Powered by Blogger.

ताऊ पहेली के विषय मे

प्रिय भाईयो, बहणों और बेटियो, सबनै ताऊ की तरफ़ तैं घणी रामराम. आज की ये पोस्ट ताऊ पहेली के बारे मे है.

 

आप लोगो ने इस पहेली प्रतियोगिता को काफ़ी पसंद किया है  और हम आपके प्रेम से अभिभूत हैं. इस आयोजन को हम उत्कृष्ट आयोजन बनाना चाहते हैं हर दृष्टि से.

 

जब ये पहेली का आयोजन प्रथम बार हमने किया था तब सिर्फ़ एक प्रयोग ही था और उस सफ़ल आयोजन ने ही हमको यह हिम्मत दी कि इसको एक व्यवस्थित रुप दिया जाये.

 

प्रथम बार के टेस्ट आयोजन के बाद हम कुल ५ पहेलियां आयोजित कर चुके हैं. उनका सम्पुर्ण विवरण हमारे साथ उपलब्ध है कि किस किसने भाग लिया, कौन से न्म्बर पर आकर जवाब दिया, और कितने मार्क्स प्राप्त किये?

 

आप सबके प्रेम,  आशिर्वाद और सहयोग से हम इस आयोजन को सर्व श्रेष्ठ बना देना चाहते हैं और आशा करते हैं कि जल्दी ही कोई इस पहेली का विजेता बने. हम फ़िर कह रहे हैं कि आप सही जवाब के साथ भाग अवश्य लिजिये. बाद मे ये अंक आपके बहुत काम आने वाले हैं.

 

इस पहेली कि एक और विशेषता हो गई है कि अगर आपने एक भी गलत जवाब दिया या अनुपस्थित रहे तो आपके पीछे वाला आपसे उपर आ जायेगा. आप इसको महसूस करते ही होंगे, बस रेग्युलर जवाब दिजिये.

 

अभी तक की मजेदार स्थिति देखिये :- प्रथम तीन स्थानो पर क्रमश: शुभम आर्य (४९६), सु अल्पना वर्मा (४७८) और श्री विवेक सिंह (४७८) पर चल रहे हैं. इनमे से किसी का भी गलत जवाब या अनुपस्थिति अब नीचे वाले की जिन्दगी है. यानि सिनेमा वाला खेल हो गया. इनको हर हाल मे अपनी स्थिति बनाये रखने के लिये सही जवाब के साथ, और जल्दी से जल्दी नियमित इस पहेली का जवाब देना है.

 

शुभम के पास अभी अगली पहेली मे २०वें  नम्बर तक का कुशन है पर सु.अल्पना वर्माजी और विवेकसिंह जी मे बडा कशमकश का मुकाबला हो गया है. अगर पहेली नम्बर ६ मे सु. अल्पना जी सही जवाब मे विवेकसिंह जी से ४ नम्बर बाद आई तो वो तीसरे स्थान पर होंगी और विवेक जी दुसरे पर.

 

यही स्थिति दुसरे ग्रुप बनते जा रहे श्री रंजन (३८४), स्मार्ट इंडियन (३८१) , प्रकाश गोविंद (३५७), pt.डी.के.शर्मा "वत्स" (३५७), और प्रवीण त्रिवेदी जी (३३४) के बीच बन गई है.

 

और तीसरा ग्रुप कुछ युं उभर रहा है,  वरुण जयसवाल (२९१), ऊडनतश्तरी (२८०), P.N.Subramanian (277), दिपक तिवारी साहब ( 273 ), और सु. सीमा गुप्ता (२७०) इनमे कांटे की टक्कर चल रही है.

 

ताऊ पहेली नम्बर ६ का प्रकाशन शनीवार २४ जनवरी को सुबह ७ बजे होगा. कृपया ध्यान रखिये.

 

एक सुझाव आया था कि पहेली के उपर आई टीपणियां रिजल्ट डिक्लेयर करने के साथ ही प्रकाशित की जायें. आपकी इस बारे मे क्या राय है?

 

हमारी नजर मे इससे पहेली की रोचकता समाप्त होगी क्योंकि कई ब्लागर्स यहां टीपणीयों की रोचकता के लिये ही आते हैं और उनकी रोचक टीपणियां सबको आनन्द देती हैं.

 

इस बारे मे आपके विचार जानना बहुत जरुरी है. अगर आपके विचार नही मिले तो एक सदस्यीय निरणायक मण्डल को जो उचित लगेगा वही किया जायेगा.

 

और अब अंत मे आपको बता दे कि निम्न लोगों ने अब तक प्रथम स्थान पर इन पहेलियो मे विजय प्राप्त की है.

 

ताऊ पहेली न.१  के विजेता श्री. स्मार्ट ईंडियन

ताऊ पहेली न.२ के विजेता श्री. शुभम आर्य

ताऊ पहेली न.३ के विजेता श्री विवेक सिंह

ताऊ पहेली न.४ के  विजेता श्री उडनतश्तरी

ताऊ पहेली न. ५ के विजेता श्री शुभम आर्य 

 

और याद रखिये कि सर्वोच्च अंको का इनाम तो एक लाजवाब प्रमाण-पत्र है जो सबसे आखिर मे दिया जायेगा, इसके पहले अगर कोई प्रतियोगी हेट्रिक कर लेता है तो उसे भी एक शानदार ताऊ पहेली विजेता का प्रमाण पत्र दिया जायेगा. अथवा किसी भी क्रम पर ५ बार प्रथम स्थान के विजेता को यह सम्मान प्रदान किया जायेगा. 

 

आपके कीमती सुझावों का हम स्वागत करते हैं.

 

 


इब खूंटे पै पढो :-

राज भाटिया साहब ने ताऊ को कहा - ताऊ तेरे से कोई भी काम ठीक ढंग से नही होता. धन्धा व्यापार करना तेरे बस का नही. नौकरी करने लायक तू पढा लिखा नही है सो एक काम कर तू लोगो को भविष्य बताने का काम शुरु कर दे.

ताऊ : लो बोलो, मुझे मेरा भविष्य नही मालुम? लोगो को क्या बताऊंगा?

राज भाटिया जी  : अरे बावलीबूच ताऊ. तू समझता कोनी? भविष्य तो तोता बतायेगा, बस तू तो कहीं से एक ट्रेंड तोता खरीद के ले आ और रोड किनारे लेकर बैठ जाना, शाम तक अच्छी कमाई हो जायेगी.  

इब ताऊ को किसी ने बताया कि दिल्ली मे अच्छे तोते मिलते हैं, सारे भारत से आकर
वहां संसद मे इकठ्ठे होते हैं, सो ताऊ ने सु.सीमाजी को फ़ोन लगाया कि सीमा जी
मन्नै एक तोता खरीद के भिजवा दो.

सीमाजी ने पूछा कि ताऊ तोते का क्या करोगे? अब ये नया कौन सा धन्धा शुरु करने का विचार है?

ताऊ : जी, सीमा जी, अब मैं भविष्य बताने का धंधा शुरु करुंगा. और भाटिया जी वाली
पूरी बात बताई. इस पर सीमा जी ने सलाह दी की ताऊ ये संसद वाले तोते तो सारा
माल खुद ही जीम जायेंगे, आपको क्या मिलेगा? 

आप तो इस काम के लिये पानीपत से तोता खरीद लो. योगिंद्र  मोदगिलजी आजकल तोते बेचने का साईड बिजनैस भी करते हैं.   

इब ताऊ सीधे योगिंद्र मोदगिलजी के पास पहुंच गया और मोदगिल जी तोते बेचने वाली दुकान पर ही बैठे थे. उन्होने अनेक तरह के तोते दिखाये, कार्ड निकालू तोता, आशिर्वाद देने वाला तोता ..आदि आदि...  पर ताऊ को उनमे सबमें कमी नजर आई.

मोदगिल जी : देख ताऊ तू असली बात बता. ज्योतिषी लोगो के ट्रेंड तोते जितने थे मेरे पास मे, वो सब तेरे को दिखा चुका हूं.

ताऊ : अरे भाई नाराज मत हो कविराज, सही बात ये है कि मुझे ज्योतिष की पूंछडी भी आवै कोनी और यो भाटिया जी मन्नै कहवै कि तोते से ज्योतिष पढवा और मेरे पिस्से
कमा कर वापस कर. सो मन्नै कोई ऐसा तोता बता दे जो खुद ही भविष्य बता दे और
खुद ही उपाय भी बतादे. और नोट गिनने का काम मैं करता रहूं.

योगिन्द्र जी : अरे तो ताऊ पहले बताना था ना. मेरे पास तो इस काम के एक्सपर्ट
तोते हैं. देख ये एक तोता है. सबसे उम्दा किस्म का,   ये लेजा.

ताऊ : पर भाइ इससे मैं भविष्य पढवाऊंगा कैसे?

मोदगिलजी :  देख ताऊ, इस तोते की दोनो टांगों मे ना दिखाई देने धागे बांध रखें हैं. और इसको मैने फ़ुल ट्रेनिंग दे रखी है कि जब तुम इसकी दाहिनी टांग का धागा खींचोगे तो यह सामने बैठे आदमी का भविष्य अपने आप पढ कर सुनायेगा और जब तुम इसकी बांयी टांग का धागा खींचोगे तो ये उसको उपाय बतायेगा और तुमको २१०० रुपये की दक्षिणा दिलवायेगा. अब पिस्से काढ और इसको ले जा फ़टा फ़ट.

इब ताऊ तो ठहरा ठेठ ताऊ सो उसने पूछा : भाई अगर गलती से मैने इसकी दोनो
टांगो के धागे एक साथ खींच दिये तब यह क्या करेगा?

इस पर वो तोता बोला - अबे उल्लू के पठ्ठे, अगर दोनो धागे एक साथ खींच देगा तो मैं गिर नही जाऊंगा?

29 comments:

  1. आदरणीय ताऊ जी !
    श्री शुभम आर्य जी के नाम के आगे श्री लगाना आप शायद भूल गए !

    ReplyDelete
  2. मेरी नज़र में तो ग़लत टिप्पणिया और मजेदार टिप्पणियाँ धडाधड छपती रहें और सिर्फ़ सही उत्तर वाली छिपी रहें. यदि सही उत्तर वाली टिप्पणी रोचक भी है तो उसे अपवाद माना जा सकता है.
    खूंटे पे समझ आ गया, ताऊ को किस किसम का तोता चाहिए था.

    ReplyDelete
  3. ताऊ, सकुशल पहेली आयोजन पर बधाई, हमारी भी फ्लाप चल रही गीत पहेली के आयोजन का भार अपने कंधे पर लेकर उसकी भी गंगा पार लगा दो, भले ही पहेली में हर बार 'हट जा ताऊ पाछे णे' टाईप हरियाणवी गीत चलाना (अपने को यही एक हरियाणवी गीत पता है)। ;)

    ReplyDelete
  4. ताऊ पहेली साप्ताहिक है। इस कारण से पूर्व पहेली का निर्णय और अगली पहेली अलग अलग ही पोस्टों में होंगे।
    हाँ नम्बर सिस्टम गड़बड़ है। इस में सुबह चार बजे से ही लाइन लग जाती है। कुछ जवाब दे कर सोने जाते हैं। कुछ उस के लिए जाग कर इंतजार करते हैं। हम तो सुबह आठ के पहले उसे देख ही नहीं सकते। आखिर बारह के बाद आठ बजे ही तो कंप्यूटर चालू होगा।
    हाँ तोता समझदार था।

    ReplyDelete
  5. ताऊ, तोता तो आपसे भी होशियार निकला. :)

    ReplyDelete
  6. राम राम ताऊ जी!
    आप का पहेली आयोजन जबरदस्त है.यह अंतरराष्ट्रीय ब्लोगिया स्तर की पहेली अयोंजन लग रही है.
    बेहद व्यवस्थित ---सुझाव एक है--की एक 'ताऊ पहेली' का एक स्टिक्कर बनवा लिजीये--जैसे ब्लॉगटिप्स की साईट का आशीष जी ने बनाया है.ताकि जो चाहे अपने ब्लॉग पर लगा ले .aur ज्यादा से ज्यादा पाठक इस पहेली के बारे में जान सकें.
    और भाग ले सकें.और जिन स्मारकों के बारे में हम जान चुके हैं और भी ज्यादा पाठक जानें.
    **** मुझे विवेक जी से ३ मार्क्स का खतरा है यह मैं calculate कर चुकी हूँ.. और आप की कैलकुलेशन भी खूब है.
    सभी groups की अंक तालिका देखि..जिस जिस को अपनी पोसिशन का खतरा है उन्हें शुक्रवार को सुबह ७ बजे तक नींद नहीं आएगी..यह तो तय है...नींद आ भी गयी तो nightmares आयेंगे!

    -खूंटे पर जो पढ़ा..समझ आया की तोता भी पलट कर जवाब दे सकता है..अब एक तोता -ज्योतिष की यहाँ भी ड्यूटी लगा दीजिये जिस से अपनी पहेली पोसिशन के bhavishy ke बारे में सवाल पूछ सकें!

    ReplyDelete
  7. @ द्विवेदी जी ...क्या आप पहेली के प्रकाशन के समय में बदलाव चाहते हैं?

    और भी जो लोग प्रकाशन समय मे बदलाव चाहते हों वो कृपया अपना सुझाव देवे.

    हम चाहते हैं कि धीरे २ सर्व सम्मत प्रकाशन समय तय कर लिया जाये.

    इस पोस्ट का आज यहां पबलिश करने का मकसद भी यही है.

    सभी की सहमति और सुविधा से समय बदल सकता है.

    क्रुपया सुझाव अवश्य देवें, समय को लेकर कई लोगो को दिक्कत है.

    @ श्री विवेक सिंह जी.. श्री शुभम आर्य के नाम के पीछे श्री लगाना गलती से छूट गया, आशा है आप और वो दोनो सज्जन क्षमा करेंगे..आईंदा ख्याल रखेंगे..वैसे इस महान गलती की तरफ़ ध्यान दिलाने के लिये आपका शुक्रिया.

    रामराम.

    ReplyDelete
  8. हमारी तो इस के जरिये जानकारी बढ़ रही है ..बढ़िया यह शुरू किया है आपने ..शुक्रिया

    ReplyDelete
  9. ताऊ समय तो आप ९ बजे कर दें तो और सुविधा होगी.. और टिप्पणी पर इंडियन भाई की बात से सहमती.. हाँ आप अपनी स्टाईल में हिंट देना चाहें तो अच्छा है..

    उत्तर बदलने वाले चक्कर में मैं तो पिछड गया.. :) कुछ करो..

    ReplyDelete
  10. स्मार्ट इंडियन कि बात में दम है. हम समर्थन करते हैं. आभार.

    ReplyDelete
  11. इस पर वो तोता बोला - अबे उल्लू के पठ्ठे, अगर दोनो धागे एक साथ खींच देगा तो मैं गिर नही जाऊंगा?
    "हा हा हा हा हा हा हा हा हा शायद ताऊ जी आप भूल गये थी की तोता बोलने वाला है जरा ध्यान रखना आगे से कहीं सारी पोल न खोल दे हा हा हा हा.....पहेली का रिजल्ट कार्ड बेहद शानदार रहा , अच्छा मुकाबला हो रहा है ...और भी रोचक हो रही है दिन बा दिन...रही सलाह की बात तो जो सब लोगों की राय (majority) वही अपनी भी..."

    Regards

    ReplyDelete
  12. khoonta majedaar hai taau. is tote se pahle apna bhavishya padhwa lena, dhandha shuru karne me aasani rahegi :)
    aur paheli shuru hone ke time ham chutti par gaye huye the, koi late entry scheme nahin hai?

    ReplyDelete
  13. एक ठो तोता हमें भी चाहिये। भले ही ज्यादा पढ़ा लिखा न हो!

    ReplyDelete
  14. हमें तो जी तोता वोता नही चाहिए हमें तो बस ताऊ चाहिए। वैसे पहेली के बारे में मेरी एक सलाह है कि फोटो एक नही दो होने चाहिए कम से कम। क्योंकि हमे तो सभी स्मारकों की तस्वीरें एक सी लगती है। मानो तो अच्छा ना मानो तो घना ही अच्छा।

    ReplyDelete
  15. पहेली का जादू कुछ ऐसा होता है कि कोई ब्लॉग इसकी सफलता से बच ही नहीं पाता।

    ReplyDelete
  16. पहेली की स्तिथि जानकर प्रसन्नता हुई |
    मैं उम्र और अनुभव में आप सभी से छोटा हूँ | इसलिए मुझे श्री लगा कर शर्मिंदा न करे |
    हाँ इसके बदले में आप सभी का प्यार और आशीर्वाद मुझे मिले तो बहुत ही अच्छा है |
    और पहेली का समय बदलने के बाबत तो सर्वसम्मति से ही निर्णय लिया जाए |
    अल्पना वर्मा जी का "पहेली स्टीकर " वाला सुझाव बहुत ही अच्छा है |
    आशा है इस पर अमल होगा |

    आप सभी का धन्यवाद | :)

    ReplyDelete
  17. छापे जाओ.............ताऊ सही या ग़लत, इब जब तक आप ना बोलेंगे जवाब सही तो होने से रहा तो छपने ही दो.

    और थारे खूंटे पर तो मज़ा ही आ रहा है...............दो चार तोते और खरीद लोगे तो सब के तोते अपणे आप ही उड जावेंगे

    ReplyDelete
  18. अरे मेरी पोजीशन कहाँ गयी ?

    ReplyDelete
  19. ताऊ जी पहेली का समय बहुत गड़बड़ है !
    मैं तो आज तक कभी इतने सवेरे जगा ही नहीं !
    भगवान न करे मुझे कभी सवेरे 4-5 बजे
    जागना पड़े !
    अरे ताऊ जी जो शख्स रात को 1-2 बजे सोयेगा वो सवेरे 4 बजे कैसे जगेगा !
    मेरी अपील है कि पहेली का समय दोपहर १२ से ४ के बीच में कभी भी कर दिया जाए !

    एक और बात मुझे खटक रही है कि जो प्रतिभागी बाद में शामिल हुआ है उसके जीतने के अवसर बिल्कुल नहीं हैं ! जैसे कि मैंने दूसरी पहेली से हिस्सा लेना शुरू किया क्योंकि पहले इसके बारे में पता ही नहीं था ! ये तो बहुत बेइंसाफी वाली बात है ताऊ ! जिसने ५ में ४ जवाब सही दिए और जिसने ४ में ४ सही जवाब दिए दोनों बराबर ! क्या यह उचित है ?

    आपने सुझाव माँगा है तो मेरा कहना है कि जवाब से सम्बंधित टिप्पणियां प्रकाशित न करिए, अन्य टिप्पणियां प्रकाशित करते रहिये ! सही जवाब रोकना भी अपने आप में बड़ा हिंट है !

    मैं शुभम आर्य जी से अत्यन्त प्रभावित हूँ मेरा तो मानना है कि शुभम जी निश्चित ही अवतारी पुरूष हैं और इस धरती पर इनका अवतार ही इसलिए हुआ है कि वो ताऊ पहेली जीत सकें !

    चलते-चलते : पिछली बार मैंने एक संदेह जाहिर किया था वो मामला अब राँ ओर इंटरपोल के हाथ में है ! शुरूआती जांच में पता चला है कि ताऊ की वेबसाईट हैक हो चुकी है ! ताऊ अपने कंप्यूटर पर जो भी कार्य करते हैं वो सब कहीं कोई दूसरा भी देख रहा होता है ! छान-बीन जारी है ........

    ReplyDelete
  20. श्री श्री श्री प्रकाश गोविन्द जी का कहना है (फिलहाल शुरुआत के दो "श्री" ट्रायल के तौर
    पर हैं ):

    ताऊ जी पहेली का समय बहुत गड़बड़ है !
    मैं तो आज तक कभी इतने सवेरे जगा ही नहीं !
    भगवान न करे मुझे कभी सवेरे 4-5 बजे जागना पड़े ! अरे ताऊ जी जो शख्स रात को 1-2 बजे सोयेगा वो सवेरे 4 बजे कैसे जगेगा ! मेरी अपील है कि पहेली का समय दोपहर 12 से 4 के बीच में कभी भी कर दिया जाए !

    एक और बात मुझे खटक रही है कि जो प्रतिभागी बाद में शामिल हुआ है उसके जीतने के अवसर बिल्कुल नहीं हैं ! जैसे कि मैंने दूसरी पहेली से हिस्सा लेना शुरू किया क्योंकि पहले इसके बारे में पता ही नहीं था ! ये तो बहुत बेइंसाफी वाली बात है ताऊ ! जिसने 5 में 4 जवाब सही दिए और जिसने 4 में 4 सही जवाब दिए दोनों बराबर ! क्या यह उचित है ?

    आपने सुझाव माँगा है तो मेरा कहना है कि जवाब से सम्बंधित टिप्पणियां प्रकाशित न करिए, अन्य टिप्पणियां प्रकाशित करते रहिये ! सही जवाब रोकना भी अपने आप में बड़ा हिंट है !

    मैं शुभम आर्य जी से अत्यन्त प्रभावित हूँ मेरा तो मानना है कि शुभम जी निश्चित ही अवतारी पुरूष हैं और इस धरती पर इनका अवतार ही इसलिए हुआ है कि वो ताऊ पहेली जीत सकें !

    चलते-चलते : पिछली बार मैंने एक संदेह जाहिर किया था वो मामला अब राँ ओर इंटरपोल के हाथ में है ! शुरूआती जांच में पता चला है कि ताऊ की वेबसाईट हैक हो चुकी है ! ताऊ अपने कंप्यूटर पर जो भी कार्य करते हैं वो सब कहीं कोई दूसरा भी देख रहा होता है ! छान-बीन जारी है ........

    ReplyDelete
  21. ताऊ रामराम,
    पहेली तो किसी भी टाइम छाप दे, मुझे कोई दिक्कत नहीं. जब मुझे बखत मिलेगा, मैं भी बहती गंगा में हाथ धो लूँगा. तो मेरी ओड से बेफिक्र रह.

    ReplyDelete
  22. ताऊ जी जब शुभाम् को इनाम दे....हमें भी चाय पे बुला ले

    ReplyDelete
  23. ताऊश्री सिद्ध हो गया ना कि तोता म्हारा था.................................................................................................................................

    ReplyDelete
  24. ताऊ को तोता भी गुरु ही मिला :-)

    पहेली में अब हम तो टॉप आने से रहे. और ऐसी परीक्षा जिसमें फेल हो जाएँ देकर क्या अकादमिक रेकोर्ड ख़राब करें :-) वैसे आते तो रहेंगे ही... लेकिन शनिवार को या तो हम सोये रहते हैं नहीं तो कहीं ट्रिप हो जाती है तो सोमवार तक नेट से भेंट ही नहीं होती. तो रेगुलर रहना मुश्किल है. देर सबेर स्वाभाविक है.

    ReplyDelete
  25. अरे ताऊ तु यहां पहेली के पीछे दिवाना हो रहा है ऊधर ताई तुझे ढूढ रही है लठठ ले कर सारे पेसे उस योगेन्दर जी को दे आया ओर यह मोटा सा तोता ले आया, यह सारा दिन आने जाने वालो को, मिलने जुलने वालो को गालियां बक रह है. भाग वो आली ताई हाथ मै लठठ लिये, यह पडा पहला लठ्ठ हमारे कवि महाराज के.....

    ताऊ पहेली पूछ ले किसी भी टाईम, फ़ेल तो होना ही है, अब कहा भारत मे घूमा मै, जो झट से पहचान जाऊ, जिस की नकल मारता हू वो भी मेरे साथ डूब जाता है, बोलो अगली बार किस को डूबोना है...

    राम राम

    अरे ताई इधर खाट के नीचे बेठा है ताऊ....

    ReplyDelete
  26. शुभमजी और अन्य साथियों को बधाई। शुभम को डबल बधाई कि उनके नाम के आगे श्री भी लग गया जी। ताऊ और तोते की जय हो।

    ReplyDelete
  27. ताऊ
    भारतीय गणतंत्र की हार्दिक शुभ कामनाएं
    और सादर अभिवादन
    हम १९ जनवरी के दिन मिले थे
    होटल में सबने आप की मुक्त कंठ
    सराहना की
    बधाइयां ताऊ बधाइयां

    ReplyDelete
  28. हां आपका तोता बडा ज्ञानी है।:)

    ReplyDelete