Powered by Blogger.

ताऊ पहेली - 103

प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम.

ताऊ पहेली अंक 103 में आपका हार्दिक स्वागत है. अब से ताऊ पहेली का हिंट नही दिया जायेगा. और पहेली के जवाब की पोस्ट यथावत हर मंगलवार सुबह 4 :44 AM पर प्रकाशित की जायेगी.

विनम्र विवेदन

कृपया पहेली मे पूछे गये चित्र के स्थान का सही सही नाम बतायें कि चित्र मे दिखाई गई जगह का नाम क्या है? कई प्रतिभागी सिर्फ़ उस राज्य का या शहर का नाम ही लिख कर छोड देते हैं. जो कि अबसे अधूरा जवाब माना जायेगा.


ताऊ पहेली का प्रकाशन हर शनिवार सुबह आठ बजे होगा. ताऊ पहेली के जवाब देने का समय कल रविवार दोपहर १२:०० बजे तक या अधिकतम कमेंट सुविधा बंद करने तक है.

आजकल रामप्यारी अन्य कार्यों में व्यस्त है इसलिये कुछ दिनों तक उसके सवाल पूछने का सिलसिला बंद रहेगा. रामप्यारी को जैसे ही समय मिलेगा.. रामप्यारी का बोनस सवाल पूछना फ़िर शुरू किया जायेगा.

जरुरी सूचना:-
टिप्पणी मॉडरेशन लागू है इसलिए समय सीमा से पूर्व केवल अधूरे और ग़लत जवाब ही प्रकाशित किए जाएँगे. सही जवाबों को पहेली की रोचकता बनाए रखने हेतु समय सीमा से पूर्व अक्सर प्रकाशित नहीं किया जाता . अत: आपका जवाब आपको तुरंत यहां नही दिखे तो कृपया परेशान ना हों.


आज की पहेली के बारे में आप चाहें तो रामप्यारेजी के ब्लाग से भी कुछ जान सकते हैं, पर यकिन अपनी रिस्क पर ही करें हमारी कोई ग्यारंटी नही है!

नोट : यह पहेली प्रतियोगिता पुर्णत:मनोरंजन, शिक्षा और ज्ञानवर्धन के लिये है. इसमे किसी भी तरह के नगद या अन्य तरह के पुरुस्कार नही दिये जाते हैं. सिर्फ़ सोहाद्र और उत्साह वर्धन के लिये प्रमाणपत्र एवम उपाधियां दी जाती हैं. किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजकों का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा.


मग्गाबाबा का चिठ्ठाश्रम
मिस.रामप्यारी का ब्लाग
ताऊजी डाट काम

33 comments:

  1. Palitana is a religious Jain city, Bhavnagar district in the Indian state of Gujarat. It is located 50 km South-West of Bhavnagar city and is a major pilgrimage centre for Jains. Palitana is the place where millions and millions of Jain sadhu and muni got salvation.

    ReplyDelete
  2. अब आ ही गए हैं तो जवाब दिए बिना जाना नहीं अच्छा। ...
    एक बात तो पक्की है कि यह शिव मंदिर है।
    चलिए अंतिम जवाब...

    गोरखपुर का गोरखनाथ मंदिर है।

    ReplyDelete
  3. अहा
    यह तो
    वही जगह है
    जिस गांव में
    तो चलते हैं
    वहीं मालूम कर लेंगे
    आओ बंधु, गोरी के गांव चलें

    ReplyDelete
  4. अहा
    यह तो
    वही जगह है
    जिस गांव में
    तो चलते हैं
    वहीं मालूम कर लेंगे
    आओ बंधु, गोरी के गांव चलें

    ReplyDelete
  5. रणकपुर मंदिर उदयपुर, राजस्थान|

    ReplyDelete
  6. एलोरा का मंदिर...महाराष्ट्र में.

    ReplyDelete
  7. कभी तो ऐसा प्रश्न पूछिए कि हम जैसे पिछली सीट पर बैठने वाले भी जवाब दे सकें।

    ReplyDelete
  8. एकलिंगि मन्दिर
    उदयपुर
    राजस्थान

    जै रामजी की

    ReplyDelete
  9. मैं तो रामप्यारे जी पर विश्वास कर रहा हूँ।
    धन्यवाद रामप्यारे जी

    ReplyDelete
  10. लगा तो उडीसा ही. अब जो हो.

    ReplyDelete
  11. एकलिंगजी मंदिर कैलाशपुरी, उदयपुर, राजस्थान|

    ReplyDelete
  12. एकलिंगी मंदिर उदयपुर राजस्थान

    ReplyDelete
  13. मेरी रामप्यारी नहीं दिख रही, बुरा लग रहा है,

    ReplyDelete
  14. देलवाडा मन्दिर संकुल, आबु, राजस्थान

    ReplyDelete
  15. तुक्का:-

    दिलवारा जैन् टैम्पल, माऊँट आबू

    ReplyDelete
  16. रामप्यारी के बिना तो मुश्किल है...

    ReplyDelete
  17. यह स्थान भले ही कहीं भी हो...पर है बहुत सुंदर.

    ReplyDelete
  18. एक बहुत पुराना मंदिर है। भारत में स्थित है। इस मंदिर से बहुत ही खूबसूरत नज़ारा देखने को मिलता है। अनेक लोग यहाँ हर वर्ष दर्शन करने आते हैं। कुछ विशेष अवसरों में यहाँ बहुत भीड़ जुटती है। इस मंदिर से जुड़ी कई कहानियां हैं। इसका निर्माण २०० साल पहले तात्कालीन राजाओं ने कराया था। बाद में इसका जीर्णोद्धार भारत सरकार ने कराया।

    इतना सब बता दिया अब नाम भी क्या हमसे ही पूछोगे?

    ReplyDelete
  19. यहाँ में कई बार गयी हूँ ... नाम ..हां जरूर सपना देखा होगा यहाँ का... ये मंदिर ये दरों दिवार .. ये चौक.. सब कुछ जाना पहचाना ...:)) नाम - सपनो का मंदिर

    ReplyDelete
  20. जगह बहुत सुन्दर है | इस हिसाब से तो कही चितौड या उदयपुर के आस पास की ही जगह लग रही है |

    ReplyDelete
  21. ऐसे स्मारक तो जोधपुर के मंडोर उद्यान में देखे लगते है |

    ReplyDelete
  22. हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग का मंदिर है ये
    टिप्‍पणियों की भीड़ लगती है यहां
    नहीं पहचाना
    जगत है यह
    चिट्ठों का

    ReplyDelete
  23. इस पहेली पर जवाब देने का समय समाप्त हो चुका है. सभी प्रतिभागियों का हार्दिक आभार.

    ReplyDelete