Powered by Blogger.

ताऊ पहेली - 99 "पटवों की हवेली" जैसलमेर, विजेता : श्री प्रकाश गोविंद

प्रिय भाईयो और बहणों, भतीजों और भतीजियों आप सबको घणी रामराम ! हम आपकी सेवा में हाजिर हैं ताऊ पहेली - 99 का जवाब लेकर. कल की ताऊ पहेली का सही उत्तर है Patwon ki haveli-Jaisalmer-Rajsthan

और इसके बारे मे संक्षिप्त सी जानकारी दे रही हैं सु. अल्पना वर्मा.

आप सभी को मेरा नमस्कार,

पहेली में पूछे गये स्थान के विषय में संक्षिप्त और सारगर्भित जानकारी देने का यह एक लघु प्रयास है.

आशा है, आप को यह प्रयास पसन्द आ रहा होगा,अपने सुझाव और राय से हमें अवगत अवश्य कराएँ.


जैसलमेर-

ऎतिहासिक विरासत खुद में समेटे जैसलमेर की नींव यदुवंशी भाटी राजपूत महारावल जैसल ने श्रावण शुक्ला 12, संवत् 1212 को एक त्रिकूट पहाडी पर रखी थी.

इसका प्राचीन नाम माडधरा व वल्ल मंडल भी था.स्वर्ण नगरी जैसलमेर को महलनुमा ‘हवेलियों , झरोखों की नगरी’ ‘रेगिस्तान का गुलाब’ और ‘राजस्थान का अंडमान’ भी कहा जाता है. थार मरूस्थल में बसा जैसलमेर जिला क्षेत्रफल की दृष्टि से देश में तीसरा सबसे बडा जिला है. क्षेत्रफल के आधार पर राजस्थान का सबसे बड़ा जिला है.

पटवों की हवेली -
---------------
पहेली में पूछा गया स्थान 'पटवों जी की हवेली या 'पटवों की हवेली' थी जो की पांच हवेलियों का समूह है, जिन्हें पांच भाइयों ने मिल कर सन् 1800 से 1860 के मध्य बनवाया था.

इन हवेलियों की दीवारों ,खिड़कियों, छज्जों, बारीक़ जालियों, नक्काशी और बेलबूटों का महीन और सुंदर काम देखने वाले को आश्चर्य चकित कर देता है.


पटवों की हवेली, जैसलमेर (राजस्थान)


1805 में बनी यह पांच मंज़िला हवेली यहाँ की सभी हवेलियों में सबसे पुरानी है .नक्काशीदार खंभे , विशाल गलियारे व प्रकोष्ट मुख्य आकर्षण हैं.

धनी व्यवसायी गुमान चंद पटवा द्वारा शुरू की गयी इस हवेली को पूरा होने में ५० साल लगे थे.वर्तमान में यह हवेली भारत सरकार द्वारा संरक्षित है.

इसके अलावा यहाँ सालिम सिंह की हवेली,नथमल की हवेली,सम के टीले ,आकल गांव में फॉसिल पार्क (जीवाश्म उद्यान),मरू उद्यान,जवाहर विलास,बादल विलास , जैसलमेर दुर्ग [ सोनारगढ़ या सोनगढ़ ], लोद्रवा,पवित्र गडसीसर सरोवर,सातलमेर आदि पर्यटन स्थल हैं .



आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" की नमस्ते!

प्यारे बहनों और भाईयो, मैं आचार्य हीरामन “अंकशाश्त्री” ताऊ पहेली के रिजल्ट के साथ आपकी सेवा मे हाजिर हूं. उत्तर जिस क्रम मे मुझे प्राप्त हुये हैं उसी क्रम मे मैं आपको जवाब दे रहा हूं. एवम तदनुसार ही नम्बर दिये गये हैं.



सभी विजेताओं को हार्दिक शुभकामनाएं.


आज के प्रथम विजेता श्री प्रकाश गोविंद

श्री प्रकाश गोविंद अंक 101


आईये अब आज के अन्य विजेताओं से आपको मिलवाते हैं.

 

ajju5

Dr.Ajmal Khan अंक 100

shekhar

 श्री Shekhar Suman अंक 99

sabir h khan

श्री sabir*h*khan अंक 98

darshan_jpg

श्री Darshan Lal Baweja अंक 97

bantichor

श्री बंटी चोर अंक 96

gajendra singh

श्री गजेंद्र सिंह अंक 95

OSHO

श्री ओशो रजनीश अंक 94

vijay karn

 श्री विजय कर्ण अंक 93


श्री भारतीय नागरिक - Indian Citizen अंक 92

श्री नीरज गोस्वामी अंक 91

My Photo

श्री पी.एन.सुब्रमनियन अंक 90

lalit 50

श्री ललित शर्मा अंक 89

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक अंक 88

anil (1)

प० अनिल जी शर्मा सहारनपुर अंक 87

श्री रंजन अंक 86

श्री रतन सिंह शेखावत अंक 85

upendra

 श्री उपेन्द्र अंक 84

seema-gupta-2

सुश्री सीमा गुप्ता अंक 83

ssb

श्री Surendra Singh Bhamboo अंक 82

dwivediji

श्री दिनेशराय द्विवेदी अंक 81

श्री उडनतश्तरी अंक 80

अगला अंक ताऊ पहेली का १०० वां अंक होगा.


आईये अब रामप्यारी मैम की कक्षा में





हाय गुड मार्निंग एवरीबड्डी... मेरे सवाल का सही जवाब है : गोखरू का पौधा निम्न सभी प्रतिभागियों को सवाल का सही जवाब देने के लिये 20 नंबर दिये हैं सभी कॊ बधाई.



गोखरू का पौधा


श्री Darshan Lal Baweja
सुश्री इंदु अरोड़ा
श्री प्रकाश गोविंद
सुश्री सीमा गुप्ता
श्री Surendra Singh Bhamboo
श्री डी. के. शर्मा “वत्स”
श्री नरेश सिंह राठौड

अब अगले शनिवार को ताऊ पहेली में फ़िर मिलेंगे. तब तक जयराम जी की!

अब आईये आपको उन लोगों से मिलवाता हूं जिन्होने इस पहेली अंक मे भाग लेकर हमारा उत्साह वर्धन किया. आप सभी का बहुत बहुत आभार.

श्री आशीष मिश्रा
श्री तारकेश्वर गिरी
श्री M VERMA
श्री प्रवीण त्रिवेदी
श्री राज भाटिया
सुश्री वंदना
सुश्री बबली
श्री अविनाश वाचस्पति

अब अगली पहेली का जवाब लेकर अगले सोमवार फ़िर आपकी सेवा मे हाजिर होऊंगा तब तक के लिये आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" को इजाजत दिजिये. नमस्कार!


आयोजकों की तरफ़ से सभी प्रतिभागियों का इस प्रतियोगिता मे उत्साह वर्धन करने के लिये हार्दिक धन्यवाद. !

ताऊ पहेली के इस अंक का आयोजन एवम संचालन ताऊ रामपुरिया और सुश्री अल्पना वर्मा ने किया. अगली पहेली मे अगले शनिवार सुबह आठ बजे आपसे फ़िर मिलेंगे तब तक के लिये नमस्कार.


विशेष सूचना :-


अगला अंक ताऊ पहेली का 100 वां अंक होगा.

26 comments:

  1. खैर कोई बात नहीं प्रकाश भाई....आप डिजर्व करते हो मगर रास्ते में रोड़ा तो बनूंगा ही आदतन!! :)


    सभी को बधाई.

    ReplyDelete
  2. विजेताओं को बधाई
    हम विलबं से पहुचने की सजा पा रहे हैं।

    ReplyDelete
  3. सभी विजेताओ को ढेरों बधाई

    ReplyDelete
  4. आदरणीय प्रकाश जी सहित सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई.
    regards

    ReplyDelete
  5. रेगिस्तान के गुलाब की जानकारी के लिए बहुत आभार ...
    सभी विजेताओं को बधाई !

    ReplyDelete
  6. बधाई सभी विजेताओ को .....
    ताऊ जी परिणाम प्रकाशित करने में कोई गलती हो गयी क्या ....
    प्रकाश गोविन्द जी पहले स्थान पर ये तो ठीक है पर उड़न तस्तरी जी अंतिम ....
    जरुर कोई गड़बड़ है .....

    ReplyDelete
  7. हर बार सही जवाब देता हूँ लेकिन हर बार लेट हो जाता हूँ और मेरी लेट लतीफी का फायदा लोग उठा जाते हैं...प्रकाश भाई से होड लेना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है...लगता है जैसे पहेली के लिए सुबह से कम्यूटर खोले बैठे रहते हैं...विजेताओं में वो लता मंगेशकर दीदी के सामान हैं जो हर प्रतियोगिता में जीतने के लिए ही पैदा हुई थीं...उनसा और प्रकाश भाई सा न कोई हुआ है न होगा...समीर जी कमर कस के जोर लगा रहे हैं लेकिन उनके पास कमर नहीं कमरा है जो कसा नहीं जा सकता...हा हा हा हा हा

    नीरज

    ReplyDelete
  8. बहुत बढ़िया ...विजेताओं को बधाई ....

    ReplyDelete
  9. प्रकाश गोविन्द व अन्य विजेताओं को बधाई।

    ReplyDelete
  10. विजेताओं को बधाई ।

    ReplyDelete
  11. प्रकाश गोविंद जी सहित सभी विजेताओं को बधाई।

    ReplyDelete
  12. प्रकाश जी सहित सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई!

    ReplyDelete
  13. श्री प्रकाश गोविंद जी को बधाई।

    ReplyDelete
  14. सभी माननीय पहेली प्रेमियों को
    हार्दिक बधाई एवं शुभ कामनाएं
    -
    -
    मेरे लिए बहुत ही ख़ुशी की बात है कि मैंने जो लक्ष्य निर्धारित किया था, उसको आज हासिल कर लिया ! जब मैंने दसवीं पहेली जीती थी तब सोचा था कि किसी भी तरह पच्चीस पहेली में विजय हासिल करनी है ! आज मेहनत साकार हुयी !
    -
    -
    ताऊ जी आपको भले ही अहसास न हो लेकिन आपकी पहेलियों ने मेरा चैन छीन रखा था :)
    कितनी ही पहेलियों में तो समीर जी ने इतनी बारीकी से ऐसी टंगड़ी फंसाई कि मैं चारों खाने चित्त.
    खैर अब जाकर राहत मिली !
    -
    -
    अगली पहेली संपन्न होते ही ताऊ जी आप शतकवीर हो जायेंगे ! आपके पहेली आयोजन ने एक इतिहास रच दिया ! यह एक मात्र पहेली आयोजन है जो अविराम नियत समय पर चलते हुए लगभग दो साल तक अपनी गुणवत्ता के साथ कायम रहा !
    बहुत बड़ी उपलब्धि है-आपको बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  15. sabhee ko bahut badhaii....mujhe to nahee ataa thaa ...:((((

    zero number thee apne ..:)))

    shukriya Alpana ji .

    ReplyDelete
  16. sabhee ko bahut badhaii....mujhe to nahee ataa thaa ...:((((

    zero number thee apne ..:)))

    shukriya Alpana ji .

    ReplyDelete
  17. प्रकाश जी. आपसे तो जीतना बहुत कठिन मालूम होता है | देर से सोकर उठने का खामियाजा भुगता मैंने | अगली बार से सुबह सुबह ही तैयार होना पड़ेगा...लेकिन इसका जवाब तो मुझे आता था कहीं ढूँढने की जरूरत भी नहीं पड़ी.... अगली बार अगर धाँसू सवाल हुआ तब तो वैसे भी मुश्किल है |
    वैसे तीसरा स्थान भी बुरा नहीं है | पहली बार कोशिश की ताऊ पहेली पर...

    ReplyDelete
  18. अहा, मैं विजेता हो सकता था अगर शनिवार को ब्लाग देख लेता तो :)
    (आजकल नेट पर बहुत कम आना हो पा रहा है न)
    चार बातें और,
    एक.. इसके सामने बाईं तरफ, बंबई के कोई महेश्वरी भी एक और हवेली बना रहे हैं लगभग पिछले 2 दशक से.
    दो..जैसलमेर के ही पास में कुलधरा देखने लायक है, अजब शांति है इस जगह. यहां का सीढ़ीदार कुआं एक अलग अनुभव है.
    तीन..जैसलमेर में पवनचक्कियां भी खूब हैं जिनमें बंबई के बड़े से बड़े फिल्मवालों का भी मोटा पैसा लगा हुआ है.
    चार..सभी विजेताओं को ढेरों बधाइयां
    :-)

    ReplyDelete
  19. *सभी विजेताओं /अविजेताओं को बधाई.
    पच्चीस बार प्रथम विजेता बनने के लिए प्रकाश गोविन्द जी को बहुत बहुत बधाई..आप का पहेली बूझने का जुनून काबिले तारीफ है .

    **९९ पहेली का यहाँ तक का सफर आप सभी माननीय प्रतियोगियों के सहयोग से ही संपन्न हो सका है.
    *सभी का आभार और अगली १०० वि पहेली के लिए
    खास शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  20. विजेताओं को बधाई.....जानकारी के लिए धन्यवाद

    ReplyDelete
  21. ताउ महाराज की जै हो विजेताओं को शुभ कामनाएं
    शेष शुभ
    भाग्य

    ReplyDelete
  22. Tau ji! Ram Ram !

    kal ye jankaari Charcha manch pe hogi.. aapka abhaar is jankari ke liye..

    ReplyDelete