंद लें ! यानि सिर्फ़ और सिर्फ़ मनोरंजन......... 
ब्लाग सेलेब्रीटीज को रूबरू पकडना बहुत ही मुश्किल होता है, नेट पर तो जब चाहे तब पकड लिजीये.....पर रामप्यारी भी कोई कम नही है.

रामप्यारी अब तक 2 + 2 = 5 का खेल चुकी है सतीश सक्सेना , हरकीरत ’हीर’ , काजल कुमार , संगीता स्वरूप(गीत) , अरविंद मिश्र वंदना गुप्ता , खुशदीप सहगल , सुमन , डा. दराल ,प्रवीण पाण्डेयवाणी शर्माविजय सप्पाति , रमाकांत सिंह , डा.शौर्य मलिक , अंजू (अनु) चौधरी ,  अनुराग शर्मा  व दिगम्बर नासवा के साथ. ....... रामप्यारी को आज सुबह सुबह ही मिल गई वसुंधरा पाण्डेय.. जिन्हें वो ले आयी सीधे ताऊ टीवी के स्टूडियो में और शुरू हो गया दो और दो पांच का खेल...अब बिना ब्रेक देखिये अटपटे सवालों के चटपटे जवाब... सीधे...ताऊ, रामप्यारी और रामप्यारे की वसुंधरा पाण्डेय से दो और दो पांच.....


ताऊ और रामप्यारी के साथ "दो और दो पांच" खेलते वसुंधरा पांण्डेय
(कैमरामैन - रामप्यारे)

                                                    सवाल ताऊ के जवाब वसुंधरा पाण्डेय के यानि 2 + 2 =5


ताऊ : आपसे सबसे ज्यादा दुखी कौन है? 
जवाब : पति 

ताऊ: आप आखिरी बार कब रोई थी? 
जवाब : याद ही नही कि हंसी कब थी? 

ताऊ : कल रात आपने कौन सी सब्जी खायी थी? 
जवाब : उ का है न की हमको खाते समय खाने से ज्यादा इधर उधर  झाँकने की आदत है तो क्या खाया यह याद नही रहता...बस खा लेती ..हूं....     

ताऊ : आपकी किस आदत से आपके पति ज्यादा परेशान है? 
जवाब : ब्लोगिंग और कवितायेँ लिखने से ... 

ताऊ. : कौन सा ट्रेफ़िक रुल आप सबसे ज्यादा तोडती हैं? 
जवाब : तोड़ने वाला जाने, मैं तो बैठी रहती हूँ :) 

ताऊ. : अगले जन्म मे आप क्या बनना चाहेंगी? 
जवाब : ओ वसुंधरा...जो दुबारा ना मरे 

ताऊ : एक चुटकला सुनाइये. 
जवाब : आधा घंटा खर्ची हूँ चुटकुला के लिए,  पर याद ही नही आ रहा !

ताऊ : यानि आपको चुटकलों में कोई खास रूचि नही है?
जवाब : ना... ना.. ऐसा नही है, रूचि बहुत है पर बहुतायत होने से कोई एक सेलेक्ट नही हो पाता..

ताऊ : चलिये आपको और अतिरिक्त समय देते हैं...जरा सोच के सुनाईये...जिससे ताऊ टीवी के दर्शक भी आपके चुटकले प्रेम का लोहा मान सकें...
जवाब : (कुछ देर सोचकर...) ओह  हां...याद आया, आज डालर का रेट 25 रूपया हो गया.

ताऊ : सवा छ: और पोने दस कितने होते हैं?
जवाब : गणित से हमेशा भागती हूँ ,यहाँ भी गणित हाजिर.. :( पूछ कर बताती हूँ ! ! 

ताऊ : सास से आखिरी बार डांट कब खायी थी? 
जवाब : सांस लेने देती नहीं ,फिर याद कैसे रखूं ! 

ताऊ : कौन से कलर के सैंडल फ़ोकट मे भी नही पहनना चाहेंगी? 
जवाब : लाल...क्यूंकि काले लोगों पर फबता नही :) 

ताऊ : लिपस्टिक का कौन सा कलर आपको आकर्षित करता है? 
जवाब : मर्जेंटा, मैरून 

ताऊ : खुद आप की एक खराब आदत कौन सी है? 
जवाब : रो देती हूँ बार-बार .. इमोशनल बहुत हूँ !! 

ताऊ : अपने मुंह मियामिठ्ठू बनिये 
जवाब : मेरे जैसे कोई मिले तो बताइयेगा :))) 

ताऊ : .ऐसा ब्लागर जिससे आपको जलन होती हो और क्यों? 
जवाब : ताऊ जी...जिनको सारे ब्लागर्स इतना प्यार करते हैं... 

ताऊ : ऐसा कोई गीत, जिसकी हीरोईन आप अपने आपको समझने लगती हों? 
जवाब : दिल अपना और प्रीत पराई किसने है ये रीत बनायीं... 

ताऊ : ऐसा एक शब्द जिससे आप को चिढ आ जाती हो ? 
जवाब : धोखा 

ताऊ : पसंदीदा फ़िल्म अभिनेता और अभिनेत्री? 
जवाब : अमिताभ जी ,मधुबाला 

ताऊ : पसंदीदा ब्लागर? 
जवाब : नई - नई हूँ ,पढना सबको बहुत अच्छा लग रहा है ... सबको प्यार स्नेह करती हूँ , ब्लॉग जगत  की बहुत समझ नही..कोई कमेन्ट करके चला जाता है तो उनके वाल पर उनके नाम के सहारे चली जाती हूँ और उनके लिखे को पढ़कर विस्मित हो जाती हूँ..कितना सुन्दर सभी लिखते हैं... 

ताऊ : फ़ेवरिट गायक 
जवाब : किशोर कुमार ,जगजीत सिंह 

ताऊ: पसंदीदा लेखक 
जवाब : अमृता जी , मुक्तिबोध जी 

ताऊ : ब्लागर ताऊ की इमेज आपके दिमाग में क्या है? 
जवाब : असाधारण इंसान...जो प्यार खुशियाँ बांटते और बंटवाते चल रहे हैं...ताऊ जी के ब्लॉग पर आकर खुद को भूलना हो जाता है और बस एक चलचित्र आँखों के सामने चलने लगती हैं जहाँ हंसी का फौवारा निकलता है . 
सवाल : जिंदगी का कौन सा दिन एक बार फ़िर से जीना चाहेंगी? 
जवाब - बचपन में गर्मियों की छुट्टी का एक महीना ,जब माँ पापा के पास जाकर राजकुमारी हो जाती थी ! 

ताऊ : तो धन्यवाद वसुंधरा जी ..अब फ़टाफ़ट राऊंड के लिये तैयार हो जाईये. रामप्यारी तैयार है अपने सवाल दागने के लिये..... ठीक है? 
वसुंधरा पांडे - जी ताऊ, मैं तैयार हूं... 

     अब रामप्यारी का फ़टाफ़ट राऊंड शुरु होता है.    
      

रामप्यारी : हां तो वसुंधरा आंटी...आप तैयार हैं फ़टाफ़ट खेलने के लिये? 
वसुंधरा पांडे - हां रामप्यारी मैं तैयार हूं...सवाल बोल.... 

रामप्यारी - बताईये कि आपको क्या पसंद है? – क्लीन शेव्ड या मूंछ वाला? 
जवाब : इ कौन खेत का पैदावार है ... ? 

रामप्यारी - हिल स्टेशन या समुद्र तट? 
जवाब : समुन्द्र तट 

रामप्यारी - ट्रेन का सफ़र, बस का सफ़र या हवाईजहाज का? 
जवाब : ट्रेन का... 

रामप्यारी - पुस्तक पढना या फ़िल्म देखना? 
जवाब : पुस्तक पढ़ना ! 

रामप्यारी - सलमान खान या आमिर खान? 
जवाब : दोनों में कोई नही... 

रामप्यारी - कैटरीना कैफ़ या करीना कपूर? 
जवाब : ये दोनों भी कभी नहीं भायीं ! 

रामप्यारी - कारों में हैचबैक या सेडोन? 
जवाब : सोच रही हूँ नैनो खरीद लूँ पर जेब अलाऊ नहीं करता :) 

रामप्यारी - साडी या जीन्स? 
जवाब : साड़ी...साड़ी...साड़ी ! 

रामप्यारी - मिरिंडा, पेप्सी या रूहफ़्जा? 
जवाब : जो रूह तक जाये...''रूहफ़्जा''

रामप्यारी - गांव या शहर?
जवाब : दोनों... दोनों में सबसे ज्यादे गाँव !

रामप्यारी - लैंड लाईन या मोबाईल
जवाब : चाहती तो कुछ भी नहीं... 'नींद ''मेरी कमजोरी है ... पर मज़बूरी है रखना...तो ...मोबाईल !

रामप्यारी - स्प्लिट एसी या विंडो एसी
जवाब : स्प्लिट एसी

रामप्यारी - लेप टोप या डेस्कटोप
जवाब : लैप टॉप..

रामप्यारी – ब्लेक एंड व्हाईट फ़ोटो या कलर फ़ोटो
जवाब : दोनों

रामप्यारी - ज्वाईंट फ़मिली या न्युक्लियर फ़ेमेली?
जवाब : स्नेह प्यार से रहें तो ज्वाईंट ,वरना.. न्यूक्लियर !

रामप्यारी - कांच की चूडियां या मेटल की?
जवाब : कांच की... हरी हो तो क्या कहने...

रामप्यारी - शिफ़ोन की साडी या काटन की?
जवाब : दोनों...मौसम के हिसाब से !

रामप्यारी - चश्मा या कांटेक्ट लैंस?
जवाब : पसंद कुछ भी नही ... पर उम्र ने दस्तक दी है तो चश्मा ही लुंगी !

रामप्यारी - नौकरी या हाऊस वाईफ़?
जवाब : पसंद दोनों है..पर हाउस वाईफ की बात ही निराली है !

रामप्यारी - प्यार शादी के पहले या बाद?
जवाब : प्यार जब हो जाए... प्यार हर उम्र का बसंत है !

रामप्यारी - ताऊ की बकबक या रामप्यारी की चकचक?
जवाब : ताऊ जी की बकबक ....रामप्यारी सी चकचक तो मैं भी कर रही हूँ ... :)

रामप्यारी - धन्यवाद वसुंधरा आंटी, आपने तो बहुत ही मजेदार जवाब दिये.....आभार आपका, अब आपको मैं हां या ना राऊंड के लिये रामप्यारे  के हवाले करती हूं....
वसुंधरा पाण्डेय - ठीक है रामप्यारी, चल अब रामप्यारे से भी निपटते हैं....

हां या ना राऊंड विद रामप्यारे


रामप्यारे - नमस्कार वसुंधरा जी, कैसी हैं आप?
वसुंधरा पाण्डेय - मैं तो ठीक हूं रामप्यारे......तुम कैसे हो?

रामप्यारे - मैं ठीक हूं....अब सवाल शुरू करते हैं
वसुंधरा पाण्डेय - ठीक है करो सवाल...

सवाल - सपने में कोई हीरो दिखा?
जवाब - हाँ...शक्तिमान !

सवाल - कभी भूत से सामना हुआ?
जवाब - हुआ..पर मुझे देख कर भाग गया !

सवाल - प्यार से पति को क्या कह कर बुलाती है ?
जवाब – ऐ जी !

सवाल - पति से सबसे अधिक झगडा कब हुआ?
जवाब –एक हाथ से ताली थोड़ी बजती है...वो बोलते ही नही

सवाल - शीशे के सामने अपने से क्या सवाल करती हैं?
जवाब – क्या मैं सबकी अपेक्षाओं पर खरी उतर पाती हूँ..?

सवाल - राह चलते कभी किसी शोहदे ने बदतमीजी की?
जवाब -हाँ ...जब बीए फ़स्ट इयर की छात्रा थी ,एन एस एस के तहत सामने इंटर कालेज बॉय लोगों का था उसी में पौध रोपण कार्यक्रम चल रहा था ,पौधा लगाते समय किसी लड़के ने फिकरी कसा था...पौधा तुम सब लगा रही हो तो पानी कौन देगा ,,, मेरा जबाब था...भईया आप लोग किस लिए हो...

सवाल - सपने में कभी भगवान दिखे?
जवाब – हर पल साथ रहते हैं सपनो में क्यूँ आयेंगे... :)

सवाल - क्या किसी शोप ओपेरा (टीवी सीरियलों) की नियमित दर्शक हैं?
जवाब - टीवी देखे दो -दो ,चार-चार महीना बीत जाता है...

सवाल - कोई ऐसी घटना जिसका आपको आज भी दर्द हो?
जवाब – हाँ..बहुत दर्द है...अपने से छोटे भाई का अंतिम दर्शन नही कर पायी... जिसके साथ हमें बुखार होता था...जिसके साथ साथ चेचक निकलती थी या कोई भी बिमारी एक को हो तो दुसरे को भी हो जाती थी......

सवाल - घर में सुरक्षा के लिये बेलन को उपयोगी मानती हैं?
जवाब –:) घरवाले बता सकेंगे...

सवाल - साक्षात भगवान आकर आपसे कोई एक वरदान मांगने को पूछें तो क्या मांगेगी?
जवाब – विश्व का कल्याण हो...

सवाल - प्याज के बारे में क्या कहेंगी?
जवाब - नाम से ही आंसू आ गये....शायद सासू माँ बहुत मानती हैं मुझे :)

सवाल - घडी की टिक टिक?
जवाब - अजीब है ये...ना खुद टिकती है और ना ही किसी को टिकने देती है.

सवाल : पसंदीदा खाना?
जवाब - ठेठ मेरी भाषा में ....अरहर (तुअर) की दाल भात और आलू  प्याज की भुजिया ,भिन्डी की भुजिया रोटी, आहा हा हा ...जितना भी खाती हूँ मन कभी नही भरता... :)

सवाल : मीठे में क्या पसंद है?
जवाब - 'गुलाब जामुन ' इसी लिए तो बहुत मीठा बोलती हूँ :)

सवाल : किसी का झगडा हो जाये तो आग में घी डालेंगी या पानी?
जवाब - ...पानी ....भई एक हजार लीटर की टंकी भरके रखती हूँ...अपन की आदत है बस ...प्यार दो ..प्यार दो...बदले में प्यार मिले ना मिले...

सवाल : ब्लागिंग को कितना समय देती हैं?
जवाब - जब भी आती हूँ नेट पर ब्लॉग खुलता ही खुलता है...समझ आये या ना आये :)

सवाल : एक्सरसाईज नियमित करती हैं या नही?
जवाब - हे भगवान् आप कैसा प्रश्न ले बैठे......एक्सरसाईज करुँगी तो मोटी कैसे हो पाऊँगी :)

सवाल : पसंदीदा परफ़्य़ूम?
जवाब - वैसे तो मैं खुद ही महकती रहती हूँ... :) पर घरवाले गिफ्ट दे देते हैं तो 'D&G'

सवाल : आपके घर में चोर घुस आया तो क्या करेंगी? चुपचाप चाबी सौंप देंगी या बेलन उठायेंगी?
जवाब -राम -राम ...मरना किसे मंजूर...तेरह सालों से मौत मुझपर हॉबी है और मैं उसे मात दे रही हूँ...
भईया चोर राम ये चाभी ले और जितना मन हो सब सामान उठा ले जा...पर जान ना ले ...

तो दोस्तों यह थी ताऊ,  रामप्यारी और रामप्यारे  के साथ  वसुंधरा पाण्डेय   की दो और दो पांच.... 

अगली बार  हम किसी और ब्लाग सेलेब्रीटी के साथ खेलेंगे दो और दो पांच....तब तक मस्त रहिये.

66 comments:

  1. बसुंधरा जी ने बहुत ही बेबाकी से हर सवालों के जवाब दिए...... जन्माष्टमी की बहुत बहुत बधाई ....

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको भी बहुत बहुत बधाई रंजना जी
      धन्यवाद मेरी भी चकचक को भी आपके कानो ने सहा :)))

      Delete
  2. ताऊ जी प्रणाम !!
    धन्यवाद ...रामप्यारी :)
    ये तो मैं बहुत सुन्दर दिख रही हूँ ...रामप्यारे ने इतनी प्यारी तस्वीर ले ली मेरी...वाह ..शुकुरिया रामप्यारे जी .:))

    ReplyDelete
  3. जे बात ताऊ श्री मजवा आई गवा इ तपती दोपहरिया में इहाँ आई के... एक बात कहें इ रूहआफ्जवा बचा बा का तनिक भिजवा दीजिये. जय हो बहुत खूबसूरत लगे रहें यूँ ही आनंदित करते रहें ताऊ श्री जय हो आपकी.

    ReplyDelete
    Replies
    1. हुंह....अरुण.....ताउजी बस याद रहे यहाँ....

      अरे इतना चकचक मैंने किया
      मेरा नाम एक बार भी ना लिया :(

      रूहआफ्जवा बचता कहाँ से...तीन तीन लोग सिर पर सवार रहे...गला सुखले जाई रहा था....मैं जबाब दे दे के पिए जा रही थी...कहो तो बोतल पडा है पनिया भरी के लेई आयुं :)))

      Delete
  4. ताऊ जी एक सवाल और मेरे तरफ से भगवान् वाली...
    अगर भगवान् जी आकर कहें एक वरदान और मांग लो ...तो ....यही मांगती की इस छुपे रुस्तम ,यारे -प्यारे ताऊ जी का असली चेहरे का दर्शन हो जाये...
    कभी ऐसा भी चमत्कार कर दीजिये ताऊ जी !

    ReplyDelete
  5. हल्दी राम के भुजिया या फिर चौखा या फिर मूडीझाला सारे स्वाद मिल गये इस २+२ =५ में ..धन्यवाद !

    ReplyDelete
  6. अब देखना यह है कि ताऊ से बचता कौन है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. बाख के कोई जाएगा कहाँ...ब्लॉग जगत में रहना है या नहीं :))

      Delete
  7. डालर २५ रूपये में ...
    वाह !

    ReplyDelete
    Replies
    1. सपना देख रही थी मैं सतीश जी :) काश ऐसा होता....

      Delete
  8. वसुंधरा जी नें सुन्दर जबाब दिए !!

    ReplyDelete
  9. बहुत बढ़िया! जटिल प्रश्नों के सरल उत्तर देना भी एक कला है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. अनुराग जी...मस्त सवालों के मनमौजी जबाब :)

      Delete
  10. सवाल - सपने में कभी भगवान दिखे?
    जवाब – हर पल साथ रहते हैं सपनो में क्यूँ आयेंगे... :)

    बहुत सुन्दर जवाब वसु...
    सभी जवाब रोचक..
    शुक्रिया तुम्हारा
    और ताऊ सा आपका भी.

    सादर
    अनु

    ReplyDelete
    Replies
    1. अनु...प्यारी अनु...मेरे मन के बहुत करीब है ये जबाब ...समझने के लिए शुक्रिया सखी !

      Delete
  11. वसुंधरा जी के जबाब तो बहुत ही लाजवाब रहें |
    ************
    २ उत्तर खास रूप से अच्छे लगे ..{थोड़े इमोशनल भी }
    ***********
    ताऊ : ब्लागर ताऊ की इमेज आपके दिमाग में क्या है?
    जवाब : असाधारण इंसान...जो प्यार खुशियाँ बांटते और बंटवाते चल रहे हैं...ताऊ जी के ब्लॉग पर आकर खुद को भूलना हो जाता है और बस एक चलचित्र आँखों के सामने चलने लगती हैं जहाँ हंसी का फौवारा निकलता है .
    सवाल : जिंदगी का कौन सा दिन एक बार फ़िर से जीना चाहेंगी?
    जवाब - बचपन में गर्मियों की छुट्टी का एक महीना ,जब माँ पापा के पास जाकर राजकुमारी हो जाती थी !

    ReplyDelete
    Replies
    1. सही कहे आप अजय जी ..
      ये दोनों जबाब इमोशनल हैं...जब भी पढ़ रहीं कोरे भींग जा रहे हैं...आभार...धन्यवाद !!

      Delete
  12. वाह बहुत बढिया बेपाक जवाब..बसुंधरा जी..आप सभी को जन्माष्टमी की बहुत बहुत शुभकामनाएं....

    ReplyDelete
    Replies
    1. आदरणीय माहेश्वरी जी...शुक्रिया..
      आपको भी जन्माष्टमी की बहुत बधाई !!

      Delete
  13. जवाब -राम -राम ...मरना किसे मंजूर...तेरह सालों से मौत मुझपर हॉबी है और मैं उसे मात दे रही हूँ...
    भईया चोर राम ये चाभी ले और जितना मन हो सब सामान उठा ले जा...पर जान ना ले ...



    वाह क्या बात है ज़ज्बा हो तो ऐसा ..........मज़ा आ गया पोस्ट पढ़ कर
    राम राम

    ReplyDelete
    Replies
    1. अनु जी ...सच्ची बात है ये सो दंगई के काम भी आ सकता है न :))

      Delete
  14. वसुंधरा जी से पहली बार परिचय हुआ.
    बहुत ही रोचक जवाब दिए हैं .
    फिकरे कसने वाले को अच्छा जवाब दिया :).

    परिचय मिल गया है तो अब आप के ब्लॉग पर आप की कविताएँ
    पढने जा रही हूँ.

    ReplyDelete
    Replies
    1. अल्पना जी शुक्रिया...
      आपसे जुड़ कर बहुत बढियां लगा...शुक्रिया ताऊ जी को भी..मित्रों से मिलवाने हेतु...!!

      Delete
  15. आभार रामप्यारी वसुंधरा जी से परिचय करवाने का !
    ताऊ : आपसे सबसे ज्यादा दुखी कौन है?
    जवाब : पति
    कुछ जवाब दोनों पक्षों की ओर से एक जैसे ही आ रहे है :)
    पति पत्नी भी टॉम एंड जेरी जैसे लगते है !

    ReplyDelete
    Replies
    1. सच कहीं आप सुमन जी...पति पत्नी का रिश्ता टॉम ऐंड जेरी वाला ही होता है...

      बातें उनकी सहा न जाए
      उनके बिन रहा न जाए... :)

      हार्दिक आभार आपको !

      Delete
  16. सवाल - राह चलते कभी किसी शोहदे ने बदतमीजी की?
    जवाब -हाँ ...जब बीए फ़स्ट इयर की छात्रा थी ,एन एस एस के तहत सामने इंटर कालेज बॉय लोगों का था उसी में पौध रोपण कार्यक्रम चल रहा था ,पौधा लगाते समय किसी लड़के ने फिकरी कसा था...पौधा तुम सब लगा रही हो तो पानी कौन देगा ,,, मेरा जबाब था...भईया आप लोग किस लिए हो...
    मस्त है यह जवाब !

    ReplyDelete
  17. रोचक और सराहनीय जवाब...... बहुत बढ़िया

    ReplyDelete
    Replies
    1. हार्दिक आभार मोनिका जी ..!!

      Delete
  18. वाह !!! बसुन्धरा जी आपने बहुत मजेदार रोचक जबाब दिए,,,बधाई

    RECENT POST : पाँच( दोहे )

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद धीरेन्द्र जी,आभार !!

      Delete
  19. वाह ताऊ ,,जे बात ..छा रिया है ताऊ चैनल :) राम प्यारी और रामप्यारे तो घणे एक्स्पर्ट बणे जा रिए हैं ताऊ । वसुंधरा जी ने भी ठोंक ठोंक से सारे जवाब दे डाले । जय हो

    ReplyDelete
  20. ताऊ : पसंदीदा ब्लागर?
    जवाब : नई - नई हूँ ,पढना सबको बहुत अच्छा लग रहा है ... सबको प्यार स्नेह करती हूँ , ब्लॉग जगत की बहुत समझ नही..कोई कमेन्ट करके चला जाता है तो उनके वाल पर उनके नाम के सहारे चली जाती हूँ और उनके लिखे को पढ़कर विस्मित हो जाती हूँ..कितना सुन्दर सभी लिखते हैं...
    bahut hee sundar bhaw ke saath kaha aapne Vasundharajee .sach hai

    ReplyDelete
    Replies
    1. आभार सेहर जी ! आप मेरे मन के भावों के साथ जुड़ीं !

      Delete
  21. वसुंधरा जी ,आपसे मिलकर अच्छा लगा..

    ReplyDelete
  22. @सवाल : पसंदीदा खाना?
    जवाब - ठेठ मेरी भाषा में ....अरहर (तुअर) की दाल भात और आलू प्याज की भुजिया ,भिन्डी की भुजिया रोटी, आहा हा हा ...जितना भी खाती हूँ मन कभी नही भरता... :)
    ये तो मेरी भी पसंद है , बस प्याज की भुजिया नहीं , लेकिन भात छोड़ना पड़ा मोटापे ने छोड़ने पर मजबूर कर दिया , सो रोटी के साथ खा लेती हूँ । भात तो आसानी से छुट गया लकिन ये आलू की भुजिया नहीं छुट रहा है , और मोटी हो जाउंगी का जाप करते हुई भी आलू की भुजिया खा जाती हूँ :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. आहा हा हा हा हा ...आज क्या याद दिला दीं आप अंशुमाला जी ..आज तो बरतवे है न ...अब सोच के ना टूट जाए ..कान्हा मेरे माफ़ करना ...दाल भात भुजिया याद कर रही हूँ :)))

      मोटापे के लिए इधर भी डांट पड़ती है..पर कुछ आदतें नही छूटती ...जैसे भात...तेरह साल से मना है भात दही वगैरह...खैर दही तो पसंद नही पर भात और आलू तो मरके ही छूटना है इधर :)
      पर ये आपकी जाप ..जाप बस रहे...कुछ नही होता...खाइए पीजिये मस्त रहिये मुझ जैसे .. :)

      Delete
  23. सोच रही हूँ नैनो खरीद लूँ पर जेब अलाऊ नहीं करता :)
    हा हा हा ! पतिदेव की ज़ेब किस लिए है जी !

    सुन्दर , दिलचस्प ज़वाब।

    ReplyDelete
    Replies
    1. दराल साहब सही कहे आप...ये तो मैंने सोचा ही नही...:))
      आज हीं सेंध लगाती हूँ .......

      Delete
  24. ताऊ : आपसे सबसे ज्यादा दुखी कौन है?
    जवाब : पति

    अकाट्य सत्य...इसी में सभी पतियों का दर्द छुपा है...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
    Replies
    1. ओहो हो हो...च च च ....कितना दर्द भरा पडा है इन पति ''बेदर्दों ''के दिल में.. :))

      Delete
  25. सवाल - प्यार से पति को क्या कह कर बुलाती है ?
    जवाब – ऐ जी !

    इस जवाब की संदर्भ सहित व्याख्या मेरे साक्षाक्राप वाली पोस्ट पर हो चुकी है...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  26. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल - बृहस्पतिवार- 29/08/2013 को
    हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः8 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया आप भी पधारें, सादर .... Darshan jangra

    ReplyDelete
  27. बहुत सुन्दर प्रस्तुति.. आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि आपकी पोस्ट हिंदी ब्लॉग समूह में सामिल की गयी और आप की इस प्रविष्टि की चर्चा कल - बृहस्पतिवार- 29/08/2013 को
    हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः8 पर लिंक की गयी है , ताकि अधिक से अधिक लोग आपकी रचना पढ़ सकें . कृपया आप भी पधारें, सादर .... Darshan jangra

    ReplyDelete
  28. ताऊ : चलिये आपको और अतिरिक्त समय देते हैं...जरा सोच के सुनाईये...जिससे ताऊ टीवी के दर्शक भी आपके चुटकले प्रेम का लोहा मान सकें...
    जवाब : (कुछ देर सोचकर...) ओह हां...याद आया, आज डालर का रेट 25 रूपया हो गया..

    शुक्र है ये चुटकला है मेरी तो जान सांसत में आ गई थी ... गश खा के गिर जाता ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. नासवा साब ...डालर कमाने वालो के लिए चक्कर तो दिलाइये देगा....अब हम सब जो भुगत रहे हैं उसकी भरपाई कौन करे साब :))

      मेरा भाई भी यही बात बोला की क्या चाहती है ,,ऐसा सपना मत देख ...मैंने कहा सपना इतना का है की डालर अब ४५ हो ही जाए ...कहा की इस महीने का पेमेंट आ जाने दे :)

      Delete
  29. पति तो बेचारा ऐसा जीव है तो दुखी हो के भी हंसता रहता है ... उसे ऐसा करना पड़ता है वसुंधरा जी ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. ओह हो हो ...बेचारे पति....
      पत्निया कितनी बदनाम हैं...

      टॉम और जेरी का झगडा कभी ख़त्म नही होने का....

      Delete
  30. सवाल - पति से सबसे अधिक झगडा कब हुआ?
    जवाब –एक हाथ से ताली थोड़ी बजती है...वो बोलते ही नही

    - आप तो सही किस्मतवाली हैं।

    ReplyDelete
  31. बप्पा रे ... ई तो खोपडिया घुमाय दिए बहिनी .... ई तो दुग्गी पे एक्का मारे जैसन हुई गवा - कुछ रसगुल्ला, कुछ मिर्चा और कुछ करईला जैसन, दू-एक गो रेवंसा कै दाना जैसन भी रहा ... बहुत खूब जवाब दिया आपने वासु जी <3 .... हर सवाल का 'मरात्तोक' जवाब - बिदेशी भाषा में कहैं तो Hats Off

    ReplyDelete
  32. बप्पा रे ... ई तो खोपडिया घुमाय दिए बहिनी .... ई तो दुग्गी पे एक्का मारे जैसन हुई गवा - कुछ रसगुल्ला, कुछ मिर्चा और कुछ करईला जैसन, दू-एक गो रेवंसा कै दाना जैसन भी रहा ... बहुत खूब जवाब दिया आपने वासु जी <3 .... हर सवाल का 'मरात्तोक' जवाब - बिदेशी भाषा में कहैं तो Hats Off

    ReplyDelete
    Replies
    1. :)
      अब शांत हुआ खोपडिया या नहीं चन्दा :)

      Delete
  33. ताऊ के ब्लॉग पर नए लोगों से परिचय भी हो रहा है .... नया मतलब जिन तक अभी हम पहुँच नहीं पाये थे .... वसुंधरा जी से मिल कर अच्छा लगा .... साक्षात्कार से ज्यादा मज़ेदार टिप्पणियों पर जवाब लगे .... आभार ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. संगीता जी आभार..मुझे भी आपसे मिलकर बहुत प्रसन्नता हुयी...स्नेह के लिए धन्यवाद बहुत बहुत !

      Delete