Powered by Blogger.

ताऊ पहेली – ३१ विजेता श्री अनिल पूसदकर

प्रिय भाईयो और बहणों, भतीजों और भतीजियों आप सबको घणी रामराम.

 

danteshwari-temple

 

कल की ताऊ पहेली – 31   का सही जवाब है  . दंतेश्वरी मंदिर.  जिसके बारे में कल सोमवार की ताऊ साप्ताहिक पत्रिका मे विस्तार से बता रही हैं सु अल्पना वर्मा.

 

अब बात करें ताऊ पहेली – 31  के परिणामों की. आज के प्रथम विजेता रहे हैं श्री अनिल पूसदकर  दुसरे विजेता हैं प.  श्री डी. के शर्मा “वत्स”.  और तीसरे विजेता हैं सु. सीमा गुप्ता.    सभी को हार्दिक बधाई.

 

हमारी परंपरा अनुसार अबकी बार का  ताऊ के साथ कलेवा करने का आमंत्रण. दिया जारहा है आज  के प्रथम  विजेता श्री अनिल पूसदकर   को.  उनको  जल्द ही निमंत्रण भेजा जा रहा है.  हार्दिक बधाई.

 

 

 

anilPUSADKAR

आज के प्रथम विजेता श्री अनिल पूसदकर .. हार्दिक बधाई .पूरे १०१ अंक


pt.dks

द्वितिय विजेता प. श्री डी. के शर्मा “वत्स” हार्दिक बधाई पूरे ९९ अंक

seema-gupta-2
तृतिय  विजेता सु. सीमा गुप्ता हार्दिक बधाई पुए ९९ अंक.

 

 

आईये अब क्रमश: आज के अन्य माननिय विजेताओं से  आपको मिलवाते हैं.

 

 

  HEY PRABHU YEH TERA PATH  अंक ९८


woyaadein
अंक ९७

premlatapandey अंक ९६
राजेश स्वार्थी अंक ९५

  Vivek Rastogi अंक ९४


रंजन अंक ९३

  रविकांत पाण्डेय अंक ९२

  दिलीप कवठेकर अंक ९१

  Harkirat Haqeer अंक ५०

  अविनाश वाचस्पति अंक ५०

 

 

इसके अलावा निम्न महानुभावों ने भी इस पहेली अंक मे शामिल होकर हमारा उत्साह बढाया. जिसके लिये हम उनके हृदय से आभारी हैं

 

डा. मनोज मिश्र,  श्री drsharma,  श्री नीरज गोस्वामी,  डा. रुपचंद्र शाश्त्री मयंक,  श्री शिवकुमार मिश्रा,  श्री सोनु,  श्री भैरव,  श्री लालों के लाल इंदौरीलाल,  श्री दीपक तिवारी साहब,  श्री उडनतश्तरी,  श्री सुशील कुमार छोंक्कर,  श्री भानाराम जाट,  श्री सही और श्री हरि…आप सबका हार्दिक आभार.

 

 

 

 

rampyari ki badi tasweer1

 

हाय…गुड मोर्निंग एवरी बडी…आई एम राम..की प्यारी रामप्यारी.

 

मेरे सवाल का सही जवाब तो आपको मालुंम चल ही गया होगा? रावण के पिताजी थे विशेश्र्वा और माताजी थी दैत्य राजकुमारी कैकशी.  और कुबेर उनका सौतेला भाई था जो उनसे पहले लंका का राजा था. तो आईये अब मैं आपको उन साहबान के नाम बताती हूं जिन्होने मेरे सवाल का सही सही जवाब दिया और जिसके बदले में मैने उनके खाते मे ३० नम्बर जमा करवा दिये.

 

सबसे पहले MA Sharma सेहर आंटी,  राजेश शर्मा अंकल, अभिव्यक्ति अंकल,  और फ़िर आई महक आंटी.

उसके बाद मुरारी पारीक अंकल, सैयद अंकल, रंजन अंकल, सीमा आंटी, और फ़िर आये गौतम राजरिशी अंकल,

 

फ़िर अंतर सोहिल अंकल, संजय बैंगाणी अंकल,  प.डी.के. शर्मा वत्स अंकल, और फ़िर आये काजलकुमार अंकल,  फ़िर मीत अंकल, मुम्बई टाईगर अंकल,  हे प्रभु ये तेरा पथ अंकल, फ़िर भारतिय नागरिक अंकल.

 

फ़िर वो यादें भैया,  गगन शर्मा अंकल,  रविकांत पाण्डे अंकल,  दिलिप कवठेकर अंकल और अविनाश वाचस्पति अंकल.

 

आप सबको पूरे तीस तीस नम्बर दिये गये हैं.  यानि आप सबके खाते मे रामप्यारी ने तीस तीस नम्बर जमा करवा दिये हैं. अब रामप्यारी की तरफ़ से रामराम…अगले शनीवार फ़िर मिलेंगें. तब तक के लिये नमस्ते ..और हां आपका कल से शुरु होने वाला सप्ताह शुभ हो.

 

 

 

अच्छा अब नमस्ते. कल सोमवार को ताऊ साप्ताहिक पत्रिका मे आपसे पुन: भेंट होगी.

 

सभी प्रतिभागियों को इस प्रतियोगिता मे हमारा उत्साह वर्धन करने के लिये हार्दिक धन्यवाद.

ताऊ पहेली – ३१  का  आयोजन एवम संचालन ताऊ रामपुरिया और सुश्री अल्पना वर्मा ने किया.

 

संपादक मंडल :-

 

मुख्य संपादक : ताऊ रामपुरिया
वरिष्ठ संपादक : समीर लाल "समीर"
विशेष संपादक : अल्पना वर्मा
संपादक (तकनीकी) : आशीष खण्डेलवाल
संपादक (प्रबंधन) : Seema Gupta
संस्कृति संपादक : विनीता यशश्वी
सहायक संपादक : मिस. रामप्यारी, बीनू फ़िरंगी एवम हीरामन

स्तंभकार : प्रेमलता एम. सेमलानी ( नारीलोक)

45 comments:

  1. अनिल जी को बधाई !

    सीमा गुप्ता जी सम्पादक होते हुए भी ..... ?

    ReplyDelete
  2. सभी पहेली विजेताओं को हार्दिक बधाई !

    ReplyDelete
  3. Anil Ji mubarkaan patakhe phuljhadiyaan aur pt.ji aur seema ji aapko bhi badhaai!!

    ReplyDelete
  4. अनिलजी वत्सजी व सीमा जी को हार्दिक बधाई आभार्

    ReplyDelete
  5. @ विवेकसिंह..

    पहेली का संचालन सिर्फ़ मैं और अल्पनाजी करते हैं और अन्य किसी भी संपादक या स्तम्भकार का कुछ लेना देना नही है. अत: हम दोनों के अलावा कोई भी इसमे भाग ले सकता है. आप शायद लम्बे अवकाश के बाद लौटे हैं. कृपया नोट करें?

    ReplyDelete
  6. आपने सभी को अच्छा काम पे लगा रखा है...लागै स ताऊ इब ये दिमाग तेज़ करण का ही कोई तरिका स...:)

    ReplyDelete
  7. ताऊ देखा ब्लॉगर सम्मलेन का कित्ता फायदा होता है..अनिल जी ने रायपुर वाले सम्मलेन में फुल कमांडो ट्रेनिंग ली थी शायद..कित्ता फास्ट रिजल्ट आया..सबको बधाई...
    ताऊ अपना दुःख क्या कहूँ..कमबख्त जब से ये ओफ्फिस शुरू हुआ है..आपकी लिस्ट से नाम ही गायब रहता है..क्या करूँ भाग जो नहीं लेता...
    बिल्लन ठीक है न...चलो ताऊ अगली बार देखता हूँ शायद ओफ्फिस में कुछ जुगाड़ निकल जाए...

    ReplyDelete
  8. प्रथम विजेता श्री अनिल पूसदकर,द्वितीय विजेता प. श्री डी. के शर्मा “वत्स”,तृतीय विजेता सु. सीमा गुप्ता तथा अन्य सभी को हार्दिक बधाई!
    साथ ही-
    मुख्य संपादक : ताऊ रामपुरिया
    वरिष्ठ संपादक : समीर लाल "समीर"
    विशेष संपादक : अल्पना वर्मा
    संपादक (तकनीकी) : आशीष खण्डेलवाल
    संपादक (प्रबंधन) : Seema Gupta
    संस्कृति संपादक : विनीता यशश्वी
    सहायक संपादक : मिस. रामप्यारी, बीनू फ़िरंगी एवम हीरामन स्तंभकार : प्रेमलता एम. सेमलानी ( नारीलोक) का पत्रिका को सजाने-संवारने के लिए आभार!

    ReplyDelete
  9. तीनों विजेताओं को बधाई. इस बार की पहेली तो काफी कठिन थी.

    ReplyDelete
  10. पुसदकर जी को बधाई !

    ReplyDelete
  11. सबके मुंह में रहते हैं दांत
    फिर भी न पाए भांप
    कि यह दंतेश्‍वर मंदिर
    हो सकता है


    दिमाग तो सबने लगाया
    पर विजेता हुए अनिल पूसदकर
    दूसरे वत्‍स जी और तीसरे पर छाईं
    सीमा। लगाकर सीमा।
    बाकी सबको नंबर मिले धीमा।

    रामप्‍यारी बिटिया पूछती है सवाल
    दिमाग की घूमने लगती है टिकिया


    बधाई बधाई बधाई।

    ReplyDelete
  12. प्रथम विजेता श्री अनिल पूसदकर,द्वितीय विजेता प. श्री डी. के शर्मा “वत्स”,तृतीय विजेता सु. सीमा गुप्ता तथा अन्य सभी को हार्दिक बधाई!

    ReplyDelete
  13. anil jee ko bahut badhaai....anya vijetaaon ko bhi

    ReplyDelete
  14. सभी विजेताओं को बहुत बहुत बधाई! बहत बढ़िया ताऊ जी!

    ReplyDelete
  15. बधाइयां बधाइयां बधाइयां
    सभी विजेताओं को तरह तरह की बधाइयां..

    ReplyDelete
  16. बधाई.....बधाई.... बधाई...

    ...इस बार तो हमारा नाम ही नहीं आया :(
    ..... ताउजी, थोडा आसान सवाल पूछा करो.

    ReplyDelete
  17. Congrats to Winners!!!

    It was really difficult to guess. Onlt Alpanaji's hint worked, but quite late!!

    Seemaji is Editor in other section. So no probs.Why hassle?

    ReplyDelete
  18. बधाई अनिल भाई और अन्य विजेताओं को! सीमाजी सम्पादक हैं इसीलिये अनिल जीते। सीमाजी के चलते सब काम कायदे से होता है।

    ReplyDelete
  19. अनिल जी सहित सभी विजेता/अविजेता एवं संपादक मंडल को ढेर सारी बधाई!!!!!!!!

    ReplyDelete
  20. हमने तो दंतेश्वरी मंदिर नाम ही पहली बार सुना है...आपको जवाब क्या ख़ाक बताते...विजेताओं को बधाई...हारने वालों को शाबाशी...
    नीरज

    ReplyDelete
  21. अनिल जी को बधाई..

    ReplyDelete
  22. सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई.....अब लीजिये अनिल जी का शिकवा भी दूर हो गया होगा....आखिरकार उनका नंबर भी आ ही गया लेकिन ताऊ अपना नंबर कब आएगा......??

    साभार
    हमसफ़र यादों का.......

    ReplyDelete
  23. रामप्यारी तेरे हिंट मे मजा नही आया. लगता है तेरे अनिल पूसदकर अंकल ने पूरा चाकलेट का ट्रक ही भिजवा दिया.:). अबकि बार मुझे जितवा दे एक बार..फ़िर देख अनिल अंकल से भी ज्यादा चाकलेट और ड्रेस तेरे को भिजाऊंगा.:)

    बहुत बधाई अनिल भाई को और सभी विजेतापं को.

    ReplyDelete
  24. रामप्यारी तेरे हिंट मे मजा नही आया. लगता है तेरे अनिल पूसदकर अंकल ने पूरा चाकलेट का ट्रक ही भिजवा दिया.:). अबकि बार मुझे जितवा दे एक बार..फ़िर देख अनिल अंकल से भी ज्यादा चाकलेट और ड्रेस तेरे को भिजाऊंगा.:)

    बहुत बधाई अनिल भाई को और सभी विजेतापं को.

    ReplyDelete
  25. बहुत शुभकामनाएं विजेताओं को.

    ReplyDelete
  26. विजेताओं को बधाई और नही जीतने वालों को सांतवना पुरुष्कार की व्यवस्था की जानी चाहिये.:)

    ReplyDelete
  27. और रामप्यारी को घणी रामराम.

    ReplyDelete
  28. बधाई अनिल भाई और अन्य विजेताओं को!

    ReplyDelete
  29. छत्तीसगढ़ से पहली बार पहेली पूछी गयी थी और ब्लॉग जगत में इतने सारे सक्रीय ब्लॉगर उस क्षेत्र से हैं तो लगा था की शायद जल्दी बहुत से सही जवाब आ जायेगे.
    सभी विजेताओं को बहुत बहुत बधाई.
    अनिल जी को खास बधाई क्योंकि कहाँ तो वे कभी जीतते नहीं थे और कहाँ सीधा पहली पायदान पर!
    यह मंदिर छत्तीसगढ़ में हैं और दंतेश्वरी देवी बस्तर की कुल देवी हैं.यहाँ का दशहरा बहुत प्रसिद्द है.हाल ही में छत्तीसगढ़ समाचारों में था.
    -पहेली के पहले क्लू में -इस मंदिर का गलियारा दिखाया गया था.
    -second चित्र में जल प्रपात दिखाया गया था..जो की भारत के सात अजूबों में गिना जाता है और इसे भारत का निआग्रा फाल भी कहते हैं.चित्रकोट [बस्तर=छत्तीसगढ़]का जल प्रपात.
    इस से आप इस राज्य में पहुँच ही जाते और पहेली सुलझ जाती.
    -अंतिम क्लू मंदिर के भीतर देवी की प्रतिमा के दर्शन करा रही थी.
    -अनिल जी के ब्लॉग के हेडर में इस जल प्रपात की तस्वीर भी है.जिसका हिंट दिया गया था.

    -और अगली पहेली में भी आप को एक नए राज्य की ही सैर कराई जायेगी.

    आभार सभी का.

    ReplyDelete
  30. आभार तो रामप्यारी और अल्पना जी का अगर हिंट न होते तो नामुमकिन था ढुढना..

    आभार..

    मजा आया..

    ReplyDelete
  31. विजेताओं को बधाई। जी चाहता है ताऊ की कर दूं धुनाई। पहेली तो ठीक है भाई। पर अपनी कलम क्यों है छिपाई। कुछ वैसी ही कर लिखाई। जिससे अच्छे भले लोग अपनी ही तरह बिगड़ जाएं भाई।

    ReplyDelete
  32. विजेताओं को दिली बधाई....

    ReplyDelete
  33. ताऊ ..........बहार होने के कारण पहेली में इस बार आ नहीं सका तो ......... माफ़ी चाहता हूँ और सब विजेताओं को बधाई........ कठिन पहेली थी इस बार पर मजेदार रही

    ReplyDelete
  34. आखिर मै जीत ही गया।जै हो दंतेश्वरी मैया की।यंहा छत्तीसगढ मे तीन शक्तिपीठ माने जाते है जिनमे से एक है दंतेश्वरी मंदिर,दूसरी है मुम्बई-हावड़ा रेल लाईन पर स्थित डोंगरगढ के पहाड पर बना मां बम्लेश्वरी का मंदिर और तीसरी है बिलासपुर से कुछ किलोमिटर दूर रतनपुर का महामाया मंदिर।महामाया मंदिर मे आप खड़े-खड़े दर्शन करेंगे तो एक ही प्रतिमा के दर्शन होंगे और अगर झुककर दर्शन करेंगे तो उसी से जुडी एक और प्रतिमा के दर्शन होते हैं।नवरात्र मे महामाया और बम्लेश्वरी मैया के दरबार मे लाखो लोग दर्शन के लिये पहुंचते है।

    ReplyDelete
  35. पहली बार जीता हूं इस्लिये थोड़ा हडबडा गया था।जीत की बधाई देने वालो का आभार प्रकट किये बिना ही कमेण्ट पोस्ट कर दिया था।सभी का बहुत बहुत आभार्।

    ReplyDelete
  36. सभी विजेताओं और प्रतिभागियों को बहुत बहुत बधाई.!!!

    रामप्यारी अगली बार प्लीज़ प्लीज़ क्लू थोडा आसानी से समझ में आये ऐसा देना ना ..(U are soooo cute )

    ताऊ जी
    राम राम !!

    ReplyDelete
  37. सभी विजेताओं को घनी बधाई....
    मीत

    ReplyDelete
  38. मैंने तो इस बीच बहुत सारे पोस्ट मिस कर दिए... पहेली भी. पढ़ के आता हूँ.

    ReplyDelete