Powered by Blogger.

ताऊ पहेली - 83

प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम.
ताऊ पहेली अंक 83 में मैं ताऊ रामपुरिया, सह आयोजक सु. अल्पना वर्मा के साथ आपका हार्दिक स्वागत करता हूं. जैसा कि आप जानते ही हैं कि अब से रामप्यारी का हिंट सिर्फ़ एक बार ही दिया जाता है. यानि सुबह 10:00 बजे ही रामप्यारी के ब्लाग पर मिलता है.

विनम्र विवेदन

कृपया पहेली मे पूछे गये चित्र के स्थान का सही सही नाम बतायें कि चित्र मे दिखाई गई जगह का नाम क्या है? कई प्रतिभागी सिर्फ़ उस राज्य का या शहर का नाम ही लिख कर छोड देते हैं. जो कि अबसे अधूरा जवाब माना जायेगा.

हिंट के चित्र मे उस राज्य या शहर की तरफ़ इशारा भर होता है कि उस राज्य या शहर मे यह स्थान हो सकता है. अब नीचे के चित्र को देखकर बताईये कि यह कौन सी जगह है? और किस शहर या राज्य में है?


ताऊ पहेली का प्रकाशन हर शनिवार सुबह आठ बजे होगा. ताऊ पहेली के जवाब देने का समय कल रविवार दोपहर १२:०० बजे तक है. इसके बाद आने वाले सही जवाबों को अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे.

अब रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर का. यानि जो भी प्रतिभागी रामप्यारी के सवाल का सही जवाब देगा उसे 20 नंबर अलग से दिये जायेंगे. तो आईये अब आपको रामप्यारी के पास लिये चलते हैं.


"रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर के लिये"



हाय...आंटीज एंड अंकल्स...दीदीज एंड भैया लोग...गुडमार्निंग..मी राम की प्यारी रामप्यारी.....अब आपसे पूरे 20 नंबर का सवाल पूछ रही हूं. सवाल सीधा साधा है. बस मुख्य पहेली से अलग एक टिप्पणी करके जवाब देना है. और 20 नंबर आपके खाते में जमा हो जायेंगे. है ना बढिया काम...तो अब नीचे का चित्र देखिये और बताईये की यह कौन से पौधे का चित्र है?




इस सवाल का जवाब अलग टिप्पणी मे ही देना है. अब अभी के लिये नमस्ते. मेरे ब्लाग पर अब से दो घंटे बाद यानि 10 बजे आज की मुख्य पहेली के हिंट के साथ आपसे फ़िर मुलाकात होगी तब तक के लिये नमस्ते.

अब आप रामप्यारी के ब्लाग पर हिंट की पोस्ट सुबह दस बजे ही पढ सकते हैं! दूसरा हिंट नही दिया जायेगा.
जरुरी सूचना:-

टिप्पणी मॉडरेशन लागू है इसलिए समय सीमा से पूर्व केवल अधूरे और ग़लत जवाब ही प्रकाशित किए जाएँगे.
सही जवाबों को पहेली की रोचकता बनाए रखने हेतु समय सीमा से पूर्व अक्सर प्रकाशित नहीं किया जाता . अत: आपका जवाब आपको तुरंत यहां नही दिखे तो कृपया परेशान ना हों.

इस अंक के आयोजक हैं ताऊ रामपुरिया और सु. अल्पना वर्मा

नोट : यह पहेली प्रतियोगिता पुर्णत:मनोरंजन, शिक्षा और ज्ञानवर्धन के लिये है. इसमे किसी भी तरह के नगद या अन्य तरह के पुरुस्कार नही दिये जाते हैं. सिर्फ़ सोहाद्र और उत्साह वर्धन के लिये प्रमाणपत्र एवम उपाधियां दी जाती हैं. किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजकों का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा. एवम इस पहेली प्रतियोगिता में आयोजकों के अलावा कोई भी भाग ले सकता है.


मग्गाबाबा का चिठ्ठाश्रम
मिस.रामप्यारी का ब्लाग
ताऊजी डाट काम

59 comments:

  1. Safa Masjid
    Location Shahpur, Ponda, North Goa district

    ReplyDelete
  2. रामप्यारी इस पौधे को हमारे गांव में तो सत्यानाशी का पौधा कहते है जो आर्जीमोन श्रेणी का होता है | यह राजस्थान में बहुतायत से पाया जाने वाला पौधा है |

    ReplyDelete
  3. राम प्यारी
    पीली कटेली

    ReplyDelete
  4. Safa Masjid, Goa:

    Goa Safa Mosque, Goa TourismThe Shahouri masjid, the biggest and most famous of the 27 mosques in Ponda taluka was built in 1560 by Ibrahim Adilshan of Bijapur. Adjacent to the Mosque is a well-constructed masonry tank with small chambers with 'meharab' designs.

    The mosque and the tank were formerly surrounded by an extensive garden with many fountains. They were destroyed during the Portuguese rule.

    The two major festivals Id-Ul-Fitr and Id-Ul-Zuha are celebrated at this mosque with great pomp and are attended by a large number of people.

    ReplyDelete
  5. पीले फूल के हरे पौधे का चित्र है। फूल ने और न पौधे ने हमें नाम बतलाया है।

    ReplyDelete
  6. मुख्‍य पहेली का जवाब नहीं मालूम। सच लिख रहा हूं।

    ReplyDelete
  7. पोंडा (गोवा) का साफा मस्जिद

    ReplyDelete
  8. पोंडा (गोवा) का साफा मस्जिद

    ReplyDelete
  9. ये पश्चिम बंगाल में कहीं होना चाहिए... बाकी हिंट देख कर मालुम चलेगा...

    ReplyDelete
  10. और ये धतुरा के फूल हैं..

    ReplyDelete
  11. Rampyari ka Answer :

    Satyanashi, Bharbhand, Farangidhatura, Ujarkanta, Kutaila, Shial kanta
    ***************************

    Although researchers blame Satyanashi seed oil for causing dropsy problem in India but for the natives and traditional healers of Chhattisgarh, the Satyanashi oil is very valuable herb and they use it most frequently in treatment of over 30 common and complicated diseases. Satyanashi is native to America and introduced in India many centuries back. Living with this exotic herb, the traditional healers and natives have discovered its unique medicinal properties and uses. The corrupt businessmen mix the Satyanashi seeds in Mustard seeds, as the seeds resemble Mustard seeds, and when oil is extracted and used by the natives, its consumption causes dropsy. Few years back, this dropsy problem spread like epidemic all over the country and government officials banned this adulteration. A lot have been written on minus points of this useful medicinal herb. But as herb expert, I know its importance and valuable medicinal properties.

    ReplyDelete
  12. Mexican Prickly Poppy
    rampyari rani khaan khaan ghum kar aati ho aajkal...

    bye

    ReplyDelete
  13. hint ke baad hi kuch khaa jaa sakta hai..

    regards

    ReplyDelete
  14. (1) खारी बावली है
    (2) भसकटिया का फ़ूल,इसमें छोटे-छोटे बैंगन जैसे फ़ल लगते है।

    ReplyDelete
  15. madam ye hai pili katailee ka podha Argemone Mexicana

    ReplyDelete
  16. year 1550 REIS MAGOS Fort, Verem Goa (panjim)

    regards

    ReplyDelete
  17. The Safa Shahouri Masjid Goa
    Location: Ponda Goa
    Description: The Safa Shahouri Masjid in Ponda Taluka, the biggest and most famous of the Mosques, was built in 1560 by Ibrahim Adilshah of Bijapur. Adjacent to the Mosque is a well-constructed masonry tank with small chambers with ‘meharab’ designs. The Mosque and the tank were formerly surrounded by an extensive garden with many fountains. The two major festivals Id-Ul-Fitr and Id-Ul-Zuha are celebrated at this mosque with great pomp and are attended by a large number of people.

    regards

    ReplyDelete
  18. सफा मस्जिद पोंडा गोवा मे

    ReplyDelete
  19. Safa Masjid
    Location Shahpur, Ponda, North Goa district
    Highlights Islamic architecture, massive water tank with 'meharab' designs

    ReplyDelete
  20. Safa Masjid
    Location Shahpur, Ponda, North Goa district
    Highlights Islamic architecture, massive water tank with 'meharab' designs
    Festivals Id-Ul-Fitr and Id-Ul-Zuha
    Trivia The biggest mosque in Goa

    ReplyDelete
  21. साफा मस्जिद
    शाहपुर, पोण्डा, उत्तरी गोवा
    गोवा

    प्रणाम

    ReplyDelete
  22. तौरी का फूल है

    राम राम

    ReplyDelete
  23. ताऊ, मन्नै तो यो सफा मस्जिद, गोआ की तस्वीर दिखे है.....

    ReplyDelete
  24. कहीं इसे कथ सरैया तो नहीं कहते?

    ReplyDelete
  25. ram pyari ji namshkar, the anser is -Argemone mexicana. thanks.

    ReplyDelete
  26. namshte tau ji, the anser is -Safa Shahouri Masjid Ponda, Goa. thanks.

    ReplyDelete
  27. राम प्यारे काम चोबारा है जी, जहां एक दिन हमारी राम प्यारी व्याह के जायेगी, ओर यह फ़ुल गन्ने के पेड के है, पंजाब ओर हरियाणा ऊतर प्रदेश मै गन्ने के बहुत ऊंचे ऊंचे पेड लगते है, पीपल से भी ऊंचे... ओर यह फ़ुल दस साल मै सिर्फ़ एक बार लगते है, इस फ़ुल की एक पती को दुध के संग खाने से???? ताकत वापिस आ जाती है, बस आज मेरे सिवा कोई भी विजेता नही होगा, निकालो मेरा ईनाम

    ReplyDelete
  28. राम -राम ताऊ , हमारे आजमगढ़ में तो इस फूल को bhadbhadwa कहते है इसके पत्ते तोड़ने पर रास निकलता है जिसका इस्तेमाल आँखों के लिए किया जाता है, ये एक तरह से जड़ी - बूटी भी है, लेकिन है ये बड़ा ही खतरनाक पौधा. जिस खेत में एक बार उग तो समझो सालो साल उगता ही रहेगा.

    ReplyDelete
  29. Paheli ke jawaab mein - Goa mein koi jagah hai ... par kahaan ... ye nahi pata chal raha ... google baba bhi help nahi kar pa rahe aaj to ...

    ReplyDelete
  30. गोवा की कोई ईमारत लग रही है...ताऊ का मकान इन गोवा!!

    ReplyDelete
  31. रामप्यारी का जबाब:

    satyanashI kaa paudha, Mexican Prickly Poppy

    ReplyDelete
  32. The Safa Masjid is Goa's best-preserved sixteen-century Muslim monument. It was constructed by Adil Shah in 1560 and is also known as Safa Shahouri Masjid. It has a beautiful backdrop of wooded low hills rising in the background.

    :)

    ReplyDelete
  33. The Safa masjid is a prominent Islamic shrine in Ponda, commonly regarded the citadel of Hindu pilgrimages in Goa. Built in 1560 by Ibrahim Adil Shah, the Sultan of Bijapur, the Safa mosque survived the havoc wreaked by the Portuguese colonizers as part of the Inquisition process. During the reign of the Bijapur Sultan, the region witnessed a proliferation of mosques and Ponda alone was home to 27 of them.

    ReplyDelete
  34. सब गोवा कह रहे हैं तो वहीं की जगह होगी।

    ReplyDelete
  35. हिंट की जय हो...गोआ गोआऽऽऽऽऽऽऽ.
    फूल का पता नहीं.

    ReplyDelete
  36. Maaf kijiyga kai dino bahar hone ke kaaran blog par nahi aa skaa

    ReplyDelete
  37. है तो गोवा... जगह कौन सी पता नहीं :(

    ReplyDelete
  38. और रामप्यारी वाले पौधे का नाम कंटाया है.

    ReplyDelete
  39. श्री मंगेशी मंदीर Goa

    ReplyDelete
  40. अजी यह तो मुझे ताऊ की ससुराल लग्र रही है, ओर यह फ़ुल बांस का लगे है, क्योकि ताऊ को लठ्ठ बहुत प्यारे है, ओर हरियाणवी लठ्ठ तो बनता ही बांस से है, तो अब मेरा पहला जबाब बदल दे ओर इस जबाब को सही माने

    ReplyDelete
  41. सूचना :-

    इस पहेली पर जवाब देने का समय समाप्त हो चुका है.

    अब जो भी सही जवाब आयेंगे उन्हें अधिकतम ५० अंक दिये जा सकेंगे एवम जवाबी पोस्ट मे उनका नाम शामिल किया जाना पक्का नही है.

    सभी प्रतिभागियों का उत्साह वर्धन के लिये हार्दिक आभार.

    -आयोजनकर्ता

    ReplyDelete