Powered by Blogger.

ताऊ पहेली - 96

प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम.
ताऊ पहेली अंक 96 में मैं ताऊ रामपुरिया, सह आयोजक सु. अल्पना वर्मा के साथ आपका हार्दिक स्वागत करता हूं. जैसा कि आप जानते ही हैं कि अब से रामप्यारी का हिंट सिर्फ़ एक बार ही दिया जाता है. यानि सुबह 10:00 बजे ही रामप्यारी के ब्लाग पर मिलता है.और अब से पहेली के जवाब की पोस्ट सोमवार के बजाये हर मंगलवार सुबह 4 :44 AM पर प्रकाशित की जायेगी.

विनम्र विवेदन

कृपया पहेली मे पूछे गये चित्र के स्थान का सही सही नाम बतायें कि चित्र मे दिखाई गई जगह का नाम क्या है? कई प्रतिभागी सिर्फ़ उस राज्य का या शहर का नाम ही लिख कर छोड देते हैं. जो कि अबसे अधूरा जवाब माना जायेगा.

हिंट के चित्र मे उस राज्य या शहर की तरफ़ इशारा भर होता है कि उस राज्य या शहर मे यह स्थान हो सकता है. अब नीचे के चित्र को देखकर बताईये कि यह कौन सी जगह है? और किस शहर या राज्य में है?



ताऊ पहेली का प्रकाशन हर शनिवार सुबह आठ बजे होगा. ताऊ पहेली के जवाब देने का समय कल रविवार दोपहर १२:०० बजे तक है. इसके बाद कमेंट सुविधा बंद कर दी जायेगी. अगर कमेंट सुविधा किसी कारण वश जारी भी रही तो आने वाले सही जवाबों को अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे.

अब रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर का. यानि जो भी प्रतिभागी रामप्यारी के सवाल का सही जवाब देगा उसे 20 नंबर अलग से दिये जायेंगे. तो आईये अब आपको रामप्यारी के पास लिये चलते हैं.


"रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर के लिये"



हाय...आंटीज एंड अंकल्स...दीदीज एंड भैया लोग...गुडमार्निंग..मी राम की प्यारी रामप्यारी.....अब आपसे पूरे 20 नंबर का सवाल पूछ रही हूं. सवाल सीधा साधा है. बस मुख्य पहेली से अलग एक टिप्पणी करके जवाब देना है. और 20 नंबर आपके खाते में जमा हो जायेंगे. है ना बढिया काम...तो अब नीचे का चित्र देखिये और बताईये की यह किस पेड का चित्र है?



इस सवाल का जवाब अलग टिप्पणी मे ही देना है. अब अभी के लिये नमस्ते. मेरे ब्लाग पर अब से दो घंटे बाद यानि 10 बजे आज की मुख्य पहेली के हिंट के साथ आपसे फ़िर मुलाकात होगी तब तक के लिये नमस्ते.

अब आप रामप्यारी के ब्लाग पर हिंट की पोस्ट सुबह दस बजे ही पढ सकते हैं! दूसरा हिंट नही दिया जायेगा.
जरुरी सूचना:-

टिप्पणी मॉडरेशन लागू है इसलिए समय सीमा से पूर्व केवल अधूरे और ग़लत जवाब ही प्रकाशित किए जाएँगे.
सही जवाबों को पहेली की रोचकता बनाए रखने हेतु समय सीमा से पूर्व अक्सर प्रकाशित नहीं किया जाता . अत: आपका जवाब आपको तुरंत यहां नही दिखे तो कृपया परेशान ना हों.

इस अंक के आयोजक हैं ताऊ रामपुरिया और सु. अल्पना वर्मा

नोट : यह पहेली प्रतियोगिता पुर्णत:मनोरंजन, शिक्षा और ज्ञानवर्धन के लिये है. इसमे किसी भी तरह के नगद या अन्य तरह के पुरुस्कार नही दिये जाते हैं. सिर्फ़ सोहाद्र और उत्साह वर्धन के लिये प्रमाणपत्र एवम उपाधियां दी जाती हैं. किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजकों का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा. एवम इस पहेली प्रतियोगिता में आयोजकों के अलावा कोई भी भाग ले सकता है.


नोट : आज रामप्यारी के सवाल का हिंट का चित्र रामप्यारी के ब्लाग पर 01 :21 PM पर प्रकाशित किया गया है. यहां चटका लगाकर देख सकते हैं.

मग्गाबाबा का चिठ्ठाश्रम
मिस.रामप्यारी का ब्लाग
ताऊजी डाट काम

109 comments:

  1. धामेख स्तूप, सारनाथ, उत्तर प्रदेश
    [वाराणसी के पास]

    ReplyDelete
  2. namste tau ji the anser is- sarnath,bihar, india.

    ReplyDelete
  3. सारनाथ काशी के सात मील पूर्वोत्तर में स्थित बौद्धों का प्राचीन तीर्थ है,ज्ञान प्राप्ति के पश्चात भगवान बुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश यही दिया था,यहीं से उन्होने "धर्म चक्र प्रवर्तन" प्राम्भ किया था,

    यहां पर सारन्गनाथ महादेव का मन्दिर भी है,जहां श्रावण के महिने में हिन्दुओं का मेला लगता है,यह जैन तीर्थ भी है,जैन ग्रन्थों में इसे सिंहपुर कहा गया है,सारनाथ की दर्शनीय वस्तुयें अशोक का चतुर्मुख सिंहस्तम्भ,भगवान बुद्ध का मन्दिर,धामेख स्तूप,चौखन्डी स्तूप,राजकीय संग्राहलय,जैन मन्दिर,चीनी मन्दिर,मूलंगधकुटी, और नवीन विहार हैं,मुहम्मद गौरी ने इसे नष्ट भ्रष्ट कर दिया था,

    सन १९०५ में पुरातत्व विभाग ने यहां खुदाई का काम प्रारम्भ किया,उसी समय बौद्ध धर्म के अनुयायों और इतिहास के विद्वानों का ध्यान इधर गया,वर्तमान में सारनाथ लगातार वृद्धि की ओर अग्रसर है.

    ReplyDelete
  4. राम प्यारी का जवाब : आम का पेड़

    ReplyDelete
  5. बहुत घनघोर चिंता हो रही है
    पता नहीं कनाडा वाले बड़े भैया इस ऐतिहासिक किले तक पहुँच पायेंगे या नहीं !

    ReplyDelete
  6. सारनाथ उतरप्रदेश

    ReplyDelete
  7. Sarnath the tranquil deep park at Sarnath is where the Buddha preached hid first sermon. Sarnath became one of the great center of Buddhism and the Emperor Ashoka erected magnificent stupas and structure here. The Chinese scholar Huien Tsang who to write of the splendor of the city. Rediscovered and excavated in 1836, Sarnath is once again a place of pilgrimage where visitors come to pay homage to the great teacher.

    ReplyDelete
  8. namste tau ji- the anser is- Sarnath stupa,bihar, india.thanks

    ReplyDelete
  9. The Dhamek Stupa, Sarnath. (U.P)This marks the spot where the Buddha gave his first sermon, setting in motion the "Wheel of Dharma".

    ReplyDelete
  10. Dhamek Stupa is the remarkable structure at Sarnath , Uttar Pradesh.

    ReplyDelete
  11. hi raampyaree the great ..bahut din kee namaskaar ..sabhee mitron ko bhee.....

    Ye mango ka ped hai ...:)uskee pattiyan hain.....

    good rampyaree...easy sawaal pucha karrtee ho...haha

    ReplyDelete
  12. राम प्यारी का आम का पेड़

    ReplyDelete
  13. बुद्ध से सम्बंधित स्थात है , अभी पता करते है

    ReplyDelete
  14. Dhamek Stupa ..located at Sarnath, 13 km away from Varanasi in Uttar Pradesh, India.

    ReplyDelete
  15. दूसरा चित्र तो आम सा है. पहला कुछ खास है. थोड़ी देर लगेगी, पता नहीं ये कोई अनाज का भंडार है या स्तूप...

    ReplyDelete
  16. tau ji namste the anser is- Dharmaksha Stupa, Sarnath, uttar pradesh, india.

    ReplyDelete
  17. सारनाथ टेम्पल, वाराणसी, उत्तर प्रदेश

    रामप्यारी का जवाब : आम का पेड़

    ReplyDelete
  18. Dharmaksha Stupa, Sarnath,uttar pradesh(india)

    ReplyDelete
  19. सारनाथ काशी के सात मील पूर्वोत्तर में स्थित बौद्धों का प्राचीन तीर्थ है,ज्ञान प्राप्ति के पश्चात भगवान बुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश यही दिया था,यहीं से उन्होने "धर्म चक्र प्रवर्तन" प्राम्भ किया था,यहां पर सारन्गनाथ महादेव का मन्दिर भी है,जहां श्रावण के महिने में हिन्दुओं का मेला लगता है,यह जैन तीर्थ भी है,जैन ग्रन्थों में इसे सिंहपुर कहा गया है,सारनाथ की दर्शनीय वस्तुयें अशोक का चतुर्मुख सिंहस्तम्भ,भगवान बुद्ध का मन्दिर,धामेख स्तूप,चौखन्डी स्तूप,राजकीय संग्राहलय,जैन मन्दिर,चीनी मन्दिर,मूलंगधकुटी,और नवीन विहार हैं,मुहम्मद गौरी ने इसे नष्ट भ्रष्ट कर दिया था,सन १९०५ में पुरातत्व विभाग ने यहां खुदाई का काम प्रारम्भ किया,उसी समय बौद्ध धर्म के अनुयायों और इतिहास के विद्वानों का ध्यान इधर गया,वर्तमान में सारनाथ लगातार वृद्धि की ओर अग्रसर है.

    ReplyDelete
  20. Dharmaksha Stupa, Sarnath,uttar pradesh,india.

    ReplyDelete
  21. राम राम ताऊ,

    सारनाथ का बौद्ध स्तूप, वाराणसी, उत्तर प्रदेश

    रामप्यारी जी इस पर तो आम भी दिखाई दे रहे है

    आम का वृक्ष

    ReplyDelete
  22. @ सीमा जी और दर्शन जी
    ये अमरुद या आम का पेड़ नहीं है अगर होता तो जवाब बाहर न होता :)
    ये रामप्यारी कभी सीधा सवाल पूछ ही नहीं सकती.

    ReplyDelete
  23. Dhamekh Stupa at Sarnath is one of the prominent Buddhist structures in India. Dhamekh Stupa was constructed by the great Mauryan king, Ashoka. The Dhamekh Stupa is cylindrical in shape and about 34 m high and 28.3 m in diameter. The lower portion of the Stupa is covered completely with beautifully carved stones. The borders of Dhamekh Stupa have delicately carved geometrical and floral designs and figures of humans and birds. The base of the Stupa is made of stone with the upper areas of brickwork which probably once had a carved stone fencing. It is believed that Lord Buddha delivered his first sermon at the Dhamekha Stupa. Dhamekh Stupa bears special significance at Sarnath as it signifies the "seat of the holy Buddha", as he proclaimed his faith.
    regards

    ReplyDelete
  24. पहला उड़न तश्तरी का गैरेज है।
    दुसरा सेब का पेड़ है जी।

    राम राम

    ReplyDelete
  25. सारनाथ का बोद्ध मंदिर, वाराणसी, उत्तर प्रदेश

    ReplyDelete
  26. रामप्यारी यह तो अनार का पेड़ लग रहा है!

    ReplyDelete
  27. पत्‍ताज़ ऑफ आम यानी मैंगोज ट्री
    सीधी भाषा में कहें तो आम के वृक्ष के पत्‍ते
    और एक राज यहां पर भी है खुला हुआ
    पत्‍ते जो कीड़ों ने हैं चबाए
    आम के पेड़ के पत्‍ते हैं न
    मीठे ही होंगे
    इससे यह भी मत समझिएगा
    इन्‍हें चीटिंयों ने अपना निवाला बनाया होगा।

    ReplyDelete
  28. दशहरे की अग्रिम बधाई!! ये पेड आम का है.पत्तों में चमक है, जबकि अमरूद के पत्ते सूखी सतह के होते हैं

    ReplyDelete
  29. श्री हरिकोटा संयंत्र
    अब इमारत और शहर का नाम भी बतलाना होगा क्‍या
    इतने भर से काम चला लें
    अंतरिक्षीय इंसानी मिट्टीयुक्‍त कारीगरी
    बाजीगरी का अद्भुत नमूना।

    ReplyDelete
  30. फिर तो जरूर लीची है.. और पहले में ताऊ के घर का कुठार है जिसमें ताई नाज इकठ्ठा करती है..

    ReplyDelete
  31. फिर तो जरूर लीची है.. और पहले में ताऊ के घर का कुठार है जिसमें ताई नाज इकठ्ठा करती है..

    ReplyDelete
  32. नहीं मानूंगा. आम ही है. लाक किया जाए.

    ReplyDelete
  33. पेड़ तो आम लग रहा है। पर इतना आसान सवाल तो आप देने से रहे। और पत्ते भी कुछ अलग-से हैं।
    ऊपर वाला तो समझ में ही नहीं आ रहा।
    १० बजे देखेंगे अगर हिंट से कुछ पता चला।

    बहुत अच्छी प्रस्तुति।
    सर्वस्वरूपे सर्वेशे सर्वशक्तिसमन्विते।
    भयेभ्यस्त्राहि नो देवि दुर्गे देवि नमोsस्तु ते॥
    महानवमी के पावन अवसर पर आपको और आपके परिवार के सभी सदस्यों को हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई!

    चिठियाना-टिपियाना संवाद

    ReplyDelete
  34. चमेली का पेड़ है...लेकिन इसमें आम जैसे क्या लग रहे हैं...मिक्स ब्रीड है क्या ?

    नीरज

    ReplyDelete
  35. लगता तो आम ही है, पर भक्तजनों का शक भी अपनी जगह ठीक है :-)

    ReplyDelete
  36. रामप्यारी के सवाल का जवाब है

    आम का पेड

    प्रणाम

    ReplyDelete
  37. सारनाथ स्तूप
    उत्तरप्रदेश

    जै रामजी की

    ReplyDelete
  38. रामप्यारी के सवाल का जवाब

    अगर ये आम का पेड नहीं है तो लीची का पेड है।

    प्रणाम

    ReplyDelete
  39. सारनाथ प्रचिन बौध चैत्य (स्तूप)

    ReplyDelete
  40. उत्तर प्रदेश वाराणसी सारनाथ में स्थित
    धमेक स्तूप- यह सारनाथ की सबसे आकर्षक संरचना है। सिलेन्डर के आकार के इस स्तूप का आधार व्यास 28 मीटर है जबकि इसकी ऊंचाई 43.6 मीटर है। धमेक स्तूप को बनवाने में ईट और रोड़ी और पत्थरों को बड़ी मात्रा में इस्तेमाल किया गया है। स्तूप के निचले तल में शानदार फूलों की नक्कासी की गई है।

    ReplyDelete
  41. आम्रवृक्ष,

    अन्य कोई नाम देना, कच्चे आम-ए-खास के साथ अन्याय होगा।

    ReplyDelete
  42. वाराणसी के निकट सारनाथ का स्तूप है यह

    ReplyDelete
  43. सारनाथ वह स्थान है जहाँ गौतम बुद्ध ने सर्वप्रथम अपना उपदेश दिया था.

    ReplyDelete
  44. Dhameka stupa,sarnaath,near varanasi,uttarpradesh.
    आपकी पिछली पोस्ट से यह तो समझ आ गया था कि प्रश्न उत्तरप्रदेश से होगा .इसलिए उस दिन ही उत्तर प्रदेश के बारे में सब कुछ देख लिया था .सुबह ७:३५ बजे उठ कर इन्टरनेट भी लगा लिया पर अपने ऊर्जाप्रदेश की राजधानी में हर शनिवार सुबह बिजली ही नहीं होती है यह याद नहीं रहा .अपना ब्रॉडबैंड बिना बिजली के चलता नहीं है ,इसलिए हम कभी फर्स्ट आने से रहे :(

    वैसे इस बार तो सही उत्तर का अम्बार लग गया होगा .

    ReplyDelete
  45. raampyari yeh to aam ka hee ped hai,is baar sahi jawab dikha kar shararat kyon kar rahi ho?

    ReplyDelete
  46. इतने सारे लोग मिलकर अटकल लगा रहे हैं ! लेकिन कोई पेड़ पर चढ़कर ठीक से चेक क्यों नहीं कर लेता ?

    ReplyDelete
  47. कमाल है~ लोगों नैं जमीं कुछ बेरा ही कोणी. अर यूँ बी शहरी मानसां णै पेड पौध्याँ का भला के बेरा सै...बताओ रूद्राकश के पेडे नै आम का बतावण लाग रे..... सारे नलैयक भरे पडे सैं :)

    ReplyDelete
  48. यो म्हानै तो "सारनाथ का स्तूप दिखे है"

    ReplyDelete
  49. रामप्यारी अमरूद का पेड़ है।

    और वो तो कोई स्तूप है या गुम्बज और कहाँ है जब पता चल जाये तो बता देना।

    ReplyDelete
  50. राम प्यारी के सवाल का जबाब है। -
    आम का पेड़

    तथा प्रश्न नं. 1 का जबाब है।
    - सारनाथ,वाराणसी का बोद्ध स्पूप (मन्दिर) उत्तरप्रदेश
    इसी स्थान पर महात्मा बुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश दिया था

    ReplyDelete
  51. प्रशन नं. 1 का सही जबाब हैं
    सारनाथ (वाराणसी ) का बोद्ध मन्दिर (स्तुप),उत्तरप्रदेश इसी स्थान पर महात्मा बुद्ध ने अपना प्रथम उपदेश दिया था

    ReplyDelete
  52. दूसरे प्रश्न रामपयारी जी के प्रश्न का उत्तर हैं
    आम का पेड़

    ReplyDelete
  53. ताऊ या फोटू देख के मै सोच्या के या बाजार आली मस्जिद से पर बंटी चोर धोरै जाण पै पता लग्गा कि या तो सांची को बोद्ध स्तूप है | और दूसरों आम को पेड है |

    ReplyDelete
  54. जब इतने लोग चीख-चीख कर आम का पेड़ कह रहे हैं तो हम क्या अहमक हैं जो कुछ और कहें ! अकेले हमें वैसे भी डर लगता है ! भीड़ के साथ ही रहेंगे !

    हमारा भी जवाब "आम का पेड़" दर्ज किया जाए !
    -
    -
    -
    इतने सारे लोगों ने आम का पेड़ कहा है ! अगर ये आम का पेड़ न हुआ तब भी मारे लज्जत के अगली बार से आम का फल ही देगा :)

    ReplyDelete
  55. aaj ke रामप्यारी के सवाल के हिंट का चित्र मेरे ब्लाग पर प्रकाशित कर दिया गया है. कृपया यहां चटका लगाकर रामप्यारी के ब्लाग पर जा सकते हैं.

    धन्यवाद.

    ReplyDelete
  56. अरी आम प्यारी तु भी ना पता नही क्यो इतने कठिन कठिन सवाल पुछ रही हे? पता हे जब हम भारत मे थे तो इस पेड पर पत्थर मार मार कर इसे चटकारे से, ओर एक आंख बंद कर के खाते थे, ओर फ़िर कभी कभी पत्थर किसी के सर मे भी लगता थ, ओर हमारी आंखे भी दुखने लगती थी, समझ गई ना यह तरबुज का पेड हे जी, आम तो आज कल गंगा किनारे बेलो पर लगते हे :) राम राम

    ReplyDelete
  57. अरे ताऊ कभी सारनाथ नही गया नही तो बता देता कि यह क्या हे, वेसे किसी बोद्ध भिखक्षु से पुछना पडेगा?

    ReplyDelete
  58. राम प्यारी चल जामुन खाने चले, आम तो अब सब झड गये

    ReplyDelete
  59. चमेली प्‍यारी
    राम प्‍यारी
    का जवाब।

    ReplyDelete
  60. धामेक स्तूप सारनाथ उत्तर प्रदेश

    ReplyDelete
  61. धामेक स्तूप, सारनाथ

    ReplyDelete
  62. वाराणसी के पास सारनाथ का महान साँची स्तूप,उत्तर प्रदेश

    ReplyDelete
  63. राम प्यारी जी का जवाब -आम का पेड है ।

    ReplyDelete
  64. आशीष जी ये अशोका नही है ।चित्र को बडा कर देखो उस मे फल भी लगा हुआ है।

    ReplyDelete
  65. सभी को द्शहरे की बहुत बहुत बधाई ।

    ReplyDelete
  66. ...aam ka ped hai...aur doosara bijapoor gol-gumbaj hai!...kuchh to bolo Rampyaariji!

    ReplyDelete
  67. ताऊ जी राम राम - नवमी और दसमी पर शुभकामनायें

    पहेली का उत्तर है - ये बुद्ध स्तूप है - सारनाथ का
    रामप्यारी जी को मेरा नमस्कार - उनके चित्र में - आम की पत्तियां हैं... आडू नासपाती भी हो सकता है

    ReplyDelete
  68. आम का पेड नही है रामप्यारी बडी शरारती हो गई है ओह ये तो...:-)

    ReplyDelete
  69. रामप्यारी का जवाब ..अखरोट का पेड

    ReplyDelete
  70. बता तो दिया था रामप्यारी

    ये लीची का पेड है।

    राम राम

    ReplyDelete
  71. नाशपती का पेड़

    ReplyDelete
  72. बहुत ही सरल..

    मगर देर से आये:


    सारनाथ, बनारस के पास!!

    ReplyDelete
  73. आम का पेड़.....प्यारी रामप्यारी

    ReplyDelete
  74. प्रकाश बाबू की चिन्ता सही निकली..कनाडा वाले भईया तो सोते ही रह गये. :)

    ReplyDelete
  75. ई तो बहुत बड़ा सेड वाला मामला है !
    हम यहाँ पूरा पावर के साथ जी जान लगाकर पहेली बुझा रहे हैं और हमारा रेसपेकटेड कंपटीटर लोग सो रहा है !

    जीत की ख़ुशी में पटाखा फोड़ने का सारा मजा ही बुझा गया :(

    ReplyDelete
  76. फ़ुल टहनी पे ज्यादा, और फ़ल टहनी पर एक?
    रामप्यारी की पहेली या पुरा फ़ेकम फ़ेक ॥

    ReplyDelete
  77. ये वाराणसी, (उत्तर प्रदेश) के निकट सारनाथ है|

    ReplyDelete
  78. राम प्यारी इस बार मौलश्री के महकते फूलों का गुच्छा उठा लाई है|ये मौलश्री का पेड़ है|

    ReplyDelete
  79. दशहरे की बधाइयाँ !

    जगह का पता रात में देखता हूँ !

    ReplyDelete
  80. raampyari lagta hai vanspti me hmari PHD krake hi maanogi raani. Ye RUDRAKH Ka tree hai. Itni mehnat to hmne kabhi exams me nahi ki ha ha ha ha ha ha .

    ReplyDelete
  81. raampyari lagta hai vanspti me hmari PHD krake hi maanogi raani. Ye RUDRAKH Ka tree hai. Itni mehnat to hmne kabhi exams me nahi ki ha ha ha ha ha ha .

    ReplyDelete
  82. विजयादशमी की बहुत बहुत बधाई ......

    (es war paheli mein mujhse kuchh galti ho gayi...dhekhte hain kya hota hai???....)

    ReplyDelete
  83. सूचना :-

    इस पहेली पर जवाब देने का समय समाप्त हो चुका है.

    अब जो भी सही जवाब आयेंगे उन्हें अधिकतम ५० अंक दिये जा सकेंगे एवम जवाबी पोस्ट मे उनका नाम शामिल किया जाना पक्का नही है.

    सभी प्रतिभागियों का उत्साह वर्धन के लिये हार्दिक आभार.

    -आयोजनकर्ता

    ReplyDelete