Powered by Blogger.

कुछ करो मंत्री जी !


अब मुद्रा स्फ़ीति कि दर खत्म हुये सप्ताह मे ८.२४ हो गयी ।
और वित मन्त्री जी जनता से सहयोग की अपील कर रहे हैं ।
तो साब आप को हमारा पूरा सहयोग है । हम तो आपकी प्रजा हैं ।
आपको सहयोग नही करकै के म्हानै थारै जुतै खानै सै ?
वित मन्त्री जी थम अगर हम पब्लिक सै बात कर रहे हो तो
जरा देखो किस तरीयां मंहगाई मूंह फ़ाडनै लाग रही सै ।
थम कुछ करते क्यूं कोनी ? के थारै बस मै नही सै यो बात ।
अब पेट्रोल के दाम बढनै के बाद तो यो और बढैगी ।
जरा आकडे देखो :-
जनवरी माह शुरुआत मे : ३.५० %
फ़रवरी माह शुरुआत मे : ४.११ %
१ मार्च : ५।११ %
८ मार्च : ५।९२ %
१५ मार्च : ८।०२ %
२९ मार्च : ७।७५ %
१९ अप्रेल : ७।५७ %
३ मई : ७।८३ %
१७ मई : ८।१० %
२४ मई : ८।२४ %

और जैसा की सब समझदार लोग बोल रहे हैं कि तैल की
कीमतों मे बढोतरी के बाद ये आकंडा १०.० % के पार जा सकता है ।
कैसे जियेगा आदमी ? है कोई जवाब ?
किसी भी नेता या धन्ना सेठ का कोई शोक कम नही होगा ।
गरीब पिसता आया है और पिस जायेगा ।
ये नतीजा है ग्लोबलाइजेशन का ।
इससे गरीब जनता ने क्या कमा लिया ?
इससे सिर्फ़ अमीर और अमीर हो गये । और गरीब जनता को
उसका फ़ायदा तो कुछ नही मिला ।
बल्कि नुक्सान मे दो रोटी से और गया ।
कुछ करो मन्त्री जी !

0 comments:

Post a Comment