Powered by Blogger.

ताऊ पहेली - 58

प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम.

ताऊ पहेली अंक 58 में मैं ताऊ रामपुरिया, सह आयोजक सु. अल्पना वर्मा के साथ आपका हार्दिक स्वागत करता हूं. जैसा कि आप जानते ही हैं कि अब से रामप्यारी का हिंट सिर्फ़ एक बार ही दिया जाता है. यानि सुबह 10:00 बजे ही रामप्यारी के ब्लाग पर मिलता है.


विनम्र विवेदन


कृपया पहेली मे पूछे गये चित्र के स्थान का सही सही नाम बतायें. कई प्रतिभागी सिर्फ़ उस राज्य का या शहर का नाम ही लिख कर छोड देते हैं. जो कि अबसे अधूरा जवाब माना जायेगा.

हिंट के चित्र मे उस राज्य या शहर की तरफ़ इशारा भर होता है कि उस राज्य या शहर मे यह स्थान हो सकता है.


यह कौन सी जगह है?



ताऊ पहेली का प्रकाशन हर शनिवार सुबह आठ बजे होगा. ताऊ पहेली के जवाब देने का समय कल रविवार दोपहर १२:०० बजे तक है. इसके बाद आने वाले सही जवाबों को अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे


अब आप रामप्यारी के ब्लाग पर हिंट की पोस्ट सुबह दस बजे ही पढ सकते हैं! दूसरा हिंट नही दिया जायेगा.

जरुरी सूचना:-

टिप्पणी मॉडरेशन लागू है इसलिए समय सीमा से पूर्व केवल अधूरे और ग़लत जवाब ही प्रकाशित किए जाएँगे.
सही जवाबों को पहेली की रोचकता बनाए रखने हेतु समय सीमा से पूर्व अक्सर प्रकाशित नहीं किया जाता . अत: आपका जवाब आपको तुरंत यहां नही दिखे तो कृपया परेशान ना हों.

इस अंक के आयोजक हैं ताऊ रामपुरिया और सु,अल्पना वर्मा



नोट : यह पहेली प्रतियोगिता पुर्णत:मनोरंजन, शिक्षा और ज्ञानवर्धन के लिये है. इसमे किसी भी तरह के नगद या अन्य तरह के पुरुस्कार नही दिये जाते हैं. सिर्फ़ सोहाद्र और उत्साह वर्धन के लिये प्रमाणपत्र एवम उपाधियां दी जाती हैं. किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजकों का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा. एवम इस पहेली प्रतियोगिता में आयोजकों के अलावा कोई भी भाग ले सकता है.


मग्गाबाबा का चिठ्ठाश्रम
मिस.रामप्यारी का ब्लाग

 

नोट : – ताऊजी डाट काम  पर हर सुबह 8:00 बजे और शाम 6:00 बजे नई पहेली प्रकाशित होती हैं. यहा से जाये।

43 comments:

  1. अभी तो कुछ समझ में नहीं आ रहा..हिंट का इंतज़ार है..

    ReplyDelete
  2. न सोने देते हो और न जगने देतो है...तबीयत खराब हुई तो पहेली की जिम्मेदारी कहलायेगी... :)

    ReplyDelete
  3. ढूँढ़ के आता हूँ ।

    ReplyDelete
  4. ======================
    Chandigarh War Memorial
    ======================

    perhaps the largest War Memorial of the country, with nearly 8459 names of the Deceased Soldiers since 1947 from Army Air Force and Navy stands located in the serene and beautiful Bougainvillea garden of Chandigarh and was inaugurated by H’ble President of India Dr. A. P. J. Abdul Kalam on 17th August, 2006.
    Chandigarh War Memorial is dedicated to those who laid their lives defending the country since independence. The Memorial, lists the names of Martyrs from Punjab, Haryana, Himachal Pradesh and Union Territory of Chandigarh. War Memorial is an expression of Nation’s gratitude for the supreme made by its bravest children to this generation & those to come. Chandigarh War Memorial serves as a reminder of the supreme sacrifice that some citizens make so that the Nation can live in Freedom....

    ReplyDelete
  5. स्वामी समीरानन्द आश्रम का प्रस्तावित मेन गेट!!

    ReplyDelete
  6. war memorial, Chandigarh, Bougainvillea Garden; A leading Indian newspaper took the initiative to construct the memorial.

    ReplyDelete
  7. War Memorial, Chandigarh;

    Largest War Memorial of the country, with nearly 8459 names of the Deceased Soldiers since 1947 from Army Air Force and Navy stands located in the serene and beautiful Bougainvillea garden of Chandigarh and was inaugurated by H’ble President of India Dr. A. P. J. Abdul Kalam on 17th August, 2006. Chandigarh War Memorial is dedicated to those who laid their lives defending the country since independence. The Memorial, lists the names of Martyrs from Punjab, Haryana, Himachal Pradesh and Union Territory of Chandigarh. War Memorial is an expression of Nation’s gratitude for the supreme made by its bravest children to this generation & those to come. Chandigarh War Memorial serves as a reminder of the supreme sacrifice that some citizens make so that the Nation can live in Freedom.
    Jai Hind

    ReplyDelete
  8. ताऊ जो जगह भी हो मगर है खूबसूरत राम राम

    ReplyDelete
  9. लो कर लो जी
    विदेश की सैर
    मॉरीशस वेरी डिलीशियस।

    ReplyDelete
  10. जो कह रहे हैं कि
    न सोते बनता है
    न जगते
    वे बीमार नहीं होंगे
    क्‍योंकि वे मारते हैं
    ईनाम
    सभी ब्‍लॉग धाम।

    टिप्‍पणियों के हैं शहंशाह
    पहेलियों के बादशाह
    बीमारी तो उन्‍हें देखकर
    ही डर जाएगी, पर
    बच नहीं पाएगी।

    ReplyDelete
  11. ये तो अपुन का इंडिया है
    26 जनवरी करीब है।

    ReplyDelete
  12. Chandigarh War Memorial the largest War Memorial of the country, with nearly 8459 names of the Deceased Soldiers since 1947 from Army Air Force and Navy stands located in the serene and beautiful Bougainvillea garden of Chandigarh and was inaugurated by H’ble President of India Dr. A. P. J. Abdul Kalam on 17th August, 2006.
    regards

    ReplyDelete
  13. बैरां नही पाट्ट्या, कोणू सी जगह है, कल बता दुंगा, आज तो काम बहुत घण्णा है.आज कल तो राम प्यारी भी सीधे मुंह बात नही करती, वरना उस से ही पूछ लेते...

    ReplyDelete
  14. अरे ताऊ जी किसी को बताना नही यह या तो मक्खी मार सेंट की शीशी है, या फ़िर किसी शराब की बोतल का ढक्कन:)

    ReplyDelete
  15. नहीं पता जी |
    लगता तो कोई शहीद स्मारक है पर है कहाँ नहीं मालूम | हम तो सोमवार का इंतजार कर रहे है अपने ज्ञान वर्धन का और विजेताओं को बधाई देने का |

    ReplyDelete
  16. देखा हुआ लग रहा है याद नहीं आ रहा

    ReplyDelete
  17. कोई सा युद्ध स्मारक होना चाहिये ताऊ!

    ReplyDelete
  18. यह कोई स्मारक है

    ReplyDelete
  19. हम्म... ये तो नहीं पता.

    ReplyDelete
  20. संजय बैंगाणी अभी नहीं दिख रहे इन २२ टीपों में..कहीं सही जबाब वाले में तो नहीं छिपे वह??

    मुझे तो बस उत्ती ही टेंशन है.

    ReplyDelete
  21. बिना नाम बताये ये घोषणा की जा सकती है की सही जवाब आने शुरू हुए

    ReplyDelete
  22. लालकिले के अंदर प्रदर्शनी स्‍थल में
    एक मैडल रखा है जिसका क्‍लोज अप है
    तो दिल्‍ली का हुआ या हुआ आगरा का
    पर है यह लालकिला भारत का।

    ReplyDelete
  23. पेरंबदूर का शहीदी स्मारक ..........

    ReplyDelete
  24. सूचना :- इस पहेली पर जवाब देने की समय सीमा समाप्त हो चुकी है. अब जो भी सही जवाब आयेंगे उन्हें अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे.

    उत्साह वर्धन के लिये सभी प्रतिभागियों का हार्दिक धन्यवाद.

    रामराम.

    ReplyDelete
  25. चंडीगढ़ वार मेमोरियल
    मतलब भयो
    युद्धक असली स्‍मृतियों का गढ़ चंडीका

    ReplyDelete
  26. ये तो चंडीगढ़ का वार मेमोरिअल है! मैं चंडीगढ़ गयी हूँ इसलिए पूरे यकीन के साथ कह सकती हूँ!

    ReplyDelete