Powered by Blogger.

ताऊ : चूहे की औलाद या लंगडे कुत्ते की औलाद?

अनेक सालों के बाद इस साल अचानक सर्दी का प्रकोप भयानक होगया है. उम्मीद से विपरीत सर्दी बहुत ज्यादा है. दिन में जरासी हवा चलते ही दांत कटकटाने लगते हैं. ताऊ को तुरंत ख्याल आया कि हो ना हो जरूर इसमें कोई ग्रह चाल उल्टी सीधी हो गई है सो ताऊ महाराज अपना पोथी पत्रा लेके अपनी उंगलियों पर मीन मेष कर्क करने लग गया. आखिर में ताऊ उछल पडा जब उसने पता लगा लिया कि दुनियां भर में पड रही इस तीव्र सर्दी का राज क्या है?

ताऊ ज्योतिषी महाराज ने अपनी दिव्य दृष्टि से साफ़ साफ़ देख लिया कि इस बार अग्निकारक ग्रह मंगल 29 नवंबर से ही अस्त हो गया है जो 11 मई 2011 तक अस्त रहने वाला है सो इस बार कडाके की ठंड पडेगी. जिनको भी ठंड ज्यादा लगती हो या जिनकी हड्डियां ज्यादा कडकडाती हों वो ताऊ ज्योतिषी महाराज से संपर्क कर सकते हैं. शर्तिया और ग्यारंटेड इलाज किया जायेगा. अति जाडे से पीडित लोगों ( सिर्फ़ ब्लागरों ) को विशेष रियायत दी जायेगी. विशेष जानकारी के लिये हमसे फ़ोन पर तुरंत संपर्क करें.

ताऊ महाराज ने अपने दिव्य चक्षुओं से एक और दुर्योग देखा है, हम आपको डरा नही रहे हैं, आप चिंता नहीं करे हमारे पास इसका पक्का इलाज और उपाय मौजूद है, आप तो बस हमसे संपर्क करिये और फ़ीस चुकाईये और निश्चिंत हो जाईये. न्योछावर मात्र सवा इक्कीस हजार रुपये !

हां तो हम बात कर रहे थे एक और दुर्योग की. और लगता है ब्लागजगत के दिनमान भी इनसे ज्यादा प्रभावित हुये हैं. चुंकि राहु केतु ठहरे छायावादी ग्रह, ये दिखते कुछ और हैं और दिखाते कुछ और हैं. ये दाल बाटी दिखाते हैं और खाने जावो तो जला हुआ बैंगन भुर्ता भी नही देते. ये सब राहु केतु का एक दूसरे के नीच नक्षत्र में भ्रमण का फ़ल है. आप चिंता नही करें, ताऊ महाराज ने इनका उपाय ढूंढ लिया है. आप अभी और इसी वक्त हमसे फ़ोन पर संपर्क किजिये. फ़ीस जमा करवाने के लिये हमारा बैंक अकाऊंट नंबर भी आपको फ़ोन पर ही बताया जायेगा.

ताऊ महाराज ज्योतिषी यह घोषणा करते हैं कि इस बार राहु केतु के इस नीच नक्षत्र भ्रमण काल में अर्थ जगत में भारी उठा और पटक का खेल चलेगा. कुछ भी अप्रत्याषित गडबड शेयर बाजार, सोना चांदी में होने वाली है अत: बिना डरे ताऊ महाराज से तुरंत संपर्क करें हम आपको इनसे बचने का उपाय बतायेंगे....पर समय रहते संपर्क करें..... कहीं लुटने पिटने के बाद नही...वर्ना हम फ़ीस कैसे वसूलेंगे?

ताऊ ये सपना देख ही रहा था कि ताई ने आकर रजाई खींची और बोली...अबे ओ चूहे की औलाद....आज क्या सारे दिन सोते ही रहेगा? आफ़िस भी जायेगा कि नही? ताऊ हडबडाकर उठा तो क्या देखता है कि ताई के द्वारा चूहे की औलाद कहते ही ताऊ के पिताजी, दादाजी, चाचे, ताये, मौसे, मौसियां सारे आकर ताऊ के ऊपर चढ गये और लाड करने लगे.


"चूहे की औलाद" ताऊ अपने पुरखों के साथ

बेचारा ताऊ! अभी उस रोज ताऊ महाराज को लंगडे कुत्ते की औलाद, मुझे समझ क्या रखा है बे...ने परेशान करके रख दिया और आज ये नई गुत्थी है कि ये चूहे सही में ताऊ के पुरखे हैं और ताऊ चूहे की ही औलाद है? या फ़िर ताई ने कोई जादू करके ताऊ पर इनको छोड दिया है जिससे ताऊ वापस रजाई में ना दुबक जाये.

पर आप काहे चिंता करते हैं जी? ये पहेली तो ताऊ बुझा ही लेगा. आप तो आपके राहु केतु का इलाज करवाने के लिये तुरंत सम्पर्क करें. ग्यारंटेड इलाज किया जायेगा.

रामप्यारे की ट्वीट्स यहां पढिये!


25 comments:

  1. सपना अभी भी चल रहा है शायद। चूहे इसीलिये असली लग रहे हैं।

    ReplyDelete
  2. हमेशा की तरह मस्त झक्कास ताऊनुमा पोस्ट ...
    पर ये ..रामप्यारी रामप्यारे में कब बदला ...आज ही पढ़ी उसकी ट्वीट !

    ReplyDelete
  3. लो कर लो जी बात अपने ताउजी अब ज्योतिष हो गए और राहु केतु का इलाज करवे में लग गए है .... दूकान कहाँ है अपनी ताउजी महाराज जी ...

    ReplyDelete
  4. फोटो देख पहली बार लगा कि इस बार ताऊ गया जेल !

    फिर ध्यान से देखा कि यह तो बारासिंघा का सर नहीं मरे चूहों की माला है तो अपना सर पीट लिया की ताऊ आसानी से फंदे में नहीं आने वाला ! खुशदीप भाई की वह कहने तमाम अर्थ लिए थी !

    ताऊ एक बार मदद करेगा तो आसपास सारे नाकारा इकट्ठे हो जायेंगे ! मगर यह ताऊ का तीर था किधर के लिए ...और यह लंगड़ा कुत्ता ??

    ReplyDelete
  5. उड़ता पंछी न्यू बोल्या इबकै पाला खूब पड़ेगा ,
    अब आगे की लाइने तो बुढउ खुशवंतसिंह ही लिख सकता है |
    पर ताऊ पड़ने दे सर्दी , सुसरी सर्दी अपना कै बिगाड़ लेगी !!

    ReplyDelete
  6. अपनी दिव्य दृष्टि से साफ़ साफ़ देख लिया कि इस बार अग्निकारक ग्रह मंगल 29 नवंबर से ही अस्त हो गया है जो 11 मई 2011 तक अस्त रहने वाला है सो इस बार कडाके की ठंड पडेगी.

    ताऊ ये कौन सी दूरबीन से देखा?

    ReplyDelete
  7. अपनी दिव्य दृष्टि से साफ़ साफ़ देख लिया कि इस बार अग्निकारक ग्रह मंगल 29 नवंबर से ही अस्त हो गया है जो 11 मई 2011 तक अस्त रहने वाला है सो इस बार कडाके की ठंड पडेगी.

    ताऊ ये कौन सी दूरबीन से देखा?

    ReplyDelete
  8. ताऊ जी
    राम - राम केवल राम की तरफ से
    ताऊ आपने तो गजब कर दिया ...इस बार सर्दी के कारण को जानकार ..उपाय तो बता दिया पर ..टेलीफोन नम्बर और बेंक अकाउंट नम्बर तो बताया नहीं ...गलती कर दी आपने ....चलो कोई बात नहीं " जहाँ चाह वहां राह" हम भी पता कर लेंगे ....राम राम

    ReplyDelete
  9. ताई के द्वारा चूहे की औलाद कहते ही ताऊ के पिताजी, दादाजी, चाचे, ताये, मौसे, मौसियां सारे आकर ताऊ के ऊपर चढ गये और लाड करने लगे.

    Aisa hi hona chahiye.... jay ho taai ji ki.:)

    ReplyDelete
  10. ताई के द्वारा चूहे की औलाद कहते ही ताऊ के पिताजी, दादाजी, चाचे, ताये, मौसे, मौसियां सारे आकर ताऊ के ऊपर चढ गये और लाड करने लगे.

    Aisa hi hona chahiye.... jay ho taai ji ki.:)

    ReplyDelete
  11. आप तो बस हमसे संपर्क करिये और फ़ीस चुकाईये और निश्चिंत हो जाईये. न्योछावर मात्र सवा इक्कीस हजार रुपये !

    ब्लागर कमीशन कितना कटेगा? ये फ़ीस ज्यादा है हमको 110% की छूट मिलनी चाहिये.:)

    ReplyDelete
  12. आप तो बस हमसे संपर्क करिये और फ़ीस चुकाईये और निश्चिंत हो जाईये. न्योछावर मात्र सवा इक्कीस हजार रुपये !

    ब्लागर कमीशन कितना कटेगा? ये फ़ीस ज्यादा है हमको 110% की छूट मिलनी चाहिये.:)

    ReplyDelete
  13. ताऊ ये सपना देख ही रहा था कि ताई ने आकर रजाई खींची और बोली...अबे ओ चूहे की औलाद....आज क्या सारे दिन सोते ही रहेगा?

    bahut sahi.:)

    ReplyDelete
  14. ताऊ ये सपना देख ही रहा था कि ताई ने आकर रजाई खींची और बोली...अबे ओ चूहे की औलाद....आज क्या सारे दिन सोते ही रहेगा?

    bahut sahi.:)

    ReplyDelete
  15. फोन पर पैसे कैसे भेजें...तुरंत इलाज चाहिये. उधार में चल जायेगा क्या?

    ReplyDelete
  16. क्या सपना देखा है ……जय हो ताऊ की।

    ReplyDelete
  17. बहुत ही बढ़िया और दिलचस्प पोस्ट! उम्दा प्रस्तुती!

    ReplyDelete
  18. यो ताऊ ज्योतिषी हाले सारै काम करण लागरया से | बाकी ज्योतिष हाले के माखी मारेंगे | ताऊ खाता नंबर जल्दी देदो |

    ReplyDelete
  19. अरे ताऊ थारे अन्दर जाने का टेम इब हो गई से तने इ का लिख दिस है शर्तिया और ग्यारंटेड इलाज थारे के ना मालूम से इ कानूनन जुर्म से | इ कौन सी भाषा हौ खुदाई समझ ला | :-)

    पर आप एक पंथ दो काज करते है पहले ही भारी भरकम फ़ीस बता कर मरीज को हल्का हार्ट अटैक दे दो लगे हाथ उसके इलाज का भी फ़ीस ले लो |

    और हा चूहा का औलाद तो सब उसी दिन बन जाते है जिस दिन सबको एक बढ़िया सी ताई जैसी लुगाई मिल जाती है |

    ReplyDelete
  20. ताऊ...ई चूहे की माला वाली तरकीब सिखाने की क्या फीस है?
    तबियत बिल्ली-बिल्ली हो गई।

    ReplyDelete
  21. ताऊ, म्हारी माणै तो इस धन्धे मैंह म्हारे गैल साँझदारी कर ले....दुकानदारी घणी चकाचक चाल पडेगी :)

    ReplyDelete
  22. सपने से बाहर आयें आर्य।

    ReplyDelete
  23. बहुत अच्छी प्रस्तुति। हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई!
    विचार-प्रायश्चित

    ReplyDelete