Powered by Blogger.

ताऊ पहेली - 96 Dhamekh Stupa-Sarnath-Uttar Pradesh विजेता : श्री प्रकाश गोविंद

प्रिय भाईयो और बहणों, भतीजों और भतीजियों आप सबको घणी रामराम ! हम आपकी सेवा में हाजिर हैं ताऊ पहेली 96 का जवाब लेकर. कल की ताऊ पहेली का सही उत्तर है Dhamekh Stupa-Sarnath-Uttar Pradesh

और इसके बारे मे संक्षिप्त सी जानकारी दे रही हैं सु. अल्पना वर्मा.

आप सभी को मेरा नमस्कार,

पहेली में पूछे गये स्थान के विषय में संक्षिप्त और सारगर्भित जानकारी देने का यह एक लघु प्रयास है.

आशा है, आप को यह प्रयास पसन्द आ रहा होगा,अपने सुझाव और राय से हमें अवगत अवश्य कराएँ.


सारनाथ ,उत्तर प्रदेश
----------------------
उत्तर प्रदेश में बनारस से ७- ८ किलोमीटर सारनाथ बुद्ध भगवान की तपो स्थली कहलाती है . इसे ॠषिपतन तथा मृगदाव या मृगदाय भी कहते हैं .
इसका आधुनिक नाम सारनाथ शायद सारंगनाथ (मृगों के स्वामी) का ही बदल रूप हो सकता है.
यहाँ महात्मा बुद्ध ने प्रथम उपदेश दिया था.यह बौद्ध धर्म के चार पवित्र स्थानों में से एक है.
भारत का राष्ट्रीय चिन्ह यहीं से ही प्राप्त है.इस स्थान को धर्मचक्र प्रवर्तन स्थल भी कहा जाता है.यहाँ अनेक पुरातात्विक स्मारक देखने दुनिया भर के लोग आते हैं.बोध धर्म ही नहीं वरन जैन धर्म के ग्यारहवें तीथर्ंकर श्रेयंशनाथ की तपस्थली तथा बाद में मृत्युस्थली होने के कारण जैन मतावलंबियों के लिए भी इस स्थल का अपना एक अलग महत्व है.
dhamekh stupa sarnath


धमेख स्तूप पहेली के चित्र में दिखाया गया था इसे धर्मचक्र स्तूप भी कहा जाता है.इसी स्थान पर महात्मा बुद्ध ने प्रथम उपदेश दिया था.
इसका व्यास 28.5 मी. और ऊंचाई 33.53 मी. है.
गुप्तकालीन शिल्प का उदाहरण देती हुई विभिन्न प्रकार की आकृतियां,फूल-पत्ती की सुन्दर बेलें स्तूप पर बनी दिखाई देती हैं.
गुप्तकालीन बौद्ध साहित्य में स्तूपों के ऊपर देवदूष्य[पहरावनी] चढाने का उल्लेख भी मिलता है .
सारनाथ में पुरातत्व संग्रहालय भी है जहाँ आप सारनाथ से प्राप्त पुरावशेष देख सकते हैं और विशेष रूप से प्रसिद्ध स्मारक अशोक स्तंभ भी यहीं देख सकते हैं ,
जो की एक ही पत्थर को काटकर बनाया गया है.इसमें गज, वृषभ और अश्व की आकृतियां बनी हुई हैं.

धमेख स्तूप भारतीय पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित इमारत है .यहाँ पर्यटकों को दर्शनार्थ टिकट लेना होगा.
धमेख स्तूप के अतिरिक्त चौखंडी स्तूप,धर्मराजिका स्तूप,[ इसकी केवल बुनियाद ही शेष है बाकि भाग नष्ट हो चुका है.],मूलगंधकुटी आदि भी दर्शनीय हैं.

पहेली ९७ भारत के उत्तर से है .यह कोई पूजा का स्थान नहीं है ,न ही कोई उद्यान.



आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" की नमस्ते!

प्यारे बहनों और भाईयो, मैं आचार्य हीरामन “अंकशाश्त्री” ताऊ पहेली के रिजल्ट के साथ आपकी सेवा मे हाजिर हूं. उत्तर जिस क्रम मे मुझे प्राप्त हुये हैं उसी क्रम मे मैं आपको जवाब दे रहा हूं. एवम तदनुसार ही नम्बर दिये गये हैं.



सभी विजेताओं को हार्दिक शुभकामनाएं.


आज के प्रथम विजेता श्री प्रकाश गोविंद


श्री प्रकाश गोविंद अंक 101


आईये अब आज के अन्य विजेताओं से आपको मिलवाते हैं.


 

ajju5

Dr.Ajmal Khan अंक 100

ravikantpande

श्री रविकांत पांडे अंक 99

sabir h khan

श्री sabir*h*khan अंक 98

श्री रतन सिंह शेखावत अंक 97

darshan-baweja

श्री Darshan Lal Baweja अंक 96

mass

सुश्री M A Sharma “सेहर” अंक 95

indu-arora

सुश्री Indu Arora अंक 94

gajendra singh

श्री गजेंद्र सिंह अंक 93

OSHO

श्री ओशो रजनीश अंक 92

seema-gupta-2

सुश्री सीमा गुप्ता अंक 91

bantichor

श्री बंटी चोर अंक 90

ashish-mishra

श्री आशीष मिश्रा अंक 89

श्री अंतरसोहिल अंक 88

sugya-letest

श्री सुज्ञ अंक 87

anshumala

सुश्री anshumala अंक 86

mverma

श्री M VERMA अंक 85

anju

सुश्री Anju अंक 84

nmishra

 श्री "निरंजन मिश्र (अनाम)" अंक 83

ssb

 श्री Surendra Singh Bhamboo अंक 82

रज-भतिअ

श्री राज भाटिया अंक 81

श्री रंजन अंक 80

dwivediji

श्री दिनेशराय द्विवेदी अंक 79

saba-akbar1

सुश्री Saba Akbar अंक 78

anjanaji

सुश्री anjana अंक  77

nutan-niti डॉ. नूतन - नीति   अंक 76

श्री उडनतश्तरी अंक 75

 

श्री अभिषेक ओझा अंक 74

smartindian

श्री स्मार्ट इंडियन अंक 73

rps

श्री राणा प्रताप सिंह अंक 72


आईये अब रामप्यारी मैम की कक्षा में





हाय गुड मार्निंग एवरीबड्डी... मेरे सवाल का सही जवाब है : रुद्राक्ष का पेड.... मिस रामप्यारी के ब्लाग पर हिंट का चित्र साभार Travel Blog से लिया गया है. निम्न सभी प्रतिभागियों को सवाल का सही जवाब देने के लिये 20 नंबर दिये हैं सभी कॊ बधाई.



Fruits On Rudraksha Tree


Flowers On Rudraksha Tree

यह चित्र साभार Travel Blog से लिया गया है.


आज के सवाल लिये खास तौर से मेरे ब्लाग पर हिंट की पोस्ट भी प्रकाशित की गई थी पर किसी ने भी उस पर कान देना उचित नही समझा और बस आम खाने में लगे रहे. इसीलिये मैं कहती हुं कि जो चीज जैसी दिखाई देती है वैसी होती नही है. भविष्य में ध्यान रखियेगा.

सब कष्ट हरने वाला रूद्राक्ष


इस सवाल के जवाब में सिर्फ़ दो सही जवाब आये पहला श्री डी. के. शर्मा “वत्स” का एवम दूसरा सुश्री सीमा गुप्ता का. दोनों को इस सवाल का सही जवाब देने के लिये ताऊ डाट इन की तरफ़ से ’वनस्पति स्नेही’ सम्मान प्रदान किया जाता है. एवम आप दोनों को भगवान रूद्र के आशीर्वाद के रूप में प्राण प्रतिष्ठित किया हुआ एक एक सिद्ध रूद्राक्ष भेंट स्वरूप अति शीघ्र भिजवाया जा रहा है.

अब अगले शनिवार को ताऊ पहेली में फ़िर मिलेंगे. तब तक जयराम जी की!

अब आईये आपको उन लोगों से मिलवाता हूं जिन्होने इस पहेली अंक मे भाग लेकर हमारा उत्साह वर्धन किया. आप सभी का बहुत बहुत आभार.

भारतीय नागरिक - Indian Citizen
श्री ललित शर्मा
डा.रुपचंद्रजी शाश्त्री "मयंक,
श्री अविनाश वाचस्पति
श्री दिलीप कवठेकर
श्री काजलकुमार,
श्री मनोज कुमार
श्री नीरज गोस्वामी
श्री गगन शर्मा
सुश्री वंदना
श्री नरेश सिंह राठौड
डा.अरूणा कपूर
श्री संजय भास्कर
श्री राम त्यागी

अब अगली पहेली का जवाब लेकर अगले सोमवार फ़िर आपकी सेवा मे हाजिर होऊंगा तब तक के लिये आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" को इजाजत दिजिये. नमस्कार!


आयोजकों की तरफ़ से सभी प्रतिभागियों का इस प्रतियोगिता मे उत्साह वर्धन करने के लिये हार्दिक धन्यवाद. !

ताऊ पहेली के इस अंक का आयोजन एवम संचालन ताऊ रामपुरिया और सुश्री अल्पना वर्मा ने किया. अगली पहेली मे अगले शनिवार सुबह आठ बजे आपसे फ़िर मिलेंगे तब तक के लिये नमस्कार.

24 comments:

  1. रुद्राक्ष के बारे में जानकारी के लिये धन्यवाद!

    ReplyDelete
  2. वाह भई प्रकाश जी की तपस्या फिर रंग लाई, मुबारक हो विजेता होने पर.

    ReplyDelete
  3. सबको बधाई... ताऊ आजकल योग के क्लास ज्वाईन कर लिये हैं क्या. सुबह ४.४४ पर ही छाप दिया रिजल्ट..

    ReplyDelete
  4. जो चीज जैसी दिखाई देती है वैसी होती नहीं ...
    क्या बात है ताऊ जी ...
    अच्छी जानकारी ...
    सभी विजेताओं को बधाई ...!

    ReplyDelete
  5. आदरणीय प्रकाश जी सहित सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई, रामप्यारी रानी लगता है वनस्पति के क्षेत्र में करनी ही पड़ेगी
    regards

    ReplyDelete
  6. वाह जी..मजा आ गया ...प्रकाश भाई पुनः विजेता बनें...हार्दिक बधाई स्वीकारें. :)

    ReplyDelete
  7. मुझे तो बड़ी ख़ुशी हो रही है पहली बार ताऊ पहेली का जवाब मुझे पता था और नंबरों का खाता भी खुल गया तथा नंबर भी ठीक ठाक मिल गये है अगली बार और अधिकी नंबर लाने का प्रयास होगा बस ताऊ जी पहेली ऐसे ही आसान वाले पूछियेगा | धन्यवाद |

    ReplyDelete
  8. सभी विजेताओ को ढेरो बधाईया

    ReplyDelete
  9. सभी पहेली प्रेमियों को हार्दिक बधाई
    -
    -
    इस बार का पहेली परिणाम चौंकाने वाला है
    जो लोग बिहार से जवाब लाये वो भी विजेता और जो उत्तर प्रदेश से जवाब लाये वो भी विजेता
    वाकई कमाल की बात है
    -
    -
    ’वनस्पति स्नेही’ सम्मान के बारे में अगर पता होता तो एक घंटा और मेहनत करके देख लेते :)

    ReplyDelete
  10. सभी विजेताओं को बधाई

    और खाश वनस्पति स्नेही पंडित श्री डी के 'वत्स' जी को।

    ReplyDelete
  11. पहेलियों के अघोषित सम्राट प्रकाश गोविंद जी महाराज सहित सभी विजेताओं को अगणित बधाईयाँ।

    ReplyDelete
  12. सभी विजेताओ को ढेरो बधाईयां।
    ये तो कमाल था लग ही नही रहा था रामप्यारी ………………अच्छी जानकारी मिली।

    ReplyDelete
  13. यही तो फ़ायदा इस ब्लॉग पर आने का, बुद्धि की परीक्षा भी हो जाते है (जिसमें मैं हमेशा फ़िसड्डी रहा हूं) और ज्ञान भी बढ जाता है। सभी विजेताओं को बधाई।

    ReplyDelete
  14. सभी विजेताओं को बहुत बधाई.....

    रुद्राक्ष को पहचान पाने के लिए
    श्री डी. के. शर्मा “वत्स” का एवम सुश्री सीमा गुप्ता जी को विशेष ...बधाई

    ReplyDelete
  15. majedaar comments ke liye bhee bahut dhanyvaad un mitron ko...

    thodee deer ke liye hans lete hain aur thakaan duuur ho jatee hai ...:))unkee jindadili ko naman .

    Taauji ka bahut abhaar is manch par sabhee ko ikatrit karne ke liye


    sadar

    ReplyDelete
  16. ’वनस्पति स्नेही’ सम्मान के बारे या ऐसा कोई और सम्मान हो तो पूर्व घोषणा उपेक्षित है ज्यादा जोर मार लेते जी राम प्यारी को तो हम सीरियस लेते ही नहीं ..
    और भाई प्रकाश 25/100 होने के लिए अभी 2/4
    जीतनी है
    आपको इस कठिन प्रतियोगिता के लिए शुभकामनाएँ

    विज्ञान गतिविधीयाँ नई पोस्ट
    क्यों और कैसे विज्ञान मे नई पोस्ट

    ReplyDelete
  17. सभी विजेताओं को बधाई .

    ReplyDelete
  18. पहेली में मैने भी भाग लिया था..सही जवाब भी भेजा था...थोड़ी देर की इतनी बड़ी सजा...! या फिर मेरा कमेंट ही नहीं पहुंचा!

    ReplyDelete
  19. @ देवेन्द्र पाण्डेय जी

    अच्छी तरह से चेक कर लिया गया है. अब कोई भी कमेंट प्रकाशित होना शेष नही बचा है, आपका कमेंट इस पहेली पर नही आया है.

    रामराम.

    ReplyDelete
  20. सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई!

    ReplyDelete
  21. Farmers Rudraksha in Indonesia, Suppliers Rudraksha visit : www.rudrakshajava.com

    ReplyDelete