विशेष ब्लागर सम्मान पुरस्कार - 2010 की घोषणा.

बडे हर्ष का विषय है कि अबकी बार होली के परम पुनीत अवसर पर हम कुछ विशेष पुरस्कार देने जारहे हैं. जिनमे निम्न श्रेणी के पुरस्कार होंगे.

सर्वोच्च पुरस्कार श्रेणी में.


मामा मारीच सम्मान - 2010


१. मामा मारीच सम्मान यह सम्मान उस ब्लागर को मिलेगा जिसने बीते वर्ष सबसे ज्यादा लोगों को परेशान किया होगा और छल कपट पुर्वक कई रुप दिखाये होंगे.

इस पुरुस्कार के साथ उपरोक्त चमचमाती ट्राफ़ी और रु. १,००,०००/= (अक्षरी रुपये एक लाख सिर्फ़) मूल्य के ताऊ प्रोडक्ट्स दिये जायेंगे. और ताऊ दुर्बुद्धि नाशक केप्सूल जीवन भर मुफ़्त सप्लाई किये जायेंगे.


सुर्पणखां सम्मान - 2010


२. सुर्पणखां सम्मान यह सम्मान भी अति खुराफ़ाती ब्लागर को दिया जायेगा. इस पुरस्कार में यह चमचमाती हुई ट्राफ़ी और रुपये ५१०००/= (इक्कावन हजार रुपिये) मूल्य के ताऊ प्रोडक्ट्स दिये जायेंगे. और आधी उम्र तक ताऊ दुर्बुद्धि नाशक केप्सूल मुफ़्त दिये जायेंगे.

अति सर्वोच्च पुरस्कार श्रेणी



आग लगाऊ और आग भडकाऊ ब्लागर सम्मान


१. मिस्टर आग लगाऊ ब्लागर
२. मिस. आग भडकाऊ ब्लागर

कुंठित और लुंठित श्रेणी में

विशिष्ट हलकट टिप्पणीबाज सम्मान

१. अति गुप्त-टिप्पणी बाज सम्मान
२. अति विशिष्ट हलकट टिप्पणीबाज सम्मान

अब गद्य लेखन श्रेणी मे....


टपोरी टाईप लेखक सम्मान


१. अति टपोरी टाईप लेखक सम्मान
२. विशिष्ट टपोरी टाईप लेखन सम्मान

विशिष्ट प्रोत्साहन पुरस्कार


महा टेपाधिराज सम्मान


१. महा टेपाधिराज सम्मान
२. महा बकवास टेपाधिराज सम्मान

अक्सर देखने मे आया है कि आजकल पुरस्कार सम्मानों मे बहुत नाक भौं सिकोडी जाती है. किसी को दे दो तो वो लेने मे आनाकानी दिखाते हैं और नही दो तो क्यों नही दिया इस बात पर भृकुटि तनी दिखाई देती है.

इस मंहगाई के जमाने में फ़ोकट ऐसी बातों पर सैकडों टिप्पणीयों का बेजा नुक्सान होता है. अत: हम उपरोक्त बातों से सबक लेते हुये पहले ही हमारे द्वारा दिये जाने वाले सम्मानों के बारे मे नियम कायदे और समस्त बाते स्पष्ट कर देते हैं. जिससे बाद मे अप्रिय विवाद की स्थिति नही बने. इस पोस्ट द्वारा समस्त ब्लागर्स को सूचना दी जाती है. और जिसको भी खबर लगे वो सभी को बता दे. अन्यथा फ़िर लोग ये नही कहें कि हमको खबर नही थी.

नियम इस प्रकार हैं.

१. यूं तो आप आटोमेटिकली [ आटो में टकली (गंजी) नही] यानि स्वत: ही हमारे द्वारा दिये जाने वाले पुरस्कारों के लिये नामित हो चुके हैं. फ़िर भी लगता हो कि आपका नाम कहीं छूट नही गया हो तो फार्मेल्टी और पारदर्शिता के लिए आप सिर्फ स्वयं को नामित कर सकते हैं. पर दूसरे को नामित करने का अधिकार आपको किसी भी हालत में नही है.

हमारे द्वारा दिये जाने वाले समस्त पुरस्कार हम अपने विवेक से देते हैं. ना हम किसी से सलाह मांगते हैं और ना ही हमें कोई सलाह देने की जरुरत है. हम किसी भी तरह का विरोध, अडंगा और आंदोलन सहन नही करेंगे.

२. हमने कौन सा पुरस्कार किस वजह से किसको दिया? यह हम किसी को नही बतायेंगे. क्योंकि यह हमारी अपनी प्राईवेट लिमिटेड दुकान है. हमारी मर्जी से हम किसी को भी पुरस्कार दे सकते हैं. यानि हमारी मर्जी.

३. हमारे द्वारा दिये गये पुरस्कार किसी भी हालत मे लेने से इन्कार नही किया जा सकेगा. यानि हमने पुरस्कार दे दिया तो पुरस्कार हर हालत मे स्वीकारना पडॆगा.

४. अगर आप पुरस्कार नही लेना चाहते तो पुरस्कारों की घोषणा से पहले DND रजिस्ट्री करवा लें जैसे मोबाईल फ़ोन पर अनचाही काल से बचने के लिये करवाई जाती है. यानि आप इस पोस्ट पर टिप्पणी करें और अपना नाम पुरस्कारों में शामिल नही करने का निवेदन कर दें.

५. अगर आपका नाम पुरस्कारों के लिए एक बार तय होगया तो आपको पुरस्कार हर हाल में दिया जायेगा. आप उसके लिये नही मिले तो अखबार मे मुनादी करवाकर आपके पते पर पुरस्कार चस्पा करवाया जायेगा.

६. आप यह समझ ले कि अगर आपने हमारे द्वारा प्रदत पुरस्कारों की अवमानना की या उसके विरोध में कुछ लिखा या आंदोलन किया तो जैसे ही आप कंप्युटर पर लिखने बैठेंगे आपका कंप्युटर टुटकर दो टुकडे हो जायेगा. यह सत्य वचन हैं. फ़िर हमें दोष मत दिजियेगा.

७ अंतिम रुप से चेतावनी दी जाती है कि आप अगर आपका नाम पुरस्कार में शामिल नही कराना चाहते तो DND registry अवश्य करवा लें जिसके लिए एक निश्चित शुल्क देय होगा. वर्ना बाद मे कोई सुनवाई नही होगी.

हर आम और खास ब्लागर से निवेदन है कि इस पोस्ट मे दी गई संपुर्ण जानकारी को ध्यान से पढे और तदनुसार फ़ैसला करे. एक बार पुरुस्कार की घोषणा होने के बाद कोई सुनवाई किसी भी जगह नही होगी.

तो बहनों और भाईयों, इंतजार किजिये इन सनसनी खेज पुरस्कारों का.

Comments

  1. ताऊ...दिल तोड़ दिया आपने हमारा ... हमारे योग्य एक भी पुरस्कार नहीं है ...!!

    ReplyDelete
  2. ताऊ जी,
    एक शर्त तो आप भूल ही गए...हर सम्मान पाने वाले को अनिवार्य तौर पर तख्ती आगे रखकर फोटो खिंचवानी होगी...ठीक वैसे ही जैसे थाने में शातिर सिद्धपुरुषों की पुलिस फोटो खिंचवाती है...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  3. अच्छे हैं, सभी पुरूस्कार बहुत अच्छे हैं. :)

    ReplyDelete
  4. लगे हाथ घोषनौ कर दिए होते और यी का सूर्पनखा पुरस्कार के लिए मंसेधूऔ क इलिजिबिलिती हौ ?
    कुछ और पुरस्कार कटेगरी होती तो ठीक रहती
    सुरसा पुरस्कार .,लंकिनी -कुलंकिनी पुरस्कार ,ईर्ष्यालु महराज पुरस्कार ,गुट्बाज शिरोमणि पुरस्कार ,अंटी बाज गुरु पुरस्कार आदि आदि
    और हाँ जो लोग पुरस्कार लेने से इनकार की प्रवृत्ति रखते हो
    उन भाईयों को खुशदीप सम्मान से नवाजा जाना चाहिए ( खुशदीप भाई से क्षमा याचना सहित -बुरा न मनो होली है )
    क्या मुझसे फोन पर कुछ मंत्रणा करना चाहेगें ? आपके भले के लिए कह रहा हूँ ताऊ ! नहीं तो रजनीश जी की तरह आफत में पड़ जायेगें हा हा !

    ReplyDelete
  5. मै लिखने के बाद खुद की रचना पढता ही नहीं हूँ, मेरे लिये भी पुरस्कार की घोषणा की जाये.
    ज्यूरी के लिये मैं अपना नामांकन करता हूँ.

    ReplyDelete
  6. आपकी चेतावनी को देखते हुए और कम्प्यूटर को टूटने से बचाने के लिए मैं सोचता हूँ कि क्यों न इस पुरस्कार के लिए खुद को नामित करवा दूँ?

    रोचक पोस्ट।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com

    ReplyDelete
  7. तो इस बार होली पर,बुरा न मानों होली है कह कर आप कइयों को उदरस्त करनें का पिलान बना चुके हैं ......
    भई वाह.

    ReplyDelete
  8. पुरस्कारों की सूचि तो बहुत बढ़िया है जिन्हें मिलेंगे उन्हें अभी से अग्रिम हार्दिक बधाई |

    ReplyDelete
  9. अरे.. ई..सम्मान की दुकान में कई सम्मान तो है ही नहीं ! चलो यार, कोई नई दुकान देखते हैं!

    ReplyDelete
  10. ताऊ जी मेरा नाम नोट कर ले..कोई भी चलेगा,एक पुरुस्कार तो मुझे दे ही दो!क्योंकि बाकि कोई तो भाव देता नहीं....

    ReplyDelete
  11. nice..............................//////////////////////

    ReplyDelete
  12. किस श्रेणी में खुद को नामित करुँ, इसी असमंजस में हूँ..दूसरों को नामित करना होता तो बहुत बेहतरीन केन्डीडेट हैं अधिकतर श्रेणी के लिए मेरे पास!! :) कोई विवाद न होता उन नामों पर..सर्वमान्य होते. :)

    ReplyDelete
  13. ताऊ जी !इतने जबरदस्त चित्र और आईडिया कहाँ से लाते हैं??:D
    अजब गजब दुनिया है ये ब्लॉग जगत भी !
    भांति भांति के लोग भांति भांति के पुरूस्कार!
    -ऐसा लगता है श्रेणियां और बनानी होंगी ..ऊपर बहुत से सुझाव हैं.
    --होली तक न जाने क्या क्या होने वाला है यहाँ...
    ----हम तो दुनिया के इस अलग थलग से कोने में बैठकर सारे नज़ारों का आनंद ले रहे हैं.
    हा !हा !हा!
    [****-कल की पोस्ट में समीर जी के गोरेपन को देख कर शाहरुख़ के 'गोरेपन वाली क्रीम ' ke विज्ञापन की याद आ जाती है.
    ही ही ही !]****

    ReplyDelete
  14. जिसमे निम्न श्रेणी के पुरस्कार होंगे

    कृपया पुरस्कारों की गुणवत्ता बनाये रखें :)

    ReplyDelete
  15. ताऊ !
    डू नॉट डिस्टर्ब के लिए भी पैसे चाहिए तुझे ...? जो तेरा विरोध करेगा उसका कम्पूटर टुकड़े टुकड़े हो जायेगा ! कहीं बावा समीरानंद को भी तो नहीं पता लिया गोरा होने के चक्कर में !
    मेरी तरफ से एक पुरस्कार तय है ! इस होली पर महा धूर्तानंद पुरस्कार ताऊ तेरे लिए....
    और हाँ , पुरस्कार कम लग रहे हैं, दावेदार बहुत हैं ! अरविन्द मिश्र के सुझाव पर गौर करें !

    ReplyDelete
  16. Taau ji.
    mujhe apni aapatti darz karani hai....ye bikul galat baat ho rahi hai mareech praskaar 1,00000 Rs, ka aur Shurpnakha puraskaar maatr 51,000 Rs, ye mujhe bilkul manzoor nahi dono ki raashi barabar honi chahiye, yah sarasar naari apmaan hai...ham naariyaan kisi bhi tarah parushon se kam nahi hai...chahe wo kaisi bhi vidha ho..is hetu puraskaar raashi barabar ki jaaye...
    naari shakti amar rahe...!!

    ReplyDelete
  17. आप तो अग्रीम बधाई व शुभकामनाएं स्वीकारो. साथ ही मेडी क्लेम ले लेना.... :)

    ReplyDelete
  18. वाह...वाह....!
    आनन्द आ गया!
    सभी पुरस्कार एक से बढ़कर एक हैं!

    भई मैं तो सभी फोकट में लेना चाहूँगा!
    मेरा नाम नोट कर लें!

    ReplyDelete
  19. पुरस्कारों की घोषणा बहुत सोह समझ कर की है.... बहुत बढ़िया....

    ReplyDelete
  20. ताऊ, ताऊ, ताऊ
    उपरोक्त सभी पुरस्कार एकदम योग्य उम्मीदवार को ही दिये जाने चाहिये,
    और और और
    एकदम योग्य उम्मीदवार मैं भी हूं.

    ReplyDelete
  21. आप यह समझ ले कि अगर आपने हमारे द्वारा प्रदत पुरस्कारों की अवमानना की या उसके विरोध में कुछ लिखा या आंदोलन किया तो जैसे ही आप कंप्युटर पर लिखने बैठेंगे आपका कंप्युटर टुटकर दो टुकडे हो जायेगा. यह सत्य वचन हैं. फ़िर हमें दोष मत दिजियेगा.

    dar gayae

    ReplyDelete
  22. हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा हा वाह ताऊ जी आनन्द आ गया मगर अदा जी के साथ ही मेरी भी उनके वाली आपत्ति दर्ज कर लें ये धाँधली नही चलेगी--- हा हा हा हा । नाईस

    ReplyDelete
  23. कोई सिफारिश की कहीं गुंजाइश हो तो बताइए जिससे जोड़-तोड़ बिठा सकें। नहीं तो हम तो रह ही जाएंगे क्‍योंकि हम तो निर्गुटी लोग हैं।

    ReplyDelete
  24. hahahahahahahahahah........tau ji
    marwa diya na.........matlab hamara to koi chance hi nhi hai ............vaise bahut hi bhayanak tarike se dhamkidi hai aadhe to yahin toot jayege ..........na jane kitno ke dil ke armaan dharashayi kar diye hain........un sabse sahanubhuti hai .........vaise hamara computer to nhi tootega na .........agar koi uchit category dikhti ho to shamil kar lena ji hamein to dikhti nhi...........hahahaha

    ReplyDelete
  25. श्यामल जी ने पहले ही हाथ मार दिया. हमें भी कोई न कोई दे ही दीजियेगा, वरना फिर मैं भी ब्लागिंग से ब्रेक ले लूंगा, संयास ले लूंगा, ब्लागिंग छोड़ दूंगा, टिप्पणी लेना बन्द कर दूंगा, देना बन्द कर दूंगा, वगैरा. बुरा न मानियेगा, प्री होली है.

    ReplyDelete
  26. ताऊ जितने ब्लॉगेर्स है उतने पुरस्कार क्यों नही बना देते ... सब खुश रहेंगे .. देखो कितने लोग अफ़सोस कर रहे हैं ....

    ReplyDelete
  27. अरे हम सोचते ही रह गए और आपने घोषणा भी कर डाली ...बढ़िया पुरूस्कार हैं ....पर थोड़े कम हैं...ही ही ही

    ReplyDelete
  28. ताऊ तॆनू कुछ भी कह लो..हमे मालुम हॆ कि कॊन जीतने वाला हॆ....सब मामला पहले से ही सेट हो गया हॆ...

    ReplyDelete
  29. ताऊ जी ,

    अरे आपको पुरस्कारों की महक किसी और की नाक से होती हुई हमारे पास भी पहुँच गयी. सो झांकने लगी. हूँ तो किसी काबिल नहीं लेकिन मुफ्त में मिले तो कोई बुरे भी नहीं. इस दौड़ में पहुँच तो नहीं सकती हूँ क्योंकि पैर कुछ काम नहीं दे रहे हैं लेकिन पीछे खड़े लोगों पर भी एक नजर डाल लीजियेगे.

    पुरस्कार की ओर निहारती हुई...............

    ReplyDelete
  30. क्या बात है...बडा धांसू आइडिया है.....मजा आ गया...

    ReplyDelete
  31. एक नाइस पुरुस्कार भी होना ही चाहिए। उसके लिए झगड़ा भी नहीं होगा, केवल एक ही उसके योग्य है।
    घुघूती बासूती

    ReplyDelete
  32. ताऊ
    हालांकि इन सभी श्रेणियों के पुरस्कारों के लिये मैं ही एकमात्र डिजर्विंग प्रतिभागी हूं। फिर भी जो पुरस्कार मिल जायेगा, मंजूर होगा।

    जय राम जी की

    ReplyDelete
  33. पुरस्कारों की सूचि तो बहुत बढ़िया है जिन्हें मिलेंगे उन्हें अभी से अग्रिम हार्दिक बधाई |

    ReplyDelete
  34. क्या बात है...बडा धांसू आइडिया है.....मजा आ गया...

    ReplyDelete
  35. ताऊ जी , आपकी रियासत के नए नवेले छोटे बच्चे हैं ,उनका भी ध्यान किया कीजिये ,क्यूँ कि टिप्पणियों को देख कर तो यही लगता है कि , यह पुरस्कार केवल सीनियर सिटीजन (वरिष्ट ब्लोगर्स )के लिये ही हैं ...लेखन कि लिहाज से न कि उम्र .....आखिर इस क्षेत्र में आपके बच्चे हैं .इनको भी एक -आधा पुरस्कार अवस्य देंगे ........ताऊ कि जय हो ...

    ReplyDelete
  36. हमको कौन सा सम्मान मिलेगा.... ?

    ReplyDelete
  37. ताऊ हमें तो कोई सम्मान नहीं चाहिए..ओर हाँ बता दीजिए कि डू नॉट डिस्टर्ब के लिए जो पैसे भेजने हैं तो चैक किस नाम से काटूँ :)

    ReplyDelete
  38. शानदार पुरस्कार सब हैं.....जिनको मिले उन्हें बधाई, जिनको न मिले उन्हें भी...

    ReplyDelete
  39. लोगों को यह पोस्ट लग रही होगी ताऊ लेकिन हमें यह एक मत्त हुए ब्लॉगर का घमंडनामा नज़र आ रहा है। ताऊ आप प्यारे आदमी हो, अपने हो और संजीदगी से वास्ता रखते हो। यहाँ तक मत जाओ यार। ये ज़बान, आप पर फब नहीं रही है। क्या बतलाएँ आपसे इतनी मोहब्बत न होती तो ऐसा न कहते। कम बैक ताऊ कम बैक। कोई आपसे नहीं जलता यार। सब प्यार ही तो करते हैं। आपको क्या ज़रूरत है ऐसे अहसासों में जीने की। मालिक हमारा पुराना प्यारा ताऊ हमको वापस करे। आमीन !

    ReplyDelete
  40. वाह एक से बढ़कर एक पुरस्कार है सब! बहुत खूब!

    ReplyDelete
  41. "विशेष ब्लागर सम्मान पुरस्कार - 2010 की घोषणा. - बडे हर्ष का विषय है कि अबकी बार होली के परम पुनीत अवसर पर हम कुछ विशेष पुरस्कार देने जारहे हैं. जिनमे निम्न श्रेणी के पुरस्कार होंगे."

    अब जब आपने पहले ही घोषित कर दिया है
    कि पुरस्कार निम्न श्रेणी के होंगे,
    तो हम कुछ और कहकर क्या कर सकते हैं!

    ReplyDelete
  42. आधे से ज्यादा पुरस्कार मेरे उपर फिट बैठ रहा है। आग लगाउ से टपोरी तक। अगर नहीं मिला तो अन्तर्जाल पर होलिका दहन कर दूंगा।..

    ReplyDelete
  43. आप भी बांट रहे है.. उत्तम..

    ReplyDelete
  44. ताऊ जी म्हारो नंबर कद आवेगो जी ?????

    ReplyDelete
  45. वैसे हम भी खुद को नामित समझ रहे हैं.. लगभग हर श्रेणी में.. मगर पुरस्कार नहीं लेंगे पहले ही बोल दे रहे हैं.. पता है एक लट्ठ ताऊ जी लगा कर कहेंगे की लाख रूपये का आशीर्वाद दिया ना..

    ReplyDelete
  46. हाहा...जी बिकुल अदा जी एवं निर्मला जी......नारी शक्ति अमर रहे......

    वैसे पुरुष्कारों में दम तो है पक्का...वो देखा था आपने समीर जी को एशियन से फिरंगी बना दिया ...समीर जी जरा मुहर तो लगा दें बंधू....
    Authenticity की :)))

    Regards n Great day to all Friends

    ReplyDelete
  47. हा हा उपरोक्त टिप्पणी के बाद आप हम को किसी न किसी पुरस्कार के क़ाबिल तो समझ ही लोगे है के नहीं, ताऊ ?
    आपकी किस पर लिखूँ अभी भी दिमाग में गूँज रही है क्या लिखा है भाई। अहा!

    ReplyDelete
  48. ताउ जी!
    म्हारे पहुंचते तक तो सारा नामांकन हो गया इनाम का,इब म्हारा नम्बर को्नी आता दिखे। या कोई नई कैटिगेरी बनाणी पड़ेगी।
    राम-राम

    ReplyDelete
  49. पुरस्कार समारोह मतलब विवाद समारोह। लेकिन देखना अब यह है कि ताऊ पुरस्कार समारोह में क्या होने वाला है। क्योंकि पुरस्कार ऐसे हैं कि बुद्धिजीवी कम और प्राप्त करने वाला ज्यादा चिल्ला सकता है। वैसे आप चाहें तो टपोरी पुरस्कार इस युवा टपोरी को थमा दीजिएगा।

    शर्तें और नियम*

    ReplyDelete
  50. हम तालियों से जोरदार स्वागत करेंगे...!

    ReplyDelete
  51. देखते है हमें कौन सा मिलता है।

    ReplyDelete
  52. ताऊ,बस न्यूं कैण आया सूं कि म्हारे भरोसे मत न रह जईयो, जिसे देणा हो दे दीजो अपने निम्न श्रेणी के पुरस्कार,
    जी सा आ ग्या घोषणा पढ्कर।

    ReplyDelete

Post a Comment