Powered by Blogger.

ताऊ पहेली - 91

प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम.
ताऊ पहेली अंक 91 में मैं ताऊ रामपुरिया, सह आयोजक सु. अल्पना वर्मा के साथ आपका हार्दिक स्वागत करता हूं. जैसा कि आप जानते ही हैं कि अब से रामप्यारी का हिंट सिर्फ़ एक बार ही दिया जाता है. यानि सुबह 10:00 बजे ही रामप्यारी के ब्लाग पर मिलता है.

विनम्र विवेदन

कृपया पहेली मे पूछे गये चित्र के स्थान का सही सही नाम बतायें कि चित्र मे दिखाई गई जगह का नाम क्या है? कई प्रतिभागी सिर्फ़ उस राज्य का या शहर का नाम ही लिख कर छोड देते हैं. जो कि अबसे अधूरा जवाब माना जायेगा.

हिंट के चित्र मे उस राज्य या शहर की तरफ़ इशारा भर होता है कि उस राज्य या शहर मे यह स्थान हो सकता है. अब नीचे के चित्र को देखकर बताईये कि यह कौन सी जगह है? और किस शहर या राज्य में है?


ताऊ पहेली का प्रकाशन हर शनिवार सुबह आठ बजे होगा. ताऊ पहेली के जवाब देने का समय कल रविवार दोपहर १२:०० बजे तक है. इसके बाद आने वाले सही जवाबों को अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे.

अब रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर का. यानि जो भी प्रतिभागी रामप्यारी के सवाल का सही जवाब देगा उसे 20 नंबर अलग से दिये जायेंगे. तो आईये अब आपको रामप्यारी के पास लिये चलते हैं.


"रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर के लिये"



हाय...आंटीज एंड अंकल्स...दीदीज एंड भैया लोग...गुडमार्निंग..मी राम की प्यारी रामप्यारी.....अब आपसे पूरे 20 नंबर का सवाल पूछ रही हूं. सवाल सीधा साधा है. बस मुख्य पहेली से अलग एक टिप्पणी करके जवाब देना है. और 20 नंबर आपके खाते में जमा हो जायेंगे. है ना बढिया काम...तो अब नीचे का चित्र देखिये और बताईये की इस चित्र में जो दो जानवर दिखाई दे रहे हैं वो कौन कौन है?




इस सवाल का जवाब अलग टिप्पणी मे ही देना है. अब अभी के लिये नमस्ते. मेरे ब्लाग पर अब से दो घंटे बाद यानि 10 बजे आज की मुख्य पहेली के हिंट के साथ आपसे फ़िर मुलाकात होगी तब तक के लिये नमस्ते.

अब आप रामप्यारी के ब्लाग पर हिंट की पोस्ट सुबह दस बजे ही पढ सकते हैं! दूसरा हिंट नही दिया जायेगा.
जरुरी सूचना:-

टिप्पणी मॉडरेशन लागू है इसलिए समय सीमा से पूर्व केवल अधूरे और ग़लत जवाब ही प्रकाशित किए जाएँगे.
सही जवाबों को पहेली की रोचकता बनाए रखने हेतु समय सीमा से पूर्व अक्सर प्रकाशित नहीं किया जाता . अत: आपका जवाब आपको तुरंत यहां नही दिखे तो कृपया परेशान ना हों.

इस अंक के आयोजक हैं ताऊ रामपुरिया और सु. अल्पना वर्मा

नोट : यह पहेली प्रतियोगिता पुर्णत:मनोरंजन, शिक्षा और ज्ञानवर्धन के लिये है. इसमे किसी भी तरह के नगद या अन्य तरह के पुरुस्कार नही दिये जाते हैं. सिर्फ़ सोहाद्र और उत्साह वर्धन के लिये प्रमाणपत्र एवम उपाधियां दी जाती हैं. किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजकों का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा. एवम इस पहेली प्रतियोगिता में आयोजकों के अलावा कोई भी भाग ले सकता है.


मग्गाबाबा का चिठ्ठाश्रम
मिस.रामप्यारी का ब्लाग
ताऊजी डाट काम

67 comments:

  1. यह तो मध्यप्रदेश का खजूराहो मन्दिर लग रहा है!

    ReplyDelete
  2. खजुराहो की प्रबल सम्भावना है।

    ReplyDelete
  3. रामप्यारी,
    कुत्ता और बिल्ली!

    ReplyDelete
  4. अरे रामप्यारी!
    चित्र में तो
    एक कुत्ता और दूसरा पिल्ला ही है ना!

    ReplyDelete
  5. Bhoramdeo Temple,
    Kawardha, Chhattisgarh
    ************************

    Bhoramdeo temple, is carved on the rocky stones in the Nagar style. This temple was built in the period of 7th to 11th century A.D. The Shiva Linga in the temple is beautifully carved and the artistic appeal beckons the visitors. The Bhoramdeo temple has a resemblance with the Sun temple of Konark and The Khajuraho temple, and that is why it is also called the Khajuraho of Chhattisgarh. In the backdrop of natural beauty, this temple is also unique for its architecture.

    ReplyDelete
  6. 1-मध्य प्रदेश के चंदेल राजाओं द्वारा निर्मित खजुराहो का प्रसिद्ध मंदिर हैं।
    2-लोमड़ी है

    ReplyDelete
  7. आज हमें देरी हो गयी. जीतने का चानस हाथ से निकल गया. यह भोराम्देओ मंदिर है. छत्तीसगढ़ का खजुराहो.

    ReplyDelete
  8. कुत्ता, बिल्ली और एक आदमी

    ReplyDelete
  9. खजुराहो मंदिर है जो मध्य प्रदेश में स्थित है!
    बड़ा वाला कुत्ता है और छोटा वाला बिल्ली का बच्चा है!

    ReplyDelete
  10. मित्र दो जो इंसानो से भी प्यारे है, आज ब्लोग पर पधारे है.

    ReplyDelete
  11. सूर्य मंदिर- रणकपुर फालना राजस्थान...

    नीरज

    ReplyDelete
  12. bhoramdeo temple in chattishgarh

    and dog and cat

    ReplyDelete
  13. यह छत्तीसगढ़ का बोरानदेव मंदिर है

    ReplyDelete
  14. ये छ्त्तीसगढ़ का खजुराहो कहा जाने वाला भोरमदेव मंदिर है जो कि कवर्धा मे है

    ReplyDelete
  15. छत्तीसगढ का खजुराहो कहलाने वाला भोरमदेव का मंदिर है। यह कबीरधाम (कवर्धा) जिले में स्थित है। किंवदन्ती है कि इसे छ:माह की दिन और रात की अवधि में तैयार किया गया था।
    मंदिर के गर्भ गृह में शिवलिंग स्थापित है। गत वर्ष में हमने उदय का जन्मदिन सपरिवार यहीं मनाया था।

    ReplyDelete
  16. मुख्यमंत्री की फ़ोटो देखकर मंदिर अभी तक तो मध्यप्रदेश में ही लग रहा है, अब अगर खजुराहो का नहीं है तो न सही, मैं कौन सा पहचान ही लेता. नीचे कुत्ता बिल्ली व इन्सान की टांगे हैं :-)

    ReplyDelete
  17. गणेश चतुर्थी पर हार्दिक शुभकामनायें, और मीठी ईद मुबारक....

    ये कुत्ता और लोमडी है.

    ReplyDelete
  18. छत्तीसगढ में स्थित भोरामदेव मंदिर

    ReplyDelete
  19. इसे छत्तीसगढ का खजुराओ कह जाता है.स्थापत्य कला में ये खजुराओ मंदिर और ओरिसा के सूर्य मंदिर से मिलता जुलता है. यह मंदिर संभवतः ११ वी शताब्दी में बनाया गया है. यहां शिवलिंग स्थापित है, और साथ में दूसरे देवों की भी मूर्तीयां हैं.

    ReplyDelete
  20. sahstrabahu temple (saas bahu temple)in gwalior

    ReplyDelete
  21. भोरम देव मंदिर, छत्तीसगढ
    (पता नही पहले वावाले टिप्पणे गयी कि नही)

    ReplyDelete
  22. रामप्यारी जी के सवाल का जवाब है

    कुत्ता और लोमडी

    प्रणाम

    ReplyDelete
  23. Khajuraho Temple, Madhya Pradesh - India


    प्रणाम

    ReplyDelete
  24. The Shiva Linga in the temple is beautifully carved and the artistic appeal beckons the visitors. The Bhoramdeo temple has a resemblance with the Sun temple of Konark and the Khajuraho temple, and that is why it is also called the Khajuraho of Chhattisgath. With a background of natural beauty, this temple is also unique for its architecture. Cunningham had termed it as one of the most beautifully decorated temples seen by him The main temple is in front of a tranquil and cool lake.

    This medieval temple has been constructed upon a five feet high sprawling platform including a Mandapa and sanctum (Garbhagriha). This east-facing temple has three openings except in the west. In the 60 ft. X 40 ft. area of the temple the Mandap is square shaped having four pillars in the centre and the rest in periphery and associated with high roofs. There is a half shelter also on every entrance.

    In the 9 X 9 Sq. ft. sized �Garbhagriha� a Shiva Linga� is installed. Near the entrance on the outer walls, the sculptures of Lord Vishnu and his other incarnations can be seen, besides those of Shiva, Ganesha etc. The row of idols from top to bottom have a size of one, one-and-a-half, and two feet height respectively.The bottom part of the temples has four structures to keep the main body of the temple intact braving adverse wheather conditions. There is no Kalasha on the top of the same.

    The idols of elephants and lions are queued up on the top to give the temple a decorative look. The main idols in the temple are those of Uma-Maheshwar, Natraj, Narsimha, Vaman, Krishna, Surya, Kaal Bhairava, Nritya Ganesh, Kartikeye, Tandul, Shivgang, Chamunda, Ambika, Sapta-Matrika and Laxmi-Narayan.The traces of Ramakatha are also engraved here on stones.Amidst a variety of idols the carved eternal sculptures of the temple are known worldwide for their exquisite carving in different erotic poses, obviously to reflect the lifestyle of those historic periods. In the north near this temple, there is a brick-structured temple. On the north-east and south portions of the Garbhagriha, the right-angled projections add attraction to the site having big one in the middle and smaller ones on the outer sides. The brick temple also has similar square Garbhagriha, as in the main temple but there is no Mandapa in the front and only an open projected wall is there, which contains Alinda. The entrance of the Garbhagriha is completely stone carved having one central pillar and three adjoining pillars still intact. Inside the main temple, there are the Shiva Linga and idols of Uma-Maheshwar. The king and queen are standing in the front as the worshippers.

    ReplyDelete
  25. Bhoramdev (Dist - Kawardha)

    Chattisgarh

    इसे छत्तीसगढ का खुजराहो भी कहते हैं।
    पिछला उत्तर बदल दिया जाये।
    सही उत्तर है भोरमदेव, जिला ख्वारदा, छतीसगढ

    प्रणाम स्वीकार करें

    ReplyDelete
  26. The Shiva Linga in the temple is beautifully carved and the artistic appeal beckons the visitors. The Bhoramdeo temple has a resemblance with the Sun temple of Konark and the Khajuraho temple, and that is why it is also called the Khajuraho of Chhattisgath. With a background of natural beauty, this temple is also unique for its architecture. Cunningham had termed it as one of the most beautifully decorated temples seen by him The main temple is in front of a tranquil and cool lake.

    ReplyDelete
  27. hint देखने के बाद जवाब है "Bhoramdeo Temple"Raipur,Chhatisgarh.

    ReplyDelete
  28. "छतीसगढ का खजुराहो" यानि भोरमदेव मन्दिर, जिला रायपुर, छत्तीसगढ

    ReplyDelete
  29. कुक्कुर और बिलाव का बच्चा दिखाई दे रहे हैं....

    ReplyDelete
  30. रामप्यारी का जवाब|
    एक तो कुत्ता और दूसरा सियार का बच्चा लग रहा है|

    ReplyDelete
  31. bhoramdeo temple, chattisgarh

    and dog and cat

    ReplyDelete
  32. अजी ताऊ जी अगर मै कभी गवालियर जाता ओर वहां किला देखता ओर फ़िर गुरुदुवारे जाता तो भी मूजे पता नही चल सकता था कि यह जगह कोन सी है, राम जाने... अपनी तो राम राम

    ReplyDelete
  33. यह कवर्धा का भोरमदेव, शिव मंदिर हैं जो कि ११वीं शताब्दी में बना था छत्तीसगढ़ में स्थित है पिछले साल ही देखने का सुअवसर मिला था

    ReplyDelete
  34. Rampyari

    ik to Dog hai n bachcha kiska hai? jackale ka ? nahee pata ...

    ReplyDelete
  35. आज "उड़न तश्तरी जी"कहाँ हैं भई?लगता है सुबह सुबह सही जवाब दे कर सो गए :)

    ReplyDelete
  36. मन्दिर तो कोइ उत्तराखंड का लग रहा है हां राम प्यारी के सवाल मे कुत्ता और लोम्डी का बच्चा है!

    ReplyDelete
  37. आज तो सबने कन्फ़्यूज़ कर दिया ………………मंदिर शायद खजुराहो का है।
    और रामप्यारी ये तो कुत्ता और उसका पिल्ला लग रहा है।

    ReplyDelete
  38. सिरपुर का लक्ष्मण मंदिर

    ReplyDelete
  39. यह खुजराहो का मंदिर है और चित्र में दोनों ही कुत्ते है |

    ReplyDelete
  40. हाय राम ताऊ मन्ने तो लागा इब तक सारे मंदिर निपट लिए होंगे ...ब्लॉगर्स के घर का नंबर आ लिया होगा ..एक दिन अपना भी आएगा और हम जीत लेंगे मगर , धत तेरे कि ....ये एक मंदिर है , ...

    ReplyDelete
  41. बिल्लन चित्र में देखने पर सिर्फ़ इतना पता चला कि ....दो मासूम से जीव के बीच ससुरा एक आदमी यहां भी अपनी टांगे घुसेडे खडा है

    ReplyDelete
  42. एक तो रामप्यारी की मौसी की लड़की है और दूसरा सैम के चाचा का लड़का.


    एक नग कुत्ता और एक नग बिल्ली.

    ReplyDelete
  43. गणेश चतुर्थी और ईद की बहुत बधाई एवं शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  44. namste tau,the anser is-Bhoramdeo temple,Chhattisgarh.

    ReplyDelete
  45. happy eid and ganesh chaturthi to all of you.

    ReplyDelete
  46. दक्षिण भारत का कोई मंदिर लग रहा है.

    ReplyDelete
  47. दक्षिण भारत का कोई मंदिर लग रहा है.

    ReplyDelete
  48. Bhoramdev Temple, Kawardha, Chhattisgarh

    ReplyDelete
  49. ये पत्थर का मंदिर है और क्या ..... इत्ता भी नहीं समझ पाया कोई :)

    ReplyDelete
  50. ईद पर कर बैठे जिद
    कि चांद चाहिए
    उन्‍होंने सर झुका कर कहा
    चले आइये
    पर संभलकर आइयेगा।

    ReplyDelete
  51. खजुराहो, मध्यप्रदेश

    रामप्यारी,
    कुत्ता और बिल्ली!

    ReplyDelete
  52. भोरम देव मंदिर..

    रायपुर से कोई १२० किमी दूर...

    ReplyDelete
  53. ताऊ,
    हमसे तो मुख्यमंत्री भी न पहचाना गया, मंदिर क्या पहचानते।
    आसान वाली पहेली भी पूछ लिया करो कभी।
    रामराम।

    ReplyDelete
  54. छत्तीसगढ़ की कोई जगह है ये तो ...

    लक्ष्मी मंदिर लग रहा है रायपुर का ...

    ReplyDelete
  55. सूचना :-

    इस पहेली पर जवाब देने का समय समाप्त हो चुका है.

    अब जो भी सही जवाब आयेंगे उन्हें अधिकतम ५० अंक दिये जा सकेंगे एवम जवाबी पोस्ट मे उनका नाम शामिल किया जाना पक्का नही है.

    सभी प्रतिभागियों का उत्साह वर्धन के लिये हार्दिक आभार.

    -आयोजनकर्ता

    ReplyDelete