ताऊ पहेली - 40

प्रिय बहणों और भाईयों, भतिजो और भतीजियों सबको शनीवार सबेरे की घणी राम राम.
ताऊ पहेली अंक 40 में मैं ताऊ रामपुरिया, सह आयोजक सु. अल्पना वर्मा के साथ आपका हार्दिक स्वागत करता हूं. क्ल्यु हमेशा की तरह रामप्यारी के ब्लाग से मिलेंगे. रामप्यारी के ब्लाग पर पहला क्ल्यु 11:30 बजे और दुसरा 2:30 बजे मिलेगा. रामप्यारी का जवाब अलग टिपणी में देवें. तो आईये अब आज की पहेली की तरफ़ चलते हैं.


यह कौन सी जगह है?

ताऊ पहेली का प्रकाशन हर शनिवार सुबह आठ बजे होगा. ताऊ पहेली के जवाब देने का समय कल रविवार दोपहर १२:०० बजे तक है. इसके बाद आने वाले सही जवाबों को अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे

अब रामप्यारी का विशेष बोनस सवाल : - ३० अंक के लिये.

rampyari-tdc-1_thumb[2] हाय एवरी बडी..वैरी गुड मार्निंग फ़्रोम रामप्यारी.

विनम्र निवेदन : - कृपया मेरे सवाल का जवाब अलग टीपणी मे देवें. बडी मेहरवानी होगी. एक ही टिपणी मे दोनो जवाब मे से एक सही होने पर प्रकाशित नही की जा सकती और इससे आप कन्फ़्युजिया सकते हैं कि आपकी टिपणी रुकी हुई है. तो सही होगी?

आज का सवाल :-

अ. महात्मा गांधी ने जिस पुस्तक को "ड्रेन इंसपेक्टर रिपोर्ट" कहा था, उस भारत विरोधी किताब का नाम क्या था? और उसके लेखक का नाम क्या था?

ब. उपरोक्त पुस्तक के जवाब में उस समय डा. राजेंद्र प्रसाद ने भी एक पुस्तक लिखी थी. उस पुस्तक का भी नाम बताईये?



अब आप मेरे ब्लाग पर पहली हिंट की पोस्ट पढ सकते हैं 11:30 बजे और दुसरी 2:30 बजे.

अब रामप्यारी की रामराम.


इस अंक के आयोजक हैं ताऊ रामपुरिया और सु,अल्पना वर्मा


नोट : यह पहेली प्रतियोगिता पुर्णत:मनोरंजन, शिक्षा और ज्ञानवर्धन के लिये है. इसमे किसी भी तरह के नगद या अन्य तरह के पुरुस्कार नही दिये जाते हैं. सिर्फ़ सोहाद्र और उत्साह वर्धन के लिये प्रमाणपत्र एवम उपाधियां दी जाती हैं. किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजकों का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा. एवम इस पहेली प्रतियोगिता में आयोजकों के अलावा कोई भी भाग ले सकता है.

मग्गाबाबा का चिठ्ठाश्रम
मिस.रामप्यारी का ब्लाग

 

नोट : – ताऊजी डाट काम  पर हर शाम 6:00 बजे नई पहेली प्रकाशित होती हैं. यहा से जाये।

Comments

  1. बाबा अमरनाथ की गुफ़ा में प्रवेश का रास्ता!

    ReplyDelete
  2. मन्ने तो अमरनाथ यात्रा लागे सै। आज आ तो गया पहले पर सुथरा जवाब कौनी मालूम।

    ReplyDelete
  3. और रामप्यारी जी के सवाल का जवाब नही मालूम जी। पर लगता है। अगर आगे भी ऐसे ही सवाल पूछते रहे तो शायद हमे आगे के सवालो के जवाब मालूम हो। जी के थोडी थाडी ठीक ही है। देखते आगे जवाब दे पाते है या नही।

    ReplyDelete
  4. Katherine Mayo's book “Mother India” (1927) a “drain inspector's report”
    "Vande Mataram "
    regards

    ReplyDelete
  5. अमरनाथ हिन्दुओ का एक प्रमुख तीर्थस्थल है। यह कश्मीर राज्य के श्रीनगर शहर के उत्तर-पूर्व में १३५ सहस्त्रमीटर दूर समुद्रतल से १३,६०० फुट की ऊँचाई पर स्थित है। इस गुफा की लंबाई (भीतर की ओर गहराई) १९ मीटर और चौड़ाई १६ मीटर है। गुफा ११ मीटर ऊँची है।[१] अमरनाथ गुफा भगवान शिव के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। अमरनाथ को तीर्थों का तीर्थ कहा जाता है क्यों कि यहीं पर भगवान शिव ने माँ पार्वती को अमरत्व का रहस्य बताया था।[२]

    यहाँ की प्रमुख विशेषता पवित्र गुफा में बर्फ से प्राकृतिक शिवलिंग का निर्मित होना है। प्राकृतिक हिम से निर्मित होने के कारण इसे स्वयंभू हिमानी शिवलिंग भी कहते हैं। आषाढ़ पूर्णिमा से शुरू होकर रक्षाबंधन तक पूरे सावन महीने में होने वाले पवित्र हिमलिंग दर्शन के लिए लाखो लोग यहां आते है। [३] गुफा की परिधि लगभग डेढ़ सौ फुट है और इसमें ऊपर से बर्फ के पानी की बूँदें जगह-जगह टपकती रहती हैं। यहीं पर एक ऐसी जगह है, जिसमें टपकने वाली हिम बूँदों से लगभग दस फुट लंबा शिवलिंग बनता है। चन्द्रमा के घटने-बढ़ने के साथ-साथ इस बर्फ का आकार भी घटता-बढ़ता रहता है। श्रावण पूर्णिमा को यह अपने पूरे आकार में आ जाता है और अमावस्या तक धीरे-धीरे छोटा होता जाता है। आश्चर्य की बात यही है कि यह शिवलिंग ठोस बर्फ का बना होता है, जबकि गुफा में आमतौर पर कच्ची बर्फ ही होती है जो हाथ में लेते ही भुरभुरा जाए। मूल अमरनाथ शिवलिंग से कई फुट दूर गणेश, भैरव और पार्वती के वैसे ही अलग अलग हिमखंड हैं।

    regards

    ReplyDelete
  6. Hey raampyari...that book ws Katherine Mayo's book -Mother india (1927)
    Ise Ghandhi ji ne "ड्रेन इंसपेक्टर रिपोर्ट" कहा था,

    पुस्तक के जवाब में उस समय डा. राजेंद्र प्रसाद ने भी एक पुस्तक लिखी थी..Shayad - India Divided ...!!

    ReplyDelete
  7. ये तो लेह ,लद्धाक जैसा लग रहा है .....
    raam raam

    ReplyDelete
  8. रामप्यारी के सवाल का जवाब
    अ. Mother India - Katherine Mayo

    ब. India Divided – Dr. Rajendra Prasad

    ReplyDelete
  9. रामप्यारी के सवाल का जवाब
    अ. Mother India(1927)- Katherine Mayo

    ब. India Divided(1946) – Dr. Rajendra Prasad

    ReplyDelete
  10. रामप्यारी के सवाल का जवाब
    अ. Mother India(1927)- Katherine Mayo

    ब. India Divided(1946) – Dr. Rajendra Prasad

    ReplyDelete
  11. ईं फोटू से तो जगह समझ कोनी आई। पर किताब तो कैथरीन मेयो की मदर इंडिया छी, जवाब में डॉ.राजेन्द्र प्रसाद जी ने इंडिया डिवाइडेड लिक्खी। बाकी रामप्यारी का हिंट की परतीच्छा में बैठ्याँ छाँ।

    ReplyDelete
  12. Leh ka Gurudwara 'Pathar Saheb 'jaisa bhee lag raha hai ...:))

    ReplyDelete
  13. रामप्यारी का जवाब
    कैथरीन मेयो की "मदर इंडिया"

    ReplyDelete
  14. रामप्यारी के पहले सवाल का जबाव- कैथरीन मायो
    द्रारा लिखित 'मदर इंडिया'।

    ReplyDelete
  15. बेरा ना पाट रा भाई ताऊ ...ऊपर से देखूं तो कुछ लागन लाग रया और नीचे से देखूं तो कुछ और दीख रा, तिरछा हो के देखूं तो अजीब लाग रया.... इब के करूँ? अमरनाथ की गुफा बोल देयुं के? होगी सो देखि जायेगी...जय हो.
    नीरज

    ReplyDelete
  16. रामप्यारी के सवाल का जवाब

    Catherine Mayo’s Mother India

    प्रणाम

    ReplyDelete
  17. रामप्यारी का जवाब

    किताब का नाम - मदर इण्डिया
    लेखिका - कैथरीन मायो

    प्रणाम

    ReplyDelete
  18. हे डॉटर ओफ इंडिया, राम प्यारी.

    केथरीन की किताब 'मदर इण्डिया' जिसने 20 के दशक में अमेरिका व ब्रिटेन पर असर डाला था को गाँधीजी ने ड्रेन इंस्पेक्टर रिपोर्ट कहा था.

    ReplyDelete
  19. बाबा अमरनाथ...
    मीत

    ReplyDelete
  20. ताऊ यो अमरनाथ का रास्ता है के

    ReplyDelete
  21. रामप्यारी ये माऊंट एवरेस्ट है.

    ReplyDelete
  22. इस किताब को एक ताई ने लिखा था जो अमेरीका मे रहती थी.

    ReplyDelete
  23. अब किताब का नाम याद आयेगा तब बतायेंगे.

    ReplyDelete
  24. उस भारत विरोधी किताब का नाम था मदर इंडिया...
    मीत

    ReplyDelete
  25. ल्हासा तिब्बत का कोई पहाड है

    ReplyDelete
  26. पक्का नहीं पता पर सायद राजेंद्र जी की किताब का नाम था इंडिया दिविदेद
    मीत

    ReplyDelete
  27. उस किताब को रामप्यारी मैम ने लिखा था.

    ReplyDelete
  28. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  29. ताऊ जी कहा कहा से खोज लाते हो भाई ये सब मुझे तो पता ही नहीं चल रहा है एक काम करना मुझे हिरामन से ही उपाधी दिलवा देना :)

    ReplyDelete
  30. बाबा अमरनाथ की पवित्र गुफ़ा

    ReplyDelete
  31. जै बाबा अमरनाथ बर्फानी
    भूखे को अन्न प्यासे को पानी

    ReplyDelete
  32. उस किताब पर डाक्टर राजेंद्र प्रसाद जी ने एक किताब लिखी तो थी पर हमने नही पढी. इसलिये क्या बताये? कल का जवाब पढकर जान लेंगे.

    ReplyDelete
  33. यह अफ़गानिस्तान के पहाड हैं शायद बामियान के.

    ReplyDelete
  34. रामप्यारी का जवाब मालूम नही.

    ReplyDelete
  35. पुस्तक का नाम-"मदर इन्डिया"
    लेखक "कैथरीन मोय"

    ReplyDelete
  36. nनवररात्र पर्व की शुभकामनायें यहाँ जरूर कोई देवी का स्थान है नाम बकी लोग बतायें मैं ही तो नहीं सब कुछ बताऊँगी ना

    ReplyDelete
  37. कोन्या बेरो लाग्यो ताउजी ! पुरो नेट छान मारयो ! कठेई नै लाध्यो! बेरा कोनी ताउजी थाने यो जुगाड़ कठे स्यूं मिल ज्यावे!!

    ReplyDelete
  38. ये मुझे तो कोई दुर्गा पूजा का पंडाल लगता है. बहुत सुंदर जगह है जी.

    ReplyDelete
  39. रामप्यारी जी आपका सवाल तीन पार्ट मे है मुझे एक का जवाब आता है. वो किताब थी रामप्यारी इंडिया और जैकलिन कैनेडी ने लिखी थी और डा. राजेंद्र प्रसाद जी ने लिखी थी वैरी गुड इंडिया.

    ReplyDelete
  40. रामप्यारी जी अब आपके सवाल का सही जवाब : वो किताब थी मदर इंडिया और मिस. कैथरीन जो कि एक अमेरीकी पत्रकार थी. और उसके जवाब में डा. राजेंद्र प्रसाद जी ने जो किताब लिखी थी उसका नाम था अनहैप्पी ईंडिया.

    रामप्यारी जी अगर आपको यह किताब पढकर बच्चों को कुछ ज्ञान देना हो तो यह किताब मेरे पास है. भिजवा देता हूं.:)

    ReplyDelete
  41. ya fir ellora caves ki dur se li gai tasvie hai.

    ReplyDelete
  42. ये तो पहचान लिया जी, पहाड है और लोग उस पर चढ रहे है.

    ReplyDelete
  43. और रामप्यारी मैम को नवरात्र की शुभकामनाएं. मैम आज तो देवी मां की पूजा पाठ करके एक समय भोजन करेंगे. जब पेट मे कुछ जायेगा तब आपके सवाल का जवाब देंगे आराम से...अब तो हमारी सोमवार तक की छुट्टियां है.

    ReplyDelete
  44. अरे रामप्यारी जी, मैं एक बात कहना भूल गया कि अब तीन दिन की छुट्टियां थी. ताऊ और ताई को कहीं घुमा लाती तो अच्छा रहता...यहां का काम मुझे संभलवा देती...मैं ही विजेता बनकर ताऊ से ईंटर्व्यु करवा लेता मेरा.:)

    रामराम.

    ReplyDelete
  45. हे दोनों क्लू देखने से तो लगता है श्रीनगर है ...डल लेक bhee hai

    लेकिन कश्मीर में क्या है ये ??ये तो गूढ़ अर्थों वाली कविता जैसे पहेली है ....

    ReplyDelete
  46. दे भूखे को रोटी और प्यासे को पानी
    जय हो जय हो भोले बाबा बर्फानी

    अमरनाथ की गुफा है...

    बिंगो!!!!!

    ReplyDelete
  47. Amarnaath .yatra ka track bhee yahee se shuru hota hai ..Amarnaath temple ..taau ji....aab to sahee hai basss

    ReplyDelete
  48. अमरनात गुफा के आस पास का ही चित्र लग रहा है रामप्यारी

    अब मैं गयी नहीं ना रानी वहाँ , सो थोडा confusion हो गया है,par jaungi pakka !!!

    पर मैं डल लेक के उस पॉइंट पर गयी थी......शिकारा में भी बैठी....
    सो 50% नंबर दे देना ...plsss

    ReplyDelete
  49. आप ही बता दीजिये ताऊ जी! लदाख या कश्मीर जैसा लग रहा है पर यकीन से नहीं कह सकती कौन से जगह है!

    ReplyDelete
  50. बाबा बर्फानी अमरनाथ
    पर सही जवाब से भी
    नहीं मिलेगा लाभ
    लेट हो गए हैं आज।

    ReplyDelete
  51. मदर इंडिया by Katherin Mayo
    बस आधा ही जवाब देंगे हम तो रामप्‍यारी
    आधे का किसी और को देने दो
    वैसे भी आधी छोड़ पूरी को भागे
    आधी भी जावे पूरी भी न पावे
    इसलिए हम आधा जवाब बता भागे।

    ReplyDelete
  52. Amarnath Cave is located in the Indian state of Jammu and Kashmir.

    ReplyDelete
  53. Amarnath Cave is located in the Indian state of Jammu and Kashmir.

    ReplyDelete
  54. ताऊ ये जगह तो हमने पहली बार ताऊ .इन पर ही देखि है इसलिए हमारा जबाब है "ये जगह ताऊ .इन पर है |"

    ReplyDelete
  55. ताऊ जी राम राम अरे आज की पहेली तो बहुत आसान थी, लेकिन आज मेरे पास समय नही था, अभी आखरी मेहमान गया तो मुझे आप की पहेली की याद आ गई. आज घर मे शुद्धिकरण किया था, इस मे सुंदर कांड का पाठ ओर फ़िर हवन किया था, काफ़ी जान्पहचान वालेआये थे. चित्र एक दो दिन मै दुंगा,पहेली का जबाब तो कब का आ गया, इस लिये मै नही बतऊगा, राम राम

    ReplyDelete
  56. Katherine Mayo's book “Mother India” (1927) a “drain inspector's report”
    "Vande Mataram "

    ReplyDelete
  57. कैथरीन मेयो की "मदर इंडिया"

    ReplyDelete
  58. इस बार सही जवाब छोड़ दिए गए हैं
    गलत जवाब कैद कर लिए गए हैं
    सावधान रहें
    पहेली में भाग लेने वाले
    और भागने वाले भी।

    जाग जाएं सब
    राग गाएं सब।

    ReplyDelete
  59. ताऊ राम राम आज काफी दिनों बाद मैं भी पहेली में हिस्‍सा ले रहा हूं और मेरा जवाब जल्‍दी से नोट कर लो ये है बाबा अमरनाथ बर्फानी की गुफा का प्रवेश द्वार

    नोट

    रामप्‍यारी के सवाल का जवाब दूसरे चक्र में दिया जाएगा

    ReplyDelete
  60. ये रहा रामप्‍यारी का सवाल का जवाब

    Katherine Mayo's book “Mother India” (1927) a “drain inspector's report”
    "Vande Mataram "

    ReplyDelete
  61. अमरनाथ हिन्दुओ का एक प्रमुख तीर्थस्थल है। यह कश्मीर राज्य के श्रीनगर शहर के उत्तर-पूर्व में १३५ सहस्त्रमीटर दूर समुद्रतल से १३,६०० फुट की ऊँचाई पर स्थित है। इस गुफा की लंबाई (भीतर की ओर गहराई) १९ मीटर और चौड़ाई १६ मीटर है। गुफा ११ मीटर ऊँची है।[१] अमरनाथ गुफा भगवान शिव के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक है। अमरनाथ को तीर्थों का तीर्थ कहा जाता है क्यों कि यहीं पर भगवान शिव ने माँ पार्वती को अमरत्व का रहस्य बताया था।[२]

    यहाँ की प्रमुख विशेषता पवित्र गुफा में बर्फ से प्राकृतिक शिवलिंग का निर्मित होना है। प्राकृतिक हिम से निर्मित होने के कारण इसे स्वयंभू हिमानी शिवलिंग भी कहते हैं। आषाढ़ पूर्णिमा से शुरू होकर रक्षाबंधन तक पूरे सावन महीने में होने वाले पवित्र हिमलिंग दर्शन के लिए लाखो लोग यहां आते है। [३] गुफा की परिधि लगभग डेढ़ सौ फुट है और इसमें ऊपर से बर्फ के पानी की बूँदें जगह-जगह टपकती रहती हैं। यहीं पर एक ऐसी जगह है, जिसमें टपकने वाली हिम बूँदों से लगभग दस फुट लंबा शिवलिंग बनता है। चन्द्रमा के घटने-बढ़ने के साथ-साथ इस बर्फ का आकार भी घटता-बढ़ता रहता है। श्रावण पूर्णिमा को यह अपने पूरे आकार में आ जाता है और अमावस्या तक धीरे-धीरे छोटा होता जाता है। आश्चर्य की बात यही है कि यह शिवलिंग ठोस बर्फ का बना होता है, जबकि गुफा में आमतौर पर कच्ची बर्फ ही होती है जो हाथ में लेते ही भुरभुरा जाए। मूल अमरनाथ शिवलिंग से कई फुट दूर गणेश, भैरव और पार्वती के वैसे ही अलग अलग हिमखंड हैं।

    ReplyDelete
  62. सूचना : इस पहेली मे जवाब देने की समय सीमा आज दोपहर १२:०० बजे समाप्त हो चुकी है. आज १२:०० बजे बाद आये सभी सही जवाबों को अधिकतम ५० अंक ही दिये जा सकेंगे. एवम उनका नाम जवाबी पोस्ट मे शामिल किया जाना पक्का नही है, सिर्फ़ नंबर उनके खाते मे जोड दिये जायेंगे.

    आप सभी भाग लेने वालों को हार्दिक धन्यवाद.

    -आयोजक गण

    ReplyDelete
  63. शुभम आर्य एवं सभी प्रतिभागियों को बधाई!

    ReplyDelete

Post a Comment