Powered by Blogger.

ताऊ पहेली - 87

प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम.
ताऊ पहेली अंक 87 में मैं ताऊ रामपुरिया, सह आयोजक सु. अल्पना वर्मा के साथ आपका हार्दिक स्वागत करता हूं. जैसा कि आप जानते ही हैं कि अब से रामप्यारी का हिंट सिर्फ़ एक बार ही दिया जाता है. यानि सुबह 10:00 बजे ही रामप्यारी के ब्लाग पर मिलता है.

विनम्र विवेदन

कृपया पहेली मे पूछे गये चित्र के स्थान का सही सही नाम बतायें कि चित्र मे दिखाई गई जगह का नाम क्या है? कई प्रतिभागी सिर्फ़ उस राज्य का या शहर का नाम ही लिख कर छोड देते हैं. जो कि अबसे अधूरा जवाब माना जायेगा.

हिंट के चित्र मे उस राज्य या शहर की तरफ़ इशारा भर होता है कि उस राज्य या शहर मे यह स्थान हो सकता है. अब नीचे के चित्र को देखकर बताईये कि यह कौन सी जगह है? और किस शहर या राज्य में है?


ताऊ पहेली का प्रकाशन हर शनिवार सुबह आठ बजे होगा. ताऊ पहेली के जवाब देने का समय कल रविवार दोपहर १२:०० बजे तक है. इसके बाद आने वाले सही जवाबों को अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे.

अब रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर का. यानि जो भी प्रतिभागी रामप्यारी के सवाल का सही जवाब देगा उसे 20 नंबर अलग से दिये जायेंगे. तो आईये अब आपको रामप्यारी के पास लिये चलते हैं.


"रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर के लिये"


हाय...आंटीज एंड अंकल्स...दीदीज एंड भैया लोग...गुडमार्निंग..मी राम की प्यारी रामप्यारी..... आज नागपंचमी है, नागदेवता को दूध पिलाने के नाम पर उन जीवों पर बहुत जुल्म किया जाता है. मैं आपसे निवेदन करती हूं कि आप अपनी आस्थाओं के हिसाब से अवश्य यह त्योंहार मनाएं. पर कुछ ढोंगी सपेरों की बात मे आकर आप सांप को दूध पिला कर उन निरीह जीवों पर अत्याचार ना करें. सांप दूध नही पीते और दूध उनको नुक्सान पहूंचाता है. ये सपेरे पृकृति के इन सुंदर जीवों को पकड कर इनके विष दंत तोड कर, इन्हें कई दिन भूखा रखते हैं जिससे कि नागपंचमी के दिन ये दूध के कटोरे में मूंह डालें और उन्हें पैसे मिलें. मेरे निवेदन पर अवश्य गौर करें. आपको आज के दिन दूध पिलाने का शौक है ओ अपने किसी आस्तीन के सांप मित्र को पिलायें. नागपंचमी की सभी को रामराम.
अब आपसे पूरे 20 नंबर का सवाल पूछ रही हूं. सवाल सीधा साधा है. बस मुख्य पहेली से अलग एक टिप्पणी करके जवाब देना है. और 20 नंबर आपके खाते में जमा हो जायेंगे. है ना बढिया काम...तो अब नीचे का चित्र देखिये और बताईये की यह क्या है?



इस सवाल का जवाब अलग टिप्पणी मे ही देना है. अब अभी के लिये नमस्ते. मेरे ब्लाग पर अब से दो घंटे बाद यानि 10 बजे आज की मुख्य पहेली के हिंट के साथ आपसे फ़िर मुलाकात होगी तब तक के लिये नमस्ते.

अब आप रामप्यारी के ब्लाग पर हिंट की पोस्ट सुबह दस बजे ही पढ सकते हैं! दूसरा हिंट नही दिया जायेगा.
जरुरी सूचना:-

टिप्पणी मॉडरेशन लागू है इसलिए समय सीमा से पूर्व केवल अधूरे और ग़लत जवाब ही प्रकाशित किए जाएँगे.
सही जवाबों को पहेली की रोचकता बनाए रखने हेतु समय सीमा से पूर्व अक्सर प्रकाशित नहीं किया जाता . अत: आपका जवाब आपको तुरंत यहां नही दिखे तो कृपया परेशान ना हों.

इस अंक के आयोजक हैं ताऊ रामपुरिया और सु. अल्पना वर्मा

नोट : यह पहेली प्रतियोगिता पुर्णत:मनोरंजन, शिक्षा और ज्ञानवर्धन के लिये है. इसमे किसी भी तरह के नगद या अन्य तरह के पुरुस्कार नही दिये जाते हैं. सिर्फ़ सोहाद्र और उत्साह वर्धन के लिये प्रमाणपत्र एवम उपाधियां दी जाती हैं. किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजकों का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा. एवम इस पहेली प्रतियोगिता में आयोजकों के अलावा कोई भी भाग ले सकता है.


मग्गाबाबा का चिठ्ठाश्रम
मिस.रामप्यारी का ब्लाग
ताऊजी डाट काम

62 comments:

  1. हा हा हा
    मुझे आज की पहेली का भी जवाब नहीं आता :-))

    ReplyDelete
  2. KANGRA FORT
    HIMACHAL PRADESH :
    =====================
    Kangra Fort was once the stronghold and seat of power of Katoch rulers, who ruled the land for over 2000 years. Today, it stands in ruins because of the devastating earthquake that hit the area in 1905. The location of the fort is such that it is inaccessible from three sides. Kangra Fort of Himachal Pradesh overlooks the rivers of Manjhi (or Patal Ganga) and Ban Ganga. This massive fort once housed the royal residences and shrines in its highest part. All that is left intact now are its surrounding battlements, the temple of Goddess Ambika Devi and two Jain temples.

    ReplyDelete
  3. The Kangra Fort is located 20 kilometers from the town of Dharamsala, Himachal pradesh

    ReplyDelete
  4. 1-सोने की लंका है जो चुकी
    2-मगरमच्छ के अंडे

    ताउजी राम-राम

    सांपो को दूध पिलाईए
    नागपंचमी मनाईए

    नागपंचमी की बधाई
    सार्थक लेखन के लिए शुभकामनाएं-हिन्दी सेवा करते रहें।


    नौजवानों की शहादत-पिज्जा बर्गर-बेरोजगारी-भ्रष्टाचार और आजादी की वर्षगाँठ

    ReplyDelete
  5. रामप्यारी की पहेली का उत्तर है-
    --
    साँप के अण्डे और उनमें से निकलते हुए साँप के बच्चे!

    ReplyDelete
  6. rampyari ka jawaab :

    Snake Eggs

    [abhi jab tak doosra jawaab samajh men na aaye tab tak yahi sahi]

    ReplyDelete
  7. "ताऊ पहेली - 87" का उत्तर क्सू आने के बाद बतायेंगे!

    ReplyDelete
  8. अच्छी प्रस्तुती के लिये आपका आभार


    खुशखबरी

    हिन्दी ब्लाँग जगत के लिये ब्लाँग संकलक चिट्ठाप्रहरी को शुरु कर दिया गया है । आप अपने ब्लाँग को चिट्ठाप्रहरी मे जोङकर एक सच्चे प्रहरी बनेँ , कृपया यहाँ एक चटका लगाकर देखेँ>>

    ReplyDelete
  9. अच्छी प्रस्तुती के लिये आपका आभार


    खुशखबरी

    हिन्दी ब्लाँग जगत के लिये ब्लाँग संकलक चिट्ठाप्रहरी को शुरु कर दिया गया है । आप अपने ब्लाँग को चिट्ठाप्रहरी मे जोङकर एक सच्चे प्रहरी बनेँ , कृपया यहाँ एक चटका लगाकर देखेँ>>

    ReplyDelete
  10. यह तो किसी प्राचीन किले का दृष्य है. लगता है बेचैन आत्मा यहाँ गई थी लेकिन नाम ही याद नहीं आ रहा.

    ReplyDelete
  11. पहेली तो आसान है. आज नागपंचमी है तो आपने सांपों के अंडे ही दिखाए होंगे.
    ..यह सांपों के अंडे हैं.

    ReplyDelete
  12. अहमदाबाद वाले तो जबाब देकर निकल गये होंगे अब तक///

    ReplyDelete
  13. गोलकोंडा किले का कोई हिस्सा लग रहा है.

    ReplyDelete
  14. रामप्यारी का जवाब :

    हाँ मेरा अनुमान सही है !
    सांप के अंडे ही हैं जिनमें से बच्चे बाहर आ रहे हैं
    -
    -
    कहाँ कहाँ से खोज लाती हो तुम भी :)

    ReplyDelete
  15. रामप्यारी

    सांप के अंडे

    ReplyDelete
  16. The Kangra Fort is located 20 kilometers from the town of Dharamsala on the outskirts of the town of Kangra, India. the fort is thought to date back to 1009 AD.

    ReplyDelete
  17. राम्प्यारी,
    ये अन्डे तो कछुए के लग रहे हैं।

    ReplyDelete
  18. The Kangra Fort, also known as the Nagarkot or Kot Kangra, is situated to the south-west of
    the old Kangra town Dharamsala.

    ReplyDelete
  19. रामप्यारी का बोनस सवाल-20

    यह आठ सांप के अंडे है।

    ReplyDelete
  20. कांगडा फ़ोर्ट,कांगडा,हिमांचल प्रदेश
    चित्र के दिख रहा छोटा सा मंदिर, जैन मंदिर है।

    ReplyDelete
  21. राम प्यारी जी
    सांप के अंडे है ये तो

    ReplyDelete
  22. रामप्यारी जी ,यह तो सांप के अंडे लग रहे हैं |

    ReplyDelete
  23. Kangra Fort , Kangra, Himachal Pradesh
    regards

    ReplyDelete
  24. The historical Kangra Fort was built by Bhuma Chand. This fort had been the centre of attraction for the rulers of northern India, since a long time.The remains of the fort of the rulers of Kangra are located on a strategic height, overlooking the Ban Ganga and Manjhi rivers. The first attack on the fort was made by the Raja of Kashmir `Shreshtha` in 470 AD. In 1846 Kangra fort fell into the hands of the British. The temple of Laxmi Narayan and Adinath located inside the kangra fort are dedicated to Jainism. Inside the fort are two ponds, one of them is called Kapur Sagar. The fort was badly damaged in a 1905 earthquake.

    regards

    ReplyDelete
  25. किसी मालदार आसामी के टूटे बिखरे घर दिखा कर,क्यों जले पर नमक लगा रहे हो ताऊ।
    किसी शांत पहाडी क्षेत्र में कंगूरे बता रहे हैं इमारत कभी बुलंद थी

    ReplyDelete
  26. कांगड़ा फ़ोर्ट, हिमाचल प्रदेश

    ReplyDelete
  27. प्रकाश गोवेन्द जो कह रहे हैं वही सही होगा। शुभकामनायें। अब बधाई देने आऊँगी।

    ReplyDelete
  28. कांगडा फ़ोर्ट हिमाचल प्रदेश

    प्रणाम स्वीकार करें

    ReplyDelete
  29. The history of the fort reveals that it attracted numerous eyes that wished to control the region. In those days it was said that the person who holds the Kangra fort will be the one who ruled over Kangra. Accordingly, the king of Kashmir, Shreshta became the first one to conquer the fort in 470 AD. In 1009 AD, Mohammad of Gazni set his eyes on the fort and ransacked it. He took away with him 7 lakh gold coins, 28 tonne utensils mode of gold and silver and 8 tonnes of diamond and pearls.

    The next two attack on the fort were made by Muhammad Tughlaq (in 1337) and Feroze Shah ( in 1357). A quick period of peace was soon followed by another attack. This one came from Khan Jahan, a commander of Sher Shah Suri in the year 1540. Less than a century later, Jahangir himself occupied the fort in 1620. 1781 saw the fort passing into the hands of Jassa Singh Kanhaya while five years later Maharaja Sansar Chand became its owner. Maharaja Ranjit Singh captured it in 1809 and finally in 1846, the Kangra fort fell into the hands of the British power.

    A devastating earthquake in 1905 caused much damage to the fort. As of today, the fort is the property of the Archaeological Survey of India.

    ReplyDelete
  30. हिमाचल प्रदेश में धर्मशाला से केवल 15 किमी की दूरी पर कांगडा जिले में कांगडा फोर्ट

    जै राम जी की ताऊ जी

    ReplyDelete
  31. मुझे तो सांप के अण्डे लग रहे हैं रामप्यारी

    प्रणाम

    ReplyDelete
  32. Kangra Fort , Kangra, Himachal Pradesh

    The historical Kangra Fort was built by Bhuma Chand. This fort had been the centre of attraction for the rulers of northern India, since a long time.The remains of the fort of the rulers of Kangra are located on a strategic height, overlooking the Ban Ganga and Manjhi rivers. The first attack on the fort was made by the Raja of Kashmir `Shreshtha` in 470 AD. In 1846 Kangra fort fell into the hands of the British. The temple of Laxmi Narayan and Adinath located inside the kangra fort are dedicated to Jainism. Inside the fort are two ponds, one of them is called Kapur Sagar. The fort was badly damaged in a 1905 earthquake.

    ReplyDelete
  33. अभी कुछ दिन तो हुए हैं यहाँ की सैर करके लौटे हैं....काँगडा फोर्ट

    ReplyDelete
  34. ये सदियों पहले के मजदूरों की खून पसीने की कमाई है ताऊ, राम राम !

    ReplyDelete
  35. घणी राम राम ताउजी!..... १५ अगस्ट मुबारक हो!.....यह खंडहर सा कोई पुराना किला है!......

    ReplyDelete
  36. पहेली में कभी ताऊ का घर नहीं दिखाई देता है | पता नहीं ताऊ और अल्पनाजी कहां कहा घूमते रहते है | और ये अंडे हम जैसे शुद्ध शाकाहरी लोगो को क्यों दिखाए जा रहे है जिसमें से बच्चे निकल रहे है |

    ReplyDelete
  37. अरी राम प्यारी तुने तो कुतिया के सारे के सारे अंडे तोड दिये.... अभी भाग ओर छुप जा कही, वर्ना इन कल्लू कुते के हाथ लग गई तो ....

    ReplyDelete
  38. अरे ताऊ यह वो जगह है जिस के बारे मे मै कुछ नही जानता

    ReplyDelete
  39. सांप के अंडों में से बाहर झांकते नवजात सांप शिशु

    ReplyDelete
  40. है तो कोई किला मगर कहाँ का नही पता।
    और रामप्यारी पता नही कहाँ कहाँ से क्या क्या लाती है जो समझ ही नही आता।

    ReplyDelete
  41. दूध पीकर आ रहा हूँ पर पहेली पल्ले नहीं पड़ रही है.
    स्वतंत्रता दिवस पर हार्दिक शुभकामना.

    ReplyDelete
  42. 1..

    Kangra Fort 18 km. from dharmshala

    http://www.123himachal.com/kangra_files/fort2.jpg



    2..
    Snake egg

    ReplyDelete
  43. ताऊ जी, म्हारे जवाब में ये भी जोड लिया जाए कि ये कांगडा फोर्ट जिसे कि "नगरकोट" भी कहा जाता है, हिमाचल प्रदेश में धर्मशाला से लगभग 18-20 किलोमीटर आगे पुराने कांगडा कस्बे में स्थित हैं...

    ReplyDelete
  44. namashkar tau ji, the anser is-Kangra Fort,Kangra,Himachal Pradesh. thanks.

    ReplyDelete
  45. बड़ी मुश्किल पहेली लग रही है ताऊ..

    ReplyDelete
  46. यह अंडे मिस टेढ़ी के तो नहीं ...जो ताऊ ने तोड़ दिए ??

    ReplyDelete
  47. आस्तीन के सांपो को दूध नहीं ...उनका ही विष पिलायें ...
    पहेली का जवाब कल तक तो मिल ही जाएगा ..
    अच्छी पोस्ट ...!

    ReplyDelete
  48. बड़ी मुश्किल पहेली लग रही है ताऊ..

    ReplyDelete
  49. हिमाचल प्रदेश का कांगडा फ़ोर्ट, धर्मशाला से करीब २० KM पर है.

    अभी पिछले सालों में वहां के जो राज्यपाल थे श्री कोगजे इंदौर से ही हैं!!

    ReplyDelete
  50. ये मगरमच्छ के अंडे हैं.

    आज़ादी के शुभकामनायें...

    ReplyDelete
  51. सूचना :-

    इस पहेली पर जवाब देने का समय समाप्त हो चुका है.

    अब जो भी सही जवाब आयेंगे उन्हें अधिकतम ५० अंक दिये जा सकेंगे एवम जवाबी पोस्ट मे उनका नाम शामिल किया जाना पक्का नही है.

    सभी प्रतिभागियों का उत्साह वर्धन के लिये हार्दिक आभार.

    -आयोजनकर्ता

    ReplyDelete