ताऊ पहेली - 80

प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम.
ताऊ पहेली अंक 80 में मैं ताऊ रामपुरिया, सह आयोजक सु. अल्पना वर्मा के साथ आपका हार्दिक स्वागत करता हूं. जैसा कि आप जानते ही हैं कि अब से रामप्यारी का हिंट सिर्फ़ एक बार ही दिया जाता है. यानि सुबह 10:00 बजे ही रामप्यारी के ब्लाग पर मिलता है.

विनम्र विवेदन

कृपया पहेली मे पूछे गये चित्र के स्थान का सही सही नाम बतायें कि चित्र मे दिखाई गई जगह का नाम क्या है? कई प्रतिभागी सिर्फ़ उस राज्य का या शहर का नाम ही लिख कर छोड देते हैं. जो कि अबसे अधूरा जवाब माना जायेगा.

हिंट के चित्र मे उस राज्य या शहर की तरफ़ इशारा भर होता है कि उस राज्य या शहर मे यह स्थान हो सकता है. अब नीचे के चित्र को देखकर बताईये कि यह कौन सी जगह है? और किस शहर या राज्य में है?



ताऊ पहेली का प्रकाशन हर शनिवार सुबह आठ बजे होगा. ताऊ पहेली के जवाब देने का समय कल रविवार दोपहर १२:०० बजे तक है. इसके बाद आने वाले सही जवाबों को अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे.

अब रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर का. यानि जो भी प्रतिभागी रामप्यारी के सवाल का सही जवाब देगा उसे 20 नंबर अलग से दिये जायेंगे. तो आईये अब आपको रामप्यारी के पास लिये चलते हैं.


"रामप्यारी का बोनस सवाल 20 नंबर के लिये"



हाय...आंटीज एंड अंकल्स...दीदीज एंड भैया लोग...गुडमार्निंग..मी राम की प्यारी रामप्यारी.....अब आपसे पूरे 20 नंबर का सवाल पूछ रही हूं. सवाल सीधा साधा है. बस मुख्य पहेली से अलग एक टिप्पणी करके जवाब देना है. और 20 नंबर आपके खाते में जमा हो जायेंगे. है ना बढिया काम...तो अब नीचे का चित्र देखिये और बताईये की कौन से फ़ल का चित्र है? मैं तो ये फ़ल अक्सर बारहों महिना ही खाती हूं.


इस सवाल का जवाब अलग टिप्पणी मे ही देना है. अब अभी के लिये नमस्ते. मेरे ब्लाग पर अब से दो घंटे बाद यानि 10 बजे आज की मुख्य पहेली के हिंट के साथ आपसे फ़िर मुलाकात होगी तब तक के लिये नमस्ते.

अब आप रामप्यारी के ब्लाग पर हिंट की पोस्ट सुबह दस बजे ही पढ सकते हैं! दूसरा हिंट नही दिया जायेगा.
जरुरी सूचना:-

टिप्पणी मॉडरेशन लागू है इसलिए समय सीमा से पूर्व केवल अधूरे और ग़लत जवाब ही प्रकाशित किए जाएँगे.
सही जवाबों को पहेली की रोचकता बनाए रखने हेतु समय सीमा से पूर्व अक्सर प्रकाशित नहीं किया जाता . अत: आपका जवाब आपको तुरंत यहां नही दिखे तो कृपया परेशान ना हों.

इस अंक के आयोजक हैं ताऊ रामपुरिया और सु. अल्पना वर्मा

नोट : यह पहेली प्रतियोगिता पुर्णत:मनोरंजन, शिक्षा और ज्ञानवर्धन के लिये है. इसमे किसी भी तरह के नगद या अन्य तरह के पुरुस्कार नही दिये जाते हैं. सिर्फ़ सोहाद्र और उत्साह वर्धन के लिये प्रमाणपत्र एवम उपाधियां दी जाती हैं. किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजकों का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा. एवम इस पहेली प्रतियोगिता में आयोजकों के अलावा कोई भी भाग ले सकता है.


मग्गाबाबा का चिठ्ठाश्रम
मिस.रामप्यारी का ब्लाग
ताऊजी डाट काम

Comments

  1. अगाथी, लक्ष्यद्वीप!

    ReplyDelete
  2. Suvarnadurg Fort
    Location Harne , Ratnagiri district , Maharashtra

    ReplyDelete
  3. Janjira Sea Fort near coastal village Murud,Raigad district ,Maharashtra

    ReplyDelete
  4. Murud-Janjira is the local name for a fort situated at the coastal village of Murud, in the Raigad district of Maharashtra, India. It is famous for being the only fort along India's western coast that remained undefeated despite Maratha, Dutch and English East India Company attacks.

    ReplyDelete
  5. यह महाराष्ट्र के रायगढ़ मे मुरुद जंजीरा नामक गॉव मे समुद्र के बीच स्थित किला है. स्‍थानीय लोग इसे अजिनक्‍या कहते हैं.

    ReplyDelete
  6. Murud-Janjira is the local name for a fort situated at the coastal village of Murud, in the Raigad district of Maharashtra, India

    ReplyDelete
  7. JANJIRA FORT OF MAHARAJA CHHATRAPATI SHIVAJI


    The spectacular Janjira fort, a chip of India’s African history, stands in the Arabian Sea, a few kilometers below Mumbai. It is literally referred to as the Island Fort. Covered with trees and roots, it is tall and majestic – proud of the fact that it remained the only unconquered fort in the region.



    Unconquered, by the several rival rulers who cast covetous eyes on its strategic position.

    It is a beautiful urban ruin. Overgrown with trees that have roots going all the way to Africa. A place that is physically surprisingly close, but has been made distant through forgetfulness and a lack of perspective.



    Its airoots thrive in open air, sniffing for a whiff of the past.





    They remember the days when it was a compact city full of the several industries that armies generate, industries that brought in families and made communities. The 22 acres of black stonewalls are littered with cave-like rooms and shelters, water bodies and the remains of a mosque. They are lined with heavy iron cannons and elegantly designed archways that look like framed pictures of the sea and the coast. The island fort was once full of urban intensity. It belonged to a liminal world in between continents and was multi racial and cosmopolitan.

    ReplyDelete
  8. जंजीरा किला रायगढ़ महाराष्ट्र
    Murud-Janjira

    ReplyDelete
  9. Murud-Janjira is the local name for a fort situated at the coastal village of Murud, in the Raigad district of Maharashtra, India

    ReplyDelete
  10. और भी सूचना इस किले के बारे में -

    http://www.freewebs.com/murud-janjira/

    जंजीरा किला मुरुद गाँव रायगढ़ महाराष्ट्र

    ReplyDelete
  11. बोनस वाला सवाल का पौधा समझ नहीं आ रहा ..शायद कोटन का हो ...not sure

    ReplyDelete
  12. या तो सभी प्रतिभागी सो रहे हें या फिर रामप्यारी !!
    या फिर सभी के जवाब सही हें!!

    ये पोस्ट सिर्फ़ टेस्ट करने के लिए हे की कौन सो रहा है??

    ReplyDelete
  13. The Fort of Janjira on the sea is the only one of its kind. Janjira Jal-durg (sea fort) was constructed by Malik Ambar, an Abssinian minister in the service of the Sultan of Ahmednagar, who belonged to the famous Nizamshahi dynasty. The fort, built at the end of the 17th Century, is almost entirely intact even today, despite the ravages of wind and tide, a testimony to the marvels of ancient engineering.

    ReplyDelete
  14. जंजीरा फोर्ट
    मुरुड
    महाराष्ट्र

    प्रणाम

    ReplyDelete
  15. जंजीरा फोर्ट (जंजीरा-जलदुर्ग)
    गाँव मुरूद, जिला रायगढ
    महाराष्ट्र
    भारत

    ReplyDelete
  16. इस किले के बारे में हमने एक जगह उल्लेख किया था. यह मुरुद जंजीर का किला है. अलीबाग के दक्षिण में. यह सिद्दी नामक एक अफ्रीकी लड़ाकू व्यापारियों का था.

    ReplyDelete
  17. रामप्यारी यह अंजीर है.

    ReplyDelete
  18. rampyaree ...kya kha rahee ho ?...may be Fig...anjeer jaisa kuch , aam ka mausam hai ..vo khana thaa na ?:)

    ReplyDelete
  19. 15वीं सदी में मलिक द्वारा बनवाया जंजिरा किला लगता है. रायगढ़ जिले के मुरुद गाँव में है जी.

    ReplyDelete
  20. @चन्द्र प्रकाश अंकल ,नेट कनेक्शन बहुत गड़बड़ चल रहा है इसलिए देर से कमेन्ट प्रकाशित हुए.
    मेरे बोनस सवाल की हेल्प के लिए मैं ने फल वाले सही गलत सारे जवाब बाहर किये हैं ,ये फल तो १२ महीने खाती हूँ मैं ,इतना अच्छा हिंट देने के बाद भी इस फल को पहचान नहीं पा रहे.
    आल दी बेस्ट

    ReplyDelete
  21. अभी तो नही पता……………बाद मे आते हैं।

    ReplyDelete
  22. Janjira Fort is situated in the Murud town of Maharashtra. Infact, the Island Fort serves as one of the major attractions of the town. Murud served as the erstwhile capital of the Siddi rulers of Janjira in the earlier times. Today, Janjira is counted amongst the few sea forts of India and lies 2 km inside the town. The massive fort is bounded by walls that rise to a soaring height of 40 ft and being lashed by sea waves from all the sides, still retain their strength and grandeur. The fort has been attacked by a number of rulers during it's hey days.
    regards

    ReplyDelete
  23. ताऊ मणे तो यु लागे जेसे दही मै किसी के एक कडछी सांग फ़ेंक दिया हो, भाई हम महा राष्ट तो गये नही तो वहा का किला केसे देखे, लेकिन अगले साल लोह घाट या जनजीरा जाने का विचार है, साथ मै चलना हो तो चल पडियो, ऊडे फ़ोटू भी खींच लेना, उत बहुत सुंदर सुंदर किले है

    ReplyDelete
  24. और रामप्यारी ने जो फ़ल दिखाया है वो है अंजीर

    ReplyDelete
  25. ये खंडाला की तस्वीर है

    ReplyDelete
  26. रामप्यारी यह अंजीर है.

    ReplyDelete
  27. मुंबई से १६५ कि.मी दूर दक्षिण में कोंकण के सागर तट पर अबिसिनियों ने राजपुरी खाड़ी में सवा कि.मी. अन्दर तक जंजीरा के शक्तिशाली दुर्ग का निर्माण १५११ में कराया |ये अपनी बहादुरी ,वफ़ादारी और कुशलता के लिए विख्यात थे | बीजापुर ,अहमदनगर सहित कई राज्यों में इनकी नियुक्ति ऊँचे पदों पर होती थी | मुग़ल बादशाह औरंगजेब सूरत से रत्नागिरी के समुद्रतटीय क्षेत्रों की जल-दश्युओं से रक्षा करने के लिए अबिसिनियों को प्रतिवर्ष तीन लाख रूपये देता था |
    अंडाकार वृत्त में ग्रेनाईट के पत्थरों से निर्मित जंजीरा अदभुत समुद्री दुर्ग है | स्थापत्य शिल्प की दृष्टि से इसका निर्माण अनूठा है | गोल बुर्जों से जुडी इसकी प्राचीरों से सागर की लहरें सदैव टकराती रहती है | दुर्ग ज्वार भाटा की सतह से दो मीटर ऊँचा है | प्राचीर में कुल उन्नीस बुर्जें है और इन पर तोपों के गोलों की मार के लिए सुराख़ बने हुए है | दुर्ग इतना बड़ा है कि एक छोटा शहर समा सकता है |
    छत्रपति शिवाजी ने इस दुर्ग को जितने की कई बार कोशिश की थी पर सफल न हो सके | सिद्दियों का यह दुर्ग रायगढ़ से मात्र तीस कि.मी. दूर है | शिवाजी के निधन के दस वर्ष बाद रायगढ़ को जीतने के प्रयत्नों में मुगलों की और से सिद्दियों ने प्रमुख भूमिका निभाई थी |

    ReplyDelete
  28. यह विशेष फल बैगन, प्याज और नाशपाती के सम्मिश्रण से उत्पन्न होता है !
    नाम है - "बैप्याना" :)))

    ReplyDelete
  29. अहा मुझे तो जंजीरा किले की यह फ़ोटो ही इस http://www.bloggersbase.com/travel/forts-glory-of-maharashtra/ साइट पर मिल गई.

    ReplyDelete
  30. लो बोलो अब अनार के पेड़ के लिए भी गूगल का सहारा लेना पड़ेगा! फल देखने में अंजीर से मिलता जुलता हे परंतु ये सब रामप्यारी (बिटिया) की करतूत हे!

    ReplyDelete
  31. रामप्यारी....ये सेब है जी/ A for Apple wala.

    ReplyDelete
  32. जब सभी गुनी जन अंजीर बता रहे है तो हम भी उसी की हाँ में हां कर देते है |

    ReplyDelete
  33. rampyari rani ye aaple hai, a for apple ok

    ReplyDelete
  34. देर से आने की माफी. कल तो सारा दिन यात्रा में ही था. रायगढ़ महाराष्ट्र का मुरुद जंजीरा किला होने की संभावना है.

    ReplyDelete
  35. राम प्यारी,
    फल के बारे में का कहें. हमारे कहने से अमरुद थोड़े ही हो जाएगा.

    ReplyDelete
  36. जंजिरा फ़ोर्ट, मुरुड, महाराष्ट्र

    ReplyDelete
  37. जब भी कोई ऐसे जगह्के बारे में ताऊ पूछते है, जहां गया हुआ हूं , उस दिन ज़रूर लेट हो जाता हूं.

    ये जगह मुरुड ज़ंज़िरा का जलदुर्ग है, जो महाराष्ट्र में अलिबाग के पास है(४९ कीमी)

    यहां पिछले साल ही गर्मेयों मे गये थे और लौटते समय प्रसिद्ध किला रायगढ भी जाना हुआ था.

    ReplyDelete
  38. रामप्यारी का जवाब :
    सेब [Apple]

    ReplyDelete
  39. हम तो एक दिन देर से आ पाये -

    यह तो मुरुड जंजीरा किला है। महाराष्ट्र में।

    ReplyDelete
  40. ये बैंगनी रंग का फ़ल तो ढ़ूँढ़ने जा रहे हैं, अभी लौटकर आते हैं, बाजार से :)

    ReplyDelete
  41. ये तो अनार हैं मगर इसके सौ बीमार तो पहले ही मौजूद हैं अपना नम्बर कब आयेगा। राम राम।

    ReplyDelete
  42. भारत प्रश्न मंच पर प्रश्नों का प्रकाशन हो चुका है, आप सभी का हार्दिक स्वागत है

    ReplyDelete
  43. सूचना :-

    इस पहेली पर जवाब देने का समय समाप्त हो चुका है.

    अब जो भी सही जवाब आयेंगे उन्हें अधिकतम ५० अंक दिये जा सकेंगे

    एवम जवाबी पोस्ट मे उनका नाम शामिल किया जाना पक्का नही है.

    सभी प्रतिभागियों का उत्साह वर्धन के लिये हार्दिक आभार.

    -आयोजनकर्ता

    ReplyDelete