Powered by Blogger.

दो और दो पांच में विजय सप्पाति

रामप्यारी ने आजकल ताऊ टीवी का काम संभालना शुरू कर दिया है. उसी की पहल पर ब्लाग सेलेब्रीटीज से "दो और दो पांच" खेलने का यह प्रोग्राम शुरू किया गया है. दो और दो पांच में, ब्लॉग सेलिब्रिटीज  से निवेदन है कि वे सवाल के जवाब कुछ चटपटे रखें ताकि ब्लोगर साथियों का मनोरंजन भी हो , इस प्रोग्राम का मकसद  सिर्फ़  हंसना हंसाना सीखना है. प्रतिभागियों  द्वारा दिये गये जवाबों का  गंभीर या वास्तविक  अर्थ निकालने की कोशिश न करे और हलके फुल्के मजाक का आनंद लें !   यानि सिर्फ़ और सिर्फ़   मनोरंजन......... 
ब्लाग सेलेब्रीटीज को रूबरू पकडना बहुत ही मुश्किल होता है, नेट पर तो जब चाहे तब पकड लिजीये.....पर रामप्यारी भी कोई कम नही है.  रामप्यारी  अब तक 2 + 2 = 5 का खेल चुकी है सतीश सक्सेना  ,  हरकीरत ’हीर’ ,  काजल कुमार ,  संगीता स्वरूप  (गीत) , अरविंद मिश्र  ,  वंदना गुप्ता  ,   खुशदीप सहगल  ,   सुमन ,  डा. दराल ,प्रवीण पाण्डेय और वाणी शर्मा के  साथ.   और आज रामप्यारी हैदराबाद के  चार मीनार इलाके में घूम रही थी कि  उसके हत्थे चढ गये  विजय सप्पाति.... जिन्हें वो ले आयी सीधे ताऊ टीवी के स्टूडियो में और शुरू हो गया दो और दो पांच का खेल...अब  बिना ब्रेक  देखिये अटपटे सवालों के चटपटे जवाब... सीधे...ताऊ, रामप्यारी और रामप्यारे  की विजय सप्पाति से   दो और दो पांच.....


ताऊ और रामप्यारी के साथ "दो और दो पांच" खेलते विजय सप्पाति
(कैमरामैन - रामप्यारे)

                                                      सवाल ताऊ के जवाब विजय सप्पाति के यानि 2 + 2 =5


ताऊ : आपसे सबसे ज्यादा दुखी कौन है?
जवाब : सारे ब्लॉगर !

ताऊ. आप आखिरी बार कब रोये थे?
जवाब : जब भी मुझे कमेंट नहीं मिलता है , मैं रो लेता हूँ .

ताऊ : आखिरी बार कब हंसे थे?
जवाब : अभी अभी ..अपने आपको आईने में देखकर .

ताऊ : कल रात को आपने कौन सी सब्जी खायी थी?
जवाब : कल पत्नी ने खाना नहीं बनाया [ हमेशा की तरह ]

ताऊ : आपकी किस आदत से आपकी पत्नि ज्यादा परेशान है?
जवाब : मेरे लिखने –पढने की आदत से .

ताऊ. : कौन सा ट्रेफ़िक रुल आप सबसे ज्यादा तोडते हैं?
जवाब : सिग्नल तोड़कर भागना .

ताऊ. : अगले जन्म मे आप क्या बनना चाहेंगे?
जवाब : ह्म्म्मम्म्म्म . एक छोटी सी जगह में किसान !

ताऊ : एक चुटकला सुनाइये.
जवाब : जिस दिन मैंने लिखने का फैसला कर लिया , हिंदी साहित्य के आधे लोगो ने आत्महत्या कर ली .

ताऊ : अढाई और पोने चार कितने होते हैं?
जवाब : अढाई ये क्या होता है  वैसे आप जो भी दे दो ,. मैं ले लूँगा . हिसाब किताब में क्या रखा है .

ताऊ : धर्मपत्नि से आखिरी बार डांट कब खायी थी?
जवाब : बस अभी , खा ही रहा हूँ , ये एक निरंतर प्रक्रिया है.

ताऊ : कौन से कलर के जूते फ़ोकट मे भी नही पहनना चाहेंगे?
जवाब : हम्म सफ़ेद कलर के .. उन्हें पहनने  के बाद खुद को भूत समझने लगता हूँ या फिर जीतेन्द्र .

ताऊ : लिपस्टिक का कौन सा कलर आपको आकर्षित करता है?
जवाब : अब जो भी मिल जाए.

ताऊ : खुद अपने आप की एक खराब आदत कौन सी है?
जवाब : ब्लॉग्गिंग की ,.

ताऊ : अपने मुंह मियामिठ्ठू बनिये
जवाब : आहा . ये तो मेरा पंसंदीदा काम है . मेरे जैसे ब्लॉगरों के इस सदी में  जीवित रहने तक पैदा  नहीं होंगा .
ताऊ : .ऐसा ब्लागर जिससे आपको जलन होती हो और क्यों?
जवाब : नहीं नहीं , ऐसा कोई नहीं है जिससे मैं जलु . हाँ कभी कभी ताऊ की लोकप्रियता से थोड़ी सी जलन होती है .

ताऊ : ऐसा गाना, जिसका हीरो आप अपने आपको समझने लगते हों?
जवाब : ये दिल न होता बेचारा ....

ताऊ : वे हसरतें जो अधूरी रह गयीं?
जवाब – हाय रे , ये क्या पूछ लिया . हज्जार हसरते रह गयी , जितने भी निकले , कम निकले .. सोचता हूँ हिंदी साहित्य में एक बड़ा नाम बन जाऊं नहीं तो कम से कम हिन्ढी ब्लॉग्गिंग में ही.. ..

ताऊ : आपको एक दिन के लिये बच्चा बना दें तो क्या करना चाहोगे?
जवाब - खूब खेलूँगा , बचपन के खिलौने

ताऊ : सबसे बढ़िया बीता समय कौन सा था?
जवाब – बचपन

ताऊ : सबसे घटिया समय?
जवाब – अभी का ..

ताऊ : दुश्मन को कोई संदेश देना चाहेंगे?
जवाब – सावधान , मैं यही रहूँगा , ब्लॉग्गिंग का बॉस बनकर.

ताऊ – दोस्त के लिये कोई संदेश?
जवाब – भैये , खुश रहो , मुझसे कोई खतरा नहीं है .

ताऊ : अपने जीवन साथी से कुछ कहना चाहेंगे जो आप रूबरू ना कह सके हों?
जवाब : तुम आखिर मुझे कितना सतावोगी .. बच्चे की जान लोगी क्या?

ताऊ : ऐसा एक शब्द जिससे आप चिढ जाओ?
जवाब : नहीं ,.

ताऊ : पसंदीदा अभिनेत्री?
जवाब : रेखा

ताऊ : पसंदीदा ब्लागर?
जवाब : मैं

ताऊ : फ़ेवरिट गायक
जवाब :मैं और किशोर कुमार

ताऊ: पसंदीदा लेखक
जवाब : मैं और सिर्फ मैं

ताऊ : ब्लागर ताऊ की इमेज आपके दिमाग में क्या है?
जवाब : ताऊ एक ग्रेट बंदा है , सेल्फ कॉमेडी में महारत हासिल है , क्लीन और ग्रीन कॉमेडी में टॉप पर है . ब्लॉग्गिंग जब मरने लगती है तो ताऊ जी आकर उसमे प्राण फूंक देते है .

ताऊ : ब्लागर्स के लिये कोई मेसेज देना चाहेंगे?
जवाब – लिखते रहो और पढ़ते रहो.

ताऊ : आपकी पसंद के 10 टाप ब्लाग्स बिना किसी वरीयता क्रम के?
जवाब – मेरे अपने ही ब्लोग्स है ... किसी और का नाम लूँगा तो दूसरा कोई नाराज हो जायेंगा .

ताऊ : तो धन्यवाद विजय जी ..अब फ़टाफ़ट राऊंड के लिये तैयार हो जाईये. रामप्यारी तैयार है अपने सवाल दागने के लिये..... ठीक है?
विजय सप्पाति : ठीक है ताऊ . मैं तैयार हूं.

ताऊ : तो धन्यवाद विजय जी ..अब फ़टाफ़ट राऊंड के लिये तैयार हो जाईये. रामप्यारी तैयार है अपने सवाल दागने के लिये..... ठीक है?  
विजय सप्पाति  :  ठीक है ताऊ . मैं तैयार हूं.

अब रामप्यारी का फ़टाफ़ट राऊंड शुरु होता है.    
      

रामप्यारी : हां तो विजय  अंकल...आप तैयार हैं फ़टाफ़ट खेलने के लिये?
जवाब - बिल्कुल.....

रामप्यारी :  बताईये कि आपको क्या पसंद है? - जीन्स वाली या साडी वाली?
जवाब : कोई भी मिल जाए हम तो मंगतेराम है . भिखारी की   कोई पसंद थोडे ही होती है?

रामप्यारी - हिल स्टेशन या समुद्र तट?
जवाब : दोनों जगह .मौसम के अनुसार !!!

रामप्यारी - ट्रेन का सफ़र, बस का सफ़र या हवाईजहाज का?
जवाब : कोई भी , जो भी मंजिल तक पहुंचा दे.

रामप्यारी - पुस्तक पढना या फ़िल्म देखना?
जवाब : दोनों , पर दोनों का अपना आनंद है .

रामप्यारी - सलमान खान या आमिर खान?
जवाब : सिर्फ मैं

रामप्यारी - कैटरीना कैफ़ या करीना कपूर?
जवाब : अब नाम लूँगा तो मार पडेगी .. इस सवाल को पास... यानि इच्छा होते हुये भी जवाब नही देना चाहता.

रामप्यारी - कारों में हैचबैक या सेडोन?
जवाब : सेडान

रामप्यारी - मेक अप वाली या बिना मेक अप वाली
जवाब : बिना मेकअप

रामप्यारी - मिरिंडा, पेप्सी या रूहफ़्जा?
जवाब : रूह आफजा

रामप्यारी - गांव या शहर
जवाब : गावं

रामप्यारी - लैंड लाईन या मोबाईल
जवाब : लैंड लाइन

रामप्यारी - स्प्लिट एसी या विंडो एसी
जवाब :स्पिल्ट एसी

रामप्यारी - लेप टोप या डेस्कटोप
जवाब : डेस्कटोप

रामप्यारी - ब्लेक व्हाईट फ़ोटो या कलर फ़ोटो
जवाब : ब्लैक एंड वाइट

रामप्यारी - ज्वाईंट फ़मिली या न्युक्लियर फ़ेमिली?
जवाब : जॉइंट फॅमिली

रामप्यारी - कांच की चूडियां या मेटल की?
जवाब : कांच की

रामप्यारी - शिफ़ोन की साडी या काटन की?
जवाब : काटन की

रामप्यारी - चश्मा या कांटेक्ट लैंस?
जवाब : चश्मा

रामप्यारी - नौकरी या बिजनैस?
जवाब : दोनों

रामप्यारी - प्यार शादी के पहले या बाद?
जवाब : हमेशा

रामप्यारी - ताऊ की बकबक या रामप्यारी की चकचक?
जवाब : दोनों

रामप्यारी - विजय अंकल, आपने तो बहुत ही मजेदार जवाब दिये.....आभार आपका, अब आपको मैं हां या ना राऊंड के लिये रामप्यारे  के हवाले करती हूं....
विजय सप्पाति - ठीक है रामप्यारी, जो तेरी इच्छा....

हां या ना राऊंड विद रामप्यारे


रामप्यारे - नमस्कार विजय जी, कैसे हैं आप?
विजय सप्पाति - मैं ठीक हूं रामप्यारे...सवाल शुरू करो... मैं जवाब देने के लिये मेरे सब्र का बांध टूट रहा है.

सवाल - क्या आप की पत्नी आज भी आप को लल्लू और पप्पू बुलाती है?
जवाब -  हाँ [ कभी कभी इससे ज्यादा भी कहती है लेकिन वो मैं पब्लिक को बता नहीं सकता हूँ न   ]

सवाल- बॉस के घर सुबह दूध पहुँचाना बंद कर दिया?
जवाब - ना  [ बल्कि अब शाम को सब्जियां भी पहुंचा आता हूँ ]

सवाल - पडोसी की पत्नी आज भी खुबसूरत दिखती है आप को?
जवाब -  हाँ भई हां ..

सवाल - दिमाग के डाक्टर से इलाज बंद करा दिया?
जवाब - ना [ बल्कि दो और नए डॉक्टर के पास भी जाना शुरू कर दिया है ]

सवाल - क्या आप के पास दिमाग नहीं है?
जवाब - हां भी और ना भी  [ हां मेरे लिए और ना दुनिया के लिए ]

सवाल - पिताजी आज भी छड़ी से ही पीटते है?
जवाब - ना [ बल्कि मुझे रस्सी से बाधकर लोहे की छड़ी से पीटते है , मैं हूँ ही इस लायक ]

सवाल - शादी से पहले किसी से प्रेम किया था या नही?
जवाब - हां भई हां ... [ किसी से क्या कईयों से प्रेम किया था ]

सवाल - उनसे आज भी मुलाकात होती है या नही?
जवाब - ना [ इस बात  का बहुत दुःख है मुझे ]

रामप्यारे सोचने लगा....लगता है इस बंदे का हाल भी घर जाकर खुशदीप सहगल जैसा ही होने वाला है...सही है दुनियां में कुछ लोग दूसरों से भी कुछ नही सीखते.....

तो दोस्तों यह थी ताऊ,  रामप्यारी और रामप्यारे  के साथ  विजय सप्पाति   की दो और दो पांच.... 

अगली बार  हम किसी और ब्लाग सेलेब्रीटी के साथ खेलेंगे दो और दो पांच....तब तक मस्त रहिये.

52 comments:

  1. जय हो, अच्छा संकेत है, लोग खुल रहे हैं।

    ReplyDelete
    Replies
    1. प्रवीण जी, ताऊ का जादू ही कुछ ऐसा है कि अच्छे अच्छे की बोलती खुल जाती है ... :):):)

      Delete
  2. वाह वाह ताऊ महाराज जी की जय हो .

    धन्य भाग हमारे , जो हम ताऊ के टीवी स्टूडियो में पधारे !
    एक तो ताऊ और ऊपर से रामप्यारी और रामप्यारे !!

    हाय रे हाय , इंटरव्यू के बहाने सारे सच उगलवाए !!!
    अब हमारा जो हाल होंगा , उसकी कल्पना में कांपे जाए !!!

    हाय रे हाय .........हाय रे हाय .........हाय रे हाय ....!!!

    ताऊ ,आपकी कल्पनाशीलता को सलाम , सच में ब्लॉगिंग को नए आयाम मिले है आपके ब्लॉग से और आपकी हंसी से भरी हुई पोस्ट से.

    आप यूँ ही हम सब को अपना प्यार देते रहे .
    आपका
    विजय

    ReplyDelete
  3. ताऊ : दुश्मन को कोई संदेश देना चाहेंगे?
    जवाब – सावधान , मैं यही रहूँगा , ब्लॉग्गिंग का बॉस बनकर.

    विजय भाई, फिर अपना ताऊ क्या यहां भुट्टे भुनने के लिए है...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
    Replies
    1. खुशदीप भाई ,
      ताऊ बिग बॉस है , मैं सिर्फ बॉस बनना चाहता हूँ :) :) :P

      Delete
  4. रामप्यारी : बताईये कि आपको क्या पसंद है? - जीन्स वाली या साडी वाली?
    जवाब : कोई भी मिल जाए हम तो मंगतेराम है . भिखारी की कोई पसंद थोडे ही होती है?

    राम प्यारी मुलाकात कराने की नहीं सिर्फ पसंद की बात कर रही है...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
    Replies
    1. खुशदीप भाई ,
      बात से ही तो बात बनेंगी न ...
      क्या पता , रामप्यारी , कभी किसी से मिला भी दे ....
      भाई इस अंधेर दुनिया में भी चमत्कार होते रहते है :):):) :P

      Delete
  5. रामप्यारी - कैटरीना कैफ़ या करीना कपूर?
    जवाब : अब नाम लूँगा तो मार पडेगी .. इस सवाल को पास... यानि इच्छा होते हुये भी जवाब नही देना चाहता.

    विजय भाई मार तो वैसी भी पड़नी है, फिर दिल की हसरत दिल ही में क्यों रख रहे हैं...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
    Replies
    1. रामप्यारे सोचने लगा....लगता है इस बंदे का हाल भी घर जाकर खुशदीप सहगल जैसा ही होने वाला है...सही है दुनियां में कुछ लोग दूसरों से भी कुछ नही सीखते.....

      लगे रहो विजय भाई...

      जो सहता है, आखिर वही कुछ पाता है...

      जय हिंद...

      Delete
    2. खुशदीप भाई , आप बड़े भाई है ,
      आप से कुछ न कुछ तो सीखना ही है न ..
      आपने सही तो कहा, जो सहता हिया , वही पाता है //// :):):)

      Delete
  6. Replies
    1. दिगंबर जी , यही तो ताऊ का जादू है . :)

      Delete
  7. अच्छे जवाब दिए विजय जी ने और हा और न के जवाबो में खुशदीप जी को अच्छी टक्कर दी है :)
    कार्यक्रम के सीजन ख़त्म होने पर एक एपिसोड केवल सबसे मजेदार जवाबो के विश्लेषण की बनाइएगा , और दूसरा सबसे सीधा सपाट जवाब देने वालो पर :)
    रामप्यारे को कुछ और सवाल जोड़ने के लिए बोलिए :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. अंशुमाला.
      मैं इन सबके सामने बच्चा हूँ :):):): :P
      टक्कर की बात तो बहुत दूर रही .. !

      Delete
  8. सच में लोग मजे लेरहे हैं...

    ReplyDelete
    Replies
    1. महेश्वरी जी
      ज़िन्दगी को सिर्फ खुश रहकर ही जिया जा सकता है न .. और ताऊ इन बातो में उस्ताद है ,

      Delete
  9. Replies
    1. धीरेन्द्र जी , अब क्या संभलना ,
      जब सर ओखली में दे दिया है तो फिर क्या डरना , अब जो हो सो हो , बड़े भाई है न बचा लेंगे .

      Delete
  10. :) बहुत खूबसूरत वार्तालाप, टीवी पे आजकल जैसे लोग अपनी फिल्म के प्रोमो के लिए आते हैं वैसे अब ताऊ के ब्लॉग मे आना पड़ेगा अपने ब्लॉग के प्रोमो के लिए ।

    ReplyDelete
    Replies
    1. राजपूत जी ,
      यही तो ताऊ की खासियत है.

      Delete
  11. हा हा जे नई पूछी कै ग्वारिघाट में दाल गक्कड़ खाई थी कै नई... आज ही विजय जी ने गक्कड़ की याद दिलाई फेसबुक में... बहुत रोचक

    ReplyDelete
    Replies
    1. हा हा , महेंद्र भाई , एक दिन ताऊ को भी ले कर जाईये वहां पर . खूब खिलाईये !

      Delete
  12. जबरदस्त ताऊ ! रामप्यारे नें विजय जी के लिए आफत तो जरुर खड़ी कर दी है !!
    राम राम !!

    ReplyDelete
    Replies
    1. पूरण जी , अब क्या कहे . पहले तो कभी कभी खाना मिल जाता था, अब लगता है . ताऊ के घर के आगे ही बैठना पड़ेंगा !!!

      Delete
  13. ताऊ स्टूडियो की इस पेशकश कों पढ़कर बहुत मज़ा आया |
    "ताऊ : ब्लागर ताऊ की इमेज आपके दिमाग में क्या है?
    जवाब : ताऊ एक ग्रेट बंदा है , सेल्फ कॉमेडी में महारत हासिल है , क्लीन और ग्रीन कॉमेडी में टॉप पर है . ब्लॉग्गिंग जब मरने लगती है तो ताऊ जी आकर उसमे प्राण फूंक देते है ."
    पढ़कर अच्छा लगा |
    नए पोस्ट-“ तेरा एहसान हैं बाबा !{Attitude of Gratitude}"

    ReplyDelete
    Replies
    1. अजय जी , अब क्या करे , झूठ तो मैं बोलता ही नहीं हूँ न .
      अब ताऊ जो है सो है .

      Delete
  14. बेहतरीन साक्षात्कार कहूँ या वार्ता बहुत खूब

    ReplyDelete
    Replies
    1. रमाकांत जी . सारा क्रेडिट ताऊ को जाता है .
      मई तो सिर्फ सवाल का जवाब दे रहा था @!

      Delete
  15. बहुत बढ़िया चल रहें हैं ब्लागर साक्षात्कार सवाल ज़वाब ताऊ सा के सौजन्य से। शुक्रिया शुक्रिया शुक्रिया शुक्रिया आपकी निरंतर टिपण्णी का। लेखन के लिए ऐसी आंच और ऐड़ मिलते रहना ज़रूरी है। ॐ शान्ति।

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया वीरेंदर जी. आप ने सच ही कहा है कि ताऊ की छाया सब पर पड़ती रहे.

      Delete
  16. आज तो रामप्यारे पिट गया ..
    बधाई विजय सपत्ती को !!

    ReplyDelete
    Replies
    1. सतीश जी , आपने सही कहा , सर , हम भी तो कुछ कम नहीं है ! :):)

      Delete
  17. रामप्यारे के सवाल ही ऐसे होते है कि, एक संवेदनशील कवी का भी सब्र का बांध तोड़ दे :)
    मजेदार जवाब दिए है विजय जी ने !

    ReplyDelete
    Replies
    1. सुमन जी , अब क्या कहे...
      सवाल ही कुछ ऐसे थे कि मैं धीर गंभीर बना नहीं रह सका ....
      शुक्रिया

      Delete
  18. बहुत बढ़िया, ये रामप्यारे भी बिगड़ता जा रहा है ! :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. आप सही कह रहे है गोदियाल जी .... जरुरत से ज्यादा बिगड़ा है ये,.

      Delete
  19. Tau
    ib to vo bhee pahunch raye hain jo
    khair chhodiye :)

    ReplyDelete
  20. बहुत बढ़िया ..... सवाल तो उम्दा हैं ही ...जवाब भी अच्छे दिए हैं

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया मोनिका जी ,.

      Delete
  21. बढ़िया रहा यह एपिसोड भी!

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया अल्पना जी ,

      Delete
  22. आज नया बहुत कुछ पता चल गया विजय के बारे में :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. अंजू..... अरे बाबा .... :):):)

      Delete
  23. ताऊ आखिर में सच उगलवा ही लेते हैं...

    ReplyDelete
    Replies
    1. कैलाश जी , क्या करे, ताऊ , हम सबके उस्ताद है ,

      Delete
  24. बच्चे की जान लोगी क्या?

    हा हा हा

    ReplyDelete
    Replies
    1. काजल जी , सच अब क्या बताये ... :):):)

      Delete
  25. बहुत खूब....मजा आ गया....
    विजय जी ....बच्चे की जान गयी तो नही....:)
    सफ़ेद जुते पहनने को मिल गया क्या..जो भी हो...मजा आ गया....
    हाय रे हाय .......
    ताऊ जी को प्रणाम....भई पूरा सीन चल चित्र की तरह घुमने लगता है

    ReplyDelete
    Replies
    1. वसुंधरा जी , अब क्या कहूँ , अब तक बचा हुआ हूँ ...
      ताऊ के कमाल है .

      Delete
  26. चारमिनार हमारा इलाका है , हमने तो विजय जी वहाँ कभी नहीं देखा …
    सरासर झूठ ताऊ !

    ReplyDelete